Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  

पर्यावरण

हरियाणा सरकार का पहला फैसला पराली नहीं जलाने वाले प्रदेश के किसानों को मिलेगी सब्सिडी
चंडीगढ़ हरियाणा में दूसरी पारी शुरू करने जा रहे मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मंगलवार को मंत्रिमंडल की पहली बैठक में अहम फैसला लेते हुए धान के सीजन में पराली न जलाने वाले किसानों को डी-कंपोजर दवाई पर सब्सिडी देने का ऐलान किया है। बीते रविवार को शपथ ग्रहण समारोह के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने शपथ ग्रहण की थी।
 
डिड रैस्पांस एक्शन ह्रश्वलान के तहत सडक़ों पर किया गया पानी का छिडक़ाव
गुरुग्राम में पर्यावरण प्रदूषण के स्तर में सुधार लाने के उद्देश्य से नगर निगम द्वारा चलाए जा रहे ग्रेडिड रैस्पांस एक्शन ह्रश्वलान (गै्रप) के तहत गतिविधियां लगातार जारी रही। मंगलवार को नगर निगम गुरूग्राम की बागवानी शाखा ने विभिन्न सडक़ों और पेड़ों पर पानी का छिडक़ाव किया, ताकि धूल को उडऩे से रोका जा सके।
 
पराली न जलाने वाले प्रगतिशील किसानों के साथ मुख्यमंत्री की हुई बैठक कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह ने समस्या के लडऩे के लिए मांगा सहयोग
चंडीगढ़ पंजाब के मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह ने सोमवार को पंजाब के प्रगतिशील किसानों के साथ मुलाकात की जिन्होंने धान की पराली न जला कर वातावरण की सुरक्षा के लिए बदलाव का आधार बांधा है। मुख्यमंत्री ने इन किसानों को राज्य सरकार द्वारा पराली न जलाने के लिए शुरू की गई जागरूक मुहिम में शामिल होने का न्योता दिया जिससे हमारी आने वाली पीढिय़ों को साफ़ सुथरा वातावरण दिया जा सके।
 
पंजाब सरकार पराली को आग लगाने वालों पर सख्त मुलाजिमों के विरुद्ध करेगी अनुशासनात्मक कार्रवाई
चंडीगढ़ राज्य में पराली जलाने के विरुद्ध उठाये जा रहे कदमों को जमीनी स्तर पर और प्रभावी ढंग के साथ अमल में लाने के मकसद से पंजाब सरकार ने विभिन्न विभागों, बोर्डों, निगमों, सहकारी सभाओं और स्वै-स्वामित्त्व अदारों के मुलाजिमों को इसमें शामिल करते हुये उनकी स्वामित्तव वाले या स्वयं की काश्त वाले खेतों में धान की पराली को आग लगाने के विरुद्ध उनकी जवाबदेही तय करने का फ़ैसला किया है।
 
पानीपतवासी सिंगल यूज़ ह्रश्वलास्टिक का इस्तेमाल न करने का संकल्प ले
पानीपत स्वच्छता को ईश्वर तुल्य मानने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर बुधवार का दिन शहर को साफ रखने के साथ-साथ बेकार पॉलीथिन और सिंगल यूज़ ह्रश्वलास्टिक रहित करने के नाम रहा। इसके तहत पानीपत की सभी 175 ग्राम पंचायतों व नगर निगम पानीपत और नगर पालिका समालखा में स्वच्छता ही सेवा है के रूप में मनाई जा रही है।
 
