धर्म

गुरुअमरदास जी ने सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का किया प्रयास
समालखा सिक्खों के तीसरे गुरुअमरदास जी का प्रकाश पर्व के अवसर पर पुराने बस अड्डे स्थित गुरूद्वारा श्री गोबिंद सिंह दरबार साहिब तथा मॉडल टाउन स्थित गुरुद्वारा नानक दरबार साहिब में बडी श्रद्धा सत्कार के साथ मनाया। इस उपलक्ष में धार्मिक दिवान सजाए गए। गुरुद्वारा गोबिंद सिंह दरबार साहिब में मुख्य ग्रंथी अमरीश सिंह ने भजन कीर्तन गायन किया तो मॉडल टाउन गुरुद्वारा में भाई गुरमुख सिंह ने गुरबाणी कीर्तन गायन करके संगत को निहाल किया। दोनों गुरुद्वारों के प्रधान जगतार सिंह बिल्ला तथा गोपाल सिंह ने संयुक्त रूप से कहा कि श्री गुरु अमरदास जी नें छुआछूत खत्म करने के लिए हुक्म किया कि पहले पंगत में बैठकर लंगर प्रसाद छके, बाद में दर्शन करो। गुरू जी ने महिलाओं को समाज की कुरीतियों के बंधनों से मुक्त कराने का प्रयास किया। औरत को घूंघट निकालने के रिवाज को भी दूर किया। इस अवसर पर जीवन सिंह, नारायण दास, शाम सिंह, विक्रम सिंह, हरनेक सिंह, हीरा सिंह, गुरप्रीत सिंह, वेदप्रकाश, सिमरन कौर, अमृत कौर, राज रानी, सीमा अरोडा, कनिका अरोड़ा, रूबी कौर, सव्रजीत कौर, स्वर्णजीत कौर, मनदीप कौर, शशि बजाज आदि मौजूद थे।
 
नानक जी के 550वें जन्म उत्सव पर कार्यक्रम
गुरुग्राम विश्वविद्यालय में गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म उत्सव को लेकर गुरुग्राम विश्वविद्यालय के साथ श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने ग्लोबल इंसप्रेशन एंड एनलाइटमेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ गीता के सहयोग से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि समारोह में महामंडलेश्वर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने शिरकत की।
 
सौभाग्य का प्रतीक अर्थात् वरुथिनी एकादशी व्रत
इस बार वरुथिनी एकादशी व्रत मंगलवार 30 अप्रैल 2019 को है। इस व्रत की अपनी महत्वता है। कहा जाता है कि जो वरुथिनी एकादशी की व्रत पूजा करता है उसे भगवान विष्णु का आशीर्वाद मिलता है। व्रतधारी को सौभाग्य प्राप्त होता है, इस प्रकार यह व्रत सौभाग्यशाली ही रख पाते हैं।
 
श्याम बाबा के भक्तों को क्लब ने भंडारे में वितरित किया प्रसाद
समालखात्न फतेहाबाद से रिंकू मित्तल व रिंकू सिंगला के नेतृत्व में श्याम बाबा मंदिर तथा लकीसर बाबा मंदिर चुलकाना धाम में दर्शन के लिए भक्तगण समालखा पहुंचे। मंदिर जाने से पहले वे समालखा गांव स्थित श्री आदर्श रामा ड्रामाटिक क्लब के प्रांगण में रूके जहां पर क्लब के सदस्यों ने भंडारे में प्रसाद वितरित किया। रिंकू मित्तल, रिंकू सिंगला ने बताया कि वे समय-समय पर धार्मिक भ्रमण यात्रा का आयोजन करते हैं। श्याम बाबा चुलकाना धाम की काफी महिमा है और उनके दर्शन से पुण्य प्राप्ति होती है। इसी को लेकर फतेहाबाद से भक्तगण यहां पहुंचे हैं। क्लब के सदस्य निखिल ने कहा कि सामाजिक कार्यों में भागीदारी को क्लब अपना कर्तव्य मानता है। इस अवसर पर काका, महेश गुप्ता, राजेश कोहली, बलवंत मल्होत्रा, मोनू, बंटी, आकाश, बिल्ला, रिंकू, अजय, काली खन्ना आदि का सहयोग रहा।
 
