संपादक

सिंधिया की सीख होगी कितनी कारगर !
चुनाव का मौसम ऐसा लगता हैं जैसे सब पार्टियों के पास कल्पवृक्ष आ गए हो जिनके सामने जो चाहो वह मिल जाता हैं। एक नवयुवक चलते चलते बहुत थक गया था। वह एक वृक्ष की छाया में आकर लेट गया। थोड़ी देर आराम करने के बाद उसे ह्रश्वयास लगी यह सोचा ही था की उसके सामने सोने की गिलास में अचानक पानी आ गया।
 
मुसीबत में दूध किसान
अब दूध उत्पादक मुसीबत में हैं। महाराष्ट्र में वे आंदोलन की राह पर हैं। वे प्रति किलो दूध कम-से-कम पांच रुपये की सब्सिडी मांग रहे हैं। हरियाणा में भी दूध उत्पादक परेशान हैं। उनकी शिकायत है कि सहकारी दुग्ध समितियां (वीटा मिल्क ह्रश्वलांट) का मुनाफा हर साल बढ़ता जा रहा है, लेकिन किसानों को नुकसान हो रहा है।
 
भारत माता के महान और समर्पित सपूत
दे श के उच्च कोटि के शिक्षा शास्त्री, देश की एकता और अखण्डता के संरक्षक, विभाजन के दंश से त्रस्त देशवासियों के तारणहार, राष्ट्रवादी विचारधारा से ओत-प्रोत, ’जनसंघ नामक‘ राजनीतिक पार्टी के संस्थापक, देश के सांस्कृतिक, यथार्थवादी और भविष्यदृष्टा चिंतक, राजनीतिज्ञ, जम्मू-काश्मीर को भारत से पूरी तरह एकाकार करने के प्रयास में अपने प्राणों की आहुति देने वाले डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को नि:सन्देह बिना किसी झिझक के भारतमाता का महान और समर्पित सपूत कहा जा सकता है।
 
अरबों रुपए किसानों को बांटने के बाद भी किसानों में नाराजगी क्यो
म ध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के लिए कई नवीन योजनाओं के माध्यम से किसानों को लाभ पहुंचाने का काम किया है। उसके बाद भी किसान सरकार से नाराज हैं। इसका कारण भी सरकार को ही खोजना होगा7 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह अपने आप को किसान पुत्र कहते हैं। वह खेती और फार्मिंग के व्यवसाय से जुड़े हुए हैं।
 
आतंकवादियों का अपना कोई धर्म नही
आज जो कुछ जम्मू - कश्मीर में हो रहा है, किसी से छिपा नहीं है। वहां के युवा गुमराह हो चले है, जो आतंकवादी गिरोहों के शिकार होकर अपने पर ही धावा बोल रहे है। जम्मू - कश्मीर में पत्थरबाजी की घटना सबसे खतरनाक खेल है जहां अपने ही अपने के खिलाफ खड़े दिखाई दे रहे है।
 
योग दिवस पर वीआईपी कलचर रहा हावी
समालखा चतुर्थ विश्व योगा दिवस पर नई अनाज मंडी में सैकड़ों महिलापुरू षों सहित बच्चो व बुजुर्गों ने भी उत्साहपूर्वक योग व प्राणायाम किया। जिसका विधिवत्त शुभारम्भ एसडीएम गौरव कुमार द्वारा किया गया। आयुष विभाग, पतंजलि योग समिति व भारत स्वाभिमान ट्रस्ट के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित कार्यक्रम में जहां लोगों में उत्साह दिखा वहीं वीआईपी कलचर भी इस पर भारी रहा।
 
फीफा विश्व कप की अद्भुत चमक
भ ले ही भारत सहित दुनियाभर के अनेक देशों में खेल प्रेमियों और यहां तक कि छोटे-छोटे बच्चों तक पर क्रिकेट की खुमारी छाई नजर आती है किन्तु आपको जानकर आश्चर्य होगा कि फुटबाल न केवल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है बल्कि इसमें पैसा भी क्रिकेट के मुकाबले कई गुना ज्यादा बरसता है।
 
भाजपा-पीडीपी गठबंधन से देश को क्या मिला.....?
भाजपा ने कल पीडीपी से अपना नाता तोड़ लिया। इस पर कोई आश्चर्य नहीं करना चाहिए। जब पीडीपी और भाजपा की बेमेल शादी हुई थी तब ही यह तय हो गया था कि इनका रिश्ता पाँच साल का नहीं है, बीच में ही कभी भी तलाक़ की नौबत आ जाएगी।
 