अब ह्रश्वलास्टिक नहीं बांस की बोतल में पीएं पानी : गडकरी
नई दिल्ली केंद्र की मोदी सरकार सिंगल यूज ह्रश्वलास्टिक बंद करने की कवायद में जुटी है. दो अक्टूबर से यह पूर्णत: बैन हो जाएगी. ऐसे में ह्रश्वलास्टिक की बोतल को बंद करने के लिए सरकार ने एक नया विकल्प खोज लिया है.इसके विकल्प के रूप में एमएसएमई मंत्रालय के अधीन कार्यरत खादी ग्रामोद्योग आयोग ने बांस की बोतल का निर्माण किया है, जो ह्रश्वलास्टिक बोतल की जगह इस्तेमाल होगी। आज एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी ने एक कार्यक्रम के दौरान इस बोतल को लॉन्च कर दिया। बांस की ये बोतल तकरीबन 750 एमएल होगी. इसकी कीमत 300 रूपये से शुरू होगी। ये बोतले पर्यावरण अनुकूल होने के साथ साथ टिकाऊ भी हैं. खादी स्टोर में इन बोतलों की विक्री दो अक्टूबर से शुरू होगी। बता दें कि भारत बांस का विश्व में दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है।
 
धूम-धाम से मना जल क्रान्ति दिवस, लोगों ने लिया जल बचाने का संकल्प
गुरुग्राम > खाली सकारात्मक सोच से कुछ नहीं मिलना , जल बर्बादी रोकने के लिए युद्ध स्तर की गंभीरता को लाना पड़ेगा। जल ही जीवन है, जल है तो कल है। इन सब नारो से भी अब काम नही बनने वाला। ऐसा कहना है स्वास्थ्य संग जल संरक्षण अभियान जल क्रान्ति के जनक एवं जलदूत और जल नायक की उपाधियों से सम्मानित आयुर्वेद चिकित्सक डॉक्टर परमेश्वर अरोड़ा का। यह बात उन्होंने जल क्रान्ति दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित एक कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए कही।
 
नवीन गोयल ने छात्रों को दिया क्लीन, ग्रीन, फिट गुरुग्राम और जल सरंक्षण का संदेश
गुरुग्राम क्लीन, ग्रीन और फिट गुरुग्राम के साथ समाजसेवी अब जल संरक्षण का भी संदेश दे रहे हैं। इसी कड़ी में सोमवार को उनकी टीम ने यहां राजेंद्रा पार्क स्थित आईपीएस स्कूल में टीम नवीन गोयल की ओर से बच्चों को जागरूक किया गया। स्कूल में विद्यार्थियों को टीम की ओर से पहले तो चारों विषयों पर विस्तार से संदेश दिया गया।
 
सीवरेज का ट्रीटेड पानी पार्कों में सिंचाई के लिए इस्तेमाल हो सकता है
गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) के पास सीवरेज की ट्रीटेड पानी, जिसे गे्र-वॉटर कहा जाता है, बहुतायत में उपलब्ध है और औद्योगिक ईकाइयां ेतथा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के विभिन्न सेक्टरों के पार्कों में सिंचाई के लिए इसका इस्तेमाल हो सकता है। ग्रेवॉटर का इस्तेमाल इन्हें आर्थिक रूप से भू-जल या अन्य स्त्रोत से मिलने वाले पानी की तुलना में सस्ता भी पड़ेगा।
 
गांव झंझाड़ी में इग्नू ने पौधारोपण कर दिया जल बचाने का संदेश
करनाल। उन्नत भारत अभियान के तहत गोद लिए गाँव झंझाड़ी में इग्नू क्षेत्रीय केंद्र करनाल द्वारा जल सरंक्षण पर जागरूकता कार्यकर्म व पोधारोपण किया गया क्षेत्रीय निदेशक डॉ पूनम कुमारी सिंह ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा की पौधे बोलते नहीं है लेकिन पानी के महत्त्व को हम सब से अच्छी तरह समझते है पौधे पानी को पाने के लिए व उसको संचित करने का सदैव प्रयास करते हैं, मगर पानी का दुरुपयोग नहीं करते। जो पानी पौधों को मिलता है पौधे उन्हें संभल-संभल कर खर्च करते हैं। हम पौधों से बहुत कुछ सीख सकते हैं। सहायक क्षेत्रीय निदेशक डा धर्म पाल ग्रामीणों से बातचीत करते हुए बताया की हम मनुष्यों ने वर्षाजल को एकत्रित करने व बाद में सावधानी से खर्च करने की बात भी पौधों से ही सीखी है। अनेक पौधे जैसे नागफनी, ग्वारपाठा,थोर ऐसे पौधे हैं जो रेगिस्तान में भी आसानी से रह लेते हैं। ये पौधे वर्षा के दिनों में जल को अपने तने या पत्तियों में संचित कर लेते हैं।
 