भगवान भैरव की साधना-अराधना का दिन
भगवान भैरव शक्तिशाली रुद्र रुप के लिए जाने जाते हैं। भगवान भैरव एक ऐसे देवता हैं जिनकी साधना करने वाले भक्त पर किसी भी प्रकार की ऊपरी बाधा, भूत-प्रेत, जादू-टोने आदि का खतरा नहीं होता है। ऐसे ही शक्तिशाली भगवान भैरव की प्रत्येक माह के कृष्णपक्ष की अष्टमी को साधना-अराधना होती है। कालाष्टमी की तिथि पर भगवान भैरव की विशेष रूप से साधना आराधना का अपना ही महत्व है।
 
यहां है भगवान परशुराम का तप स्थल
झारखंड के गुमला जिले में भगवान परशुराम का तप स्थल है। यह जगह रांची से करीब 150 किमी दूर है। पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान परशुराम ने यहां शिव की घोर उपासना की थी। यहीं उन्होंने अपने परशु यानी फरसे को धरती पर रख दिया था। इस फरसे की ऊपरी आकृति कुछ त्रिशूल से मिलतीजुलती है।
 
श्री दादी शरणम् द्वारा आयोजित श्री नारायणी भजनोत्सव
गुरुग्रामत्नप्रकृति के संरक्षण और अपने बुजुर्ग माता पिता को समर्पित अपनी कुल देवी नारायणी माँ श्री राणी सती जी की सनातन धर्म पूजा से प्रेरित यह संस्था च्च् दादी शरणम् गुरुग्राम हरियाणा ने अपना तृतीय वार्षिकोत्सव भजन एवं सामाजिक उत्सव 21 अप्रैल रविवार को गुरुग्राम स्थित कोरस बैक्वेट में बड़े हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया।
 
अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल ने किया हवन-पूजन और विशाल भंडारा
गुरुग्राम अखिल भारतीय हिन्दू क्रान्ति दल द्वारा बालाजी जी जन्मोत्सव पर गुडग़ांव में हवन पूजन उपरांत विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। जिसमें हजारो श्रद्धालुओ ने प्रसाद ग्रहण किया। अखिल भारतीय हिन्दू क्रांति दल के राष्ट्रीय प्रभारी राजीव मित्तल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि दल के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष चेतन शर्मा के नेतृत्व में दल के कैम्प कार्यालय शक्ति केंद्र हनुमान मंदिर अतुल कटारिया चौक पर आज सुबह से ही दल के कार्यकर्ताओं और भक्तों का तांता लग गया था।
 
हनुमान जयंती पर समालखा में शोभायात्रा, लगाए भंडारे
समालखात्नहनुमान जयंती के अवसर पर विभिन्न सामाजि व धार्मि संस्थाओं द्वारा कार्यकम साथ ही भंडारे लगाकर लोगों को प्रसाद वितरित किया गया। हनुमान मंदिर, कृष्णा कालोनी से शोभायात्रा नि•ालते हुए नगर परिक्रमा की गई। जिसमें श्रीरामचन्द्र, सीता माता, लक्ष्मण तथा हनुमान जी की झांकियां भी निकाली गई। भक्तगण हनुमान जी के भजनों पर जमकर झूमे। वहीं श्री कृष्ण सनातन धर्म मंदिर में सुंदर काड का पाठ किया गया। पंडित गोकुलेश शास्त्री ने कहा कि हनुमान जी संकटमोचन है तथा उनका नाम सिमरन करने से पुण्य प्राप्ति होती है। जबकि शहर में रेलवे रोड, बैनीवाल चौक, माता पुली रोड आदि पर भंडारा लगाकर लोगों को प्रसात वितरित किया गया।