विशेष

कैसे शुरू हुई कांवड़ यात्रा
हर साल सावन में कांवड़ यात्रा निकलती है। इसके बारे में प्राचीन मान्यता है कि भगवान परशुराम ने शिव के नियमित पूजन के लिए पुरा महादेव में मंदिर की स्थापना करके कांवड़ में गंगाजल से पूजन कर कांवड़ परंपरा की शुरुआत की थी।
 
कलम के सच्चे सिपाही मुंशी प्रेमचंद
बनारस के समीप एक छोटे से गांव लमही में जन्मा बालक धनपत राय श्रीवास्तव बड़ा हो कर उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद के नाम से विख्यात हुआ। धनपत राय का जन्म 31 जुलाई 1880 को मुंशी अजायबराय और आनंदी देवी के घर हुआ। धनपत राय को परिवार के सदस्य ‘नवाब‘ कह कर भी पुकारते थे। उनकी तीन बहनें और एक छोटा भाई था।
 
सावन में करें भोलेनाथ की अराधना
इस महीने शनिवार से सावन महीने की शुरुआत हो रही है। श्रावन या सावन मास को भोलेनाथ की पूजा और अराधना के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। यहां तक कि इसे भोलेनाथ का महीना ही कहते हैं। ऐसी मान्यता है कि इस महीने में भोलेनाथ अपने भक्तों की हर इच्छा पूरी करते हैं।
 
भारत कुमार के नाम से भी लोकप्रिय हुये मनोज कुमार
हिन्दी सिनेमा जगत में मनोज कुमार का नाम कभी अभिनय के लिए नहीं बल्कि उनकी फिल्मों के लिए लिया जाता है। जिस समय सभी अभिनेता रोमांटिक छवि की फिल्में करना पसंद करते थे उस समय मनोज कुमार ने हिन्दी सिनेमा का रुख देशभक्ति की तरफ किया और देश के युवाओं तक देशभक्ति को एक नए रूप में पेश किया।
 
हिंदवी के पक्षधर : सूफी संत अमीर खुसरो
अमीर खुसरो जिन्हें धार्मिक एकता, हिंदू मुस्लिम सौहार्द सामाजिक जुड़ाव और सांप्रदायिक एकता का प्रतीक माना जाता है, वे हजरत निजामुद्दीन ओलिया के सबसे करीबी शागिर्द थे जिन्होंने हिंदवी भाषा जो भारत में एक बहुत बड़े इलाके में बोली जाती थी और हिंदी की जन्मदात्री कही जा सकती है, की हिंदुस्तान में बुनियाद रखी ।
 
मिजोरम में दुनिया का सबसे बड़ा 181 सदस्यों वाला परिवार
नई दिल्ली गिनीज वल्र्ड रिकॉर्ड में मिजोरम के जियोना चाना का परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार माना गया है। इस परिवार में 181 सदस्य हैं। इस परिवार के मुखिया जियोना चाना की 39 पत्नियां हैं। 94 बच्चे हैं,14 बहुएं और 33 पोते-पोतियों का यह परिवार मिजोरम में रहता है।
 
छोटी इलायची खाने से सांसें और सुर महकते है
भारत में हमारा दवाखाना घर के चौके या किचेन में रहता हैं। वहाँ जितनी भी खाद्य सामग्री हैं वे सब औषधियां हैं। कोई भी व्यक्ति इस दवाखाना से बचा नहीं हैं। इनमे बहुमुल्य औषधियों का भंडार भरा हुआ हैं। इनका उपयोग निश्चित लाभकारी होते हैं - छोटी इलायची ध्वनि को मीठा बनाती है, और हिचकी को भी हटा देती है कई लाभ हैं ।
 
हमेशा याद आएंगे बलराज साहनी
बलराज साहनी एक ऐसा नाम है जिसे फिल्म जगत भूल नहीं सकता। बलराज साहनी अपनी गंभीर भूमिकाओं से पात्र को जीवंत रुप दे देते थे। बॉलीवुड में बलराज साहनी को एक ऐसे अभिनेता के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपने संजीदा और भावात्मक अभिनय से लगभग चार दशक तक सिने प्रेमियों का भरपूर मनोरंजन किया।
 
शैलबाला की दुखद हत्या
हिमाचल प्रदेश के कसौली नामक पर्यटन-केंद्र में एक सरकारी अफसर की जिस तरह हत्या की गई, उससे अधिक दुखद और शर्मनाक घटना क्या हो सकती है। यह सरकारी अफसर थीं, शैलबाला शर्मा ! शैलबाला सर्वोच्च न्यायालय के उस फैसले को लागू करने के लिए सडक़ पर उतरी थीं, जिसके अनुसार कसौली के 13 होटलों के अवैध निर्माण-कार्यों को गिराना था।