जल जीवन मिशन का लक्ष्य 2024 तक हर घर में पीने का पानी पहुंचाना : कटारिया
चंडीगढ़ प्रधानमंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर घोषित जल जीवन मिशन का उदेश्य देश के प्रत्येक ग्रामीण घर को वर्ष 2024 तक घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करना है। यह कई राज्यों विशेष रूप से उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्यों और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू एवं कश्मीर जैसे पर्वतीय राज्यों संघ राज्य क्षेत्रों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण कार्य है। यह बात आज पंचकूला में भारत सरकार के जल शक्ति मंत्रालय द्वारा आयोजित जल जीवन मिशन की पहली कार्यशाला को संबोधित करते हुए केन्द्रीय जल शक्ति तथा सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता राज्यमंत्री रतन लाल कटारिया ने कही।
 
अपने घर में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम खुद लगवाए: किरण बेदी
गुरुग्राम जलशक्ति अभियान के तहत आज पुडुचेरी की लेफटिनेंट गवर्नर किरण बेदी का विशेष सत्र गुरूग्राम में आयोजित किया गया जिसमें उन्होंने गुरुग्राम को जल स्मृद्ध गुरुग्राम अर्थात् वॉटर रिच गुरुग्राम बनाने के टिह्रश्वस दिए। उन्होंने कहा यह संभव है, यदि हर गुरुग्रामवासी पानी बचाए तथा अपने घर में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम खुद लगवाए।
 
हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में आमजन से अनुरोध
चंडीगढ़ हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने हरियाणा को ह्रश्वलास्टिक मुक्त करने की दिशा में आमजन से अनुरोध किया है कि वे ह्रश्वलास्टिक की थैलियों का उपयोग बंद कर जूट से बने थैलों का उपयोग करें। इसके लिए उन्होंने विभिन्न संस्थानों और गैर सरकारी संस्थानों को सामुदायिक सामाजिक जिम्मेवारी (सीएसआर) के तहत जूट बैग बनाकर आमजन को वितरित करने का अनुरोध किया है। आनन्द अरोड़ा आज यहां हरियाणा में ह्रश्वलास्टिक प्रदूषण में कमी लाने के विषय पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।
 
पानी बचाने के कम लागत के उपाय अपनाने की जरूरत : उपायुक्त गुरुग्राम में लगाया गया पहला वाटर ट्रीटमेंट एक्सपो-2019
गुरुग्राम जिलावासियों को जल संरक्षण के प्रति प्रेरित करने के लिए आज स्वतंत्रता सेनानी जिला परिषद् परिसर में वाटर ट्रीटमेंट एक्सपो-2019 का आयोजन किया गया। इस एक्सपो में जल संरक्षण के उपायों को लेकर 22 स्टॉल लगाई गई थी। यह एक्सपो नगर निगम गुरूग्राम तथा गुरु जल प्रोजेक्ट द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था। इस एक्सपो में जल संरक्षण के क्षेत्र में कार्यरत विभिन्न कंपनियों द्वारा स्टॉल लगाई गई थी।
 
अरावली पर्वत श्रृंखला : तेंदुए और हिरण की सफारी योजना विकसित होगी
हरियाणा के वन एवं वन्य प्राणी मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि राज्य की सबसे पुरानी अरावली पर्वत श्रृंखला में प्राकृतिक सम्पदा एवं वन्य प्राणी संरक्षण के लिए तेन्दुए व हिरण की सफारी योजना विकसित करने के प्रस्ताव पर गम्भीरता से विचार किया जा रहा है।
 
