हनीप्रीत को तगड़ा झटका,क्यों लग गई राम रहीम से मुलाकात पर रोक

हनीप्रीत को तगड़ा झटका, क्यों लग गई राम रहीम से मुलाकात पर रोक



 गुरुग्राम। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम की सबसे करीबी राजदार हनप्रीत को बड़ा झटका लगा है।राम रहीम अपनी ही 2 साध्वियों से यौन शोषण और एक पत्रकार की हत्या के मामले में सजा काट रहे हैं।प्राप्त जानकारी के अनुसार इलाज के लिए राम रहीम गुरुग्राम के निजी अस्पताल में भर्ती हैं और इनकी कोरोना रिपोर्ट फिर से नेगेटिव आई है। निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद राम रहीम का कमरा बदल दिया गया है। राम रहीम को अब मेदांता अस्पताल के 15 वीं मंजिल पर कमरा नंबर 4421 में रखा गया है।बताया जा रहा है कि राम रहीम के नॉर्मल होने तक अटेंडेंट की सुविधाएं नहीं मिलेंगी।अब ऐसे में अटेंडेंट कार्ड बनवा चुकी हनीप्रीत राम रहीम के कमरे में नहीं जा पाएगी। राम रहीम की इससे पहले कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद कोरोना वार्ड में भर्ती किया था। हनीप्रीत को भी 15 जून तक अस्पताल में रहने के लिए कार्ड बनाया गया था।हनीप्रीत अब साथ नहीं रह पाएगी। बताया जा रहा है कि मेदांता अस्पताल में राम रहीम का इलाज गैस्ट्रोएंटरोलाजी के विशेषज्ञ डॉक्टर एएस पुरी के निगरानी में जांच व इलाज चालू है। मंगलवार को भी कुछ जांच हुई है। बुधवार को रिपोर्ट आनी है।पेट में दर्द के कारण यहां भर्ती कराया गया था।रेप व हत्या के आरोप में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहे राम रहीम को रविवार को मेदांता अस्पताल में भर्ती किया गया था और कोरोना से संक्रमित बताया जा रहा था लेकिन सोमवार को रिपोर्ट नेगेटिव बताई गई थी। ये बात भी सामने आई कि सुनारिया जेल प्रशासन की आपत्ति पर राम रहीम की देखरेख करने के लिए अस्पताल प्रशासन द्वारा अटेंडेंट पास को रद कर दिया गया है। आपको बताते चले कि अटेंडेंट पास 15 जून तक हनीप्रीति के नाम से बना था और वो राम रहीम की देखभाल कर रही थी।अभी तक अटेंडेंट पास रद होने की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी हैं। वहीं डेरा सच्चा सौदा की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि राम रहीम की देखरेख उनका बेटा जसमीत हनीप्रीति तथा चरणप्रीति कर रही हैं।राम रहीम की सुरक्षा के लिए पचास से अधिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया हैं।राम रहीम को शुरू से ही गैस्ट्रो से संबंधित परेशानी बताई जा रही थी। अब राम रहीम को अलग से कमरे में भर्ती किया गया है। खुफिया विभाग की ओर से मेदांता में भर्ती राम रहीम की सुरक्षा व मिलने वालों पर सरकार की नजर है। जिसके कारण पुलिस व अस्पताल प्रबंधन की भूमिका भी देखी जा रही है। खुफिया विभाग के पास सूचना है कि मेदांता में भर्ती रहने के दौरान राम रहीम के अनुयायी परिसर के आस-पास आ सकते हैं। इसके कारण कमिश्नरी की पुलिस की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।राम रहीम के मेदांता में इलाज के दौरान उनसे मिलने पर रोक है। वहां पर कानून व्यवस्था न बिगड़े इसके लिए पुलिस पूरी तरह से अलर्ट है। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है।

ट्रेंडिंग