आकाश इंस्टिट्यूट के छात्र और शिक्षकों ने कैथल में लगाए पौधे
प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराने वाले देश के अग्रणी प्रशिक्षण संस्थान - आकाश इंस्टिट्यूट के छात्रों और शिक्षकों ने शहर को हरा-भरा बनाने के लिए चलाए गए व्यापक वृक्षारोपण अभियान के तहत कैथल में नेहरू पार्क में 150 पौधे लगाए। लगाए गए पौधों की संख्या उतनी ही है जितने इस शहर से प्रतियोगी प्रतियोगिताओं में छात्र सफ ल हुए है।
 
सलवान पब्लिक स्कूल में वृक्षारोपण
गुरुग्रमत्नसलवान पब्लिक स्कूल, सेक्टर 15, गुरुग्राम में बांद्रा सेक्टर 15 भाग 2 द्वारा ‘ह्रश्वलांटेशन ड्राइव’ के तहत 200 पौधे विद्यालय के प्रांगण में लगाए गए और 1073 पौधे विद्यार्थियों को दिये गए। विद्यार्थी अपने घर के आँगन में यह पौधे लगाएंगे व उसकी देखभाल करेंगे. यह कार्य सलवान पब्लिक स्कूल ने सारथी फाउंडेशन और आर.डब्ल्यू.ए सैक्टर 15 पार्ट 2 संयुक्त प्रयास से किया। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री राव नरबीर सिंह व आरडब्ल्यूए सैक्टर 15 पार्ट 2 अध्यक्ष अमित गोयल उपस्थित रहे. विद्यालय की प्रधानाचार्या रश्मि मलिक ने बढ़ते प्रदूषण की भयावह स्थिति से विद्यार्थियों को अवगत करवाते हुए उनको उनकी जिम्मेदारियों का एहसास करवाया व प्रदूषण को रोकने, जल संरक्षण करने के उपाय बताते हुए वृक्ष बच्चों के हाथों में दिये व यह जानकारी भी दी कि घर में बचे अवशेषों द्वारा उचितनिस्तारण कर खाद कैसे बनाई जाए व उसका सही उपयोग कैसे किया जाए।सभी विद्यार्थी पौधे पाकर बहुत खुश हुए व पर्यावरण संरक्षण हेतु संकल्प भी लिया।
 
ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के सभी कार्य समयबद्ध तरीके से पूरे किए जाएं : मुख्य सचिव पर्यावरण को प्रदूषण से बचाने की कवायद
चंडीगढ़ हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने राज्य की सभी शहरी स्थानीय निकायों में राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के निर्देशों के अनुसार कचरा प्रबंधन और ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के सभी कार्य समयबद्ध तरीके से पूरे किए जाएं ताकि शहरों को स्वच्छ बनाया जा सके तथा पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया जा सके।
 
अब प्रदेश के जोहड़ों का होगा सुधारीकरण समौरा गांव के जोहड़ से की शुरुआत
करनाल हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्र में तालाब जो जोहड़ों के नाम से जाने जाते है, जिनके अब दिन बहुरने लगे है। यह तालाब आज भी प्रदेश के करीब सभी गांवों में विद्यमान है। यही नहीं कभी ये तालाब ग्रामीणों की आस्था के केन्द्र माने जाते थे,जिनकी स्थिति आज काफी खराब दशा में है। जब इसका संज्ञान मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने आया तो उन्होंने तालाब व अपशिष्ट जल प्रबंधन प्राधिकरण का गठन कर प्रदेश के सभी लगभग 14 हजार तालाबों का सुधारीकरण करने का निर्णय लिया।
 
जीवन को सुरक्षित रखने के लिए पर्यावरण व जल संरक्षण जरूरी: बागड
वरिष्ठ भाजपा नेता, वार्ड 10 के पूर्व पार्षद मंगत राम बागड़ी व पार्षद शीतल बागड़ी ने शनिवार को गुरुग्राम रेलवे स्टेशन के अधिकारियों और नगर निगम की टीम के सहयोग से रेलवे की ग्रीन बेल्ट में पौधारोपण किया गया। इस दौरान विभिन्न प्रकार के करीब 1000 स्वास्थ्यवर्धक पौधे लगाए गए।
 
previous12next