अधिकारी भयभीत हैं तो जनता का क्या होगा
दि ल्ली केडर के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों ने पत्रकार वार्ता आयोजित कर कहा, कि वह मुख्यमंत्री और मंत्रियों से भयभीत और पीडि़त हैं। जिसके कारण वह मंत्रियों की बैठक में नहीं जा रहे हैं । भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी एसोसिएशन ने यह भी कहा कि वह हड़ताल पर नहीं हैं।
 
जज्बे से भरेगा नापाक हरकतों का जख्म
कश्मीर में पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या घाटी के अमनपंसद लोगों के लिए बहुत बड़ा धक्का है। हत्या किसने की यह एसआईटी जांच से सामने आएगा लेकिन इतना तय है कि यह घाटी की भलाई के लिए सोचने वालों का कृत्य नहीं हो सकता। बल्कि यह घटना उन लोगों का दिल ठंडा करने के लिए अंजाम दी गई है जो पाकिस्तान में बैठकर भारत के सीने को चीरने का नापाक तमन्ना रखते हैं।
 
हल्दीघाटी : हक और साम्राज्यवाद का द्वंद
ढलता सूर्य दर्शनीय ही नहीं सुंदर और अदभुत भी होता है। उसके चारों ओर का आकाश सूर्य के डूबने के बाद भी काफी देर तक उसके पक्र ाश स े आलोकित रहत े हएु रगं ीन बना रहता ह।ै समदु ्र के एक छोर पर खड ़े होकर ढलता सूर्य निहारने का अनुभव वास्तव में सम्मानीय एवं स्मरणीय होता है।
 
सरकारी संपत्ति को क्षतिग्रस्त करना कतई उचित नही
उत्तर प्रदेश बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था के लिए तो जग जाहिर रहा ही है, अब नेताओं की कारगुजारियों से इसे नई पहचान मिलती नजर आ रही है। दरअसल एक तरफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार है जो कि एक समय बच्चों की मौत जैसे संगीन मामलों को भी संजीदगी से लेती हुई नजर नहीं आई तो वहीं दूसरी तरफ पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव हैं जो कि हर मामले को अपनी नाक का सवाल बना बैठते हैं और ऐसे-ऐसे काम कर जाते हैं जिससे उनकी किरकिरी होना तो लाजमी हो जाता है, लेकिन इससे सरकारी संपत्ति को भी नुक्सान होता हुआ नजर आ जाता है।
 
भय्यू महाराज: मध्यान्ह में सूर्यास्त
इंदौर के मेरे भक्त और प्रेमी उदय देशमुख, जिन्हें लोग भय्यू महाराज के नाम से जानते हैं, उनके निधन की खबर सुनकर मैं सन्न रह गया। अभी कुछ दिन पहले बैतूल (मप्र) के एक पुस्तक-विमोचन कार्यक्रम में वे मेरे साथ रहनेवाले थे। बहन उमा भारती तो पहुंचीं लेकिन वे नहीं आए। हम मंच से अभी उतर ही रह थे कि उनका फोन आया। कह रहे थे कि उनकी तबियत अचानक बिगड़ गई।
 
वास्तुकला का उत्कृष्ट धाम है बैजनाथ
हिमाचल प्रदेश में धौलाधार पर्वत शृंखला के बीचों-बीच स्थित प्राचीन शिव मंदिर बैजनाथ वास्तुकला का उत्कृष्ट धाम है। देश एवं विदेश में जिसे बैजनाथ (वैद्यनाथ) के नाम से जाना जाता है, मंदिर निर्माण में वास्तुकला को निखारने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। यह प्राचीन मंदिर अपनी वास्तु शैली का उत्कृष्ट नमूना है।
 
चुनाव प्रचार अभियान, जब रात है ऐसी मतवाली तो सुबह का आलम क्या होगा?
राजनीतिक दलों द्वारा अभी से सब काम छोड़ उन चुनावों का तेजी से प्रचार अभियान शुरू कर दिया गया है, जिनके अभी कई महीनें शेष है, देश में होने वाले लोकसभा चुनावों में अभी दस महीने शेष है, जबकि चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में अभी पांच महीने शेष है।
 
बच्चे के लिए इस प्रकार करें स्कूल का चयन
ब च्चे के जन्म के बाद से ही मां-बाप चाहते हैं कि वह बड़े होकर उनसे भी सफल व्यक्ति बने। इसके लिए वह स्कूल जाने की उम्र से पहले ही अच्छे स्कूलों की तलाश शुरु कर देते हैं। कई स्कूल बड़े नामी होते हैं पर उनकी फीस आपके बजट में नहीं होती।
 
प्रणब दा तू सी ग्रेट हो....
आरएसएस के मुख्यालय पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का जाना और वहाँ पर सारगर्भित भाषण देना उन तमाम अंदेशों को ख़त्म कर गया जो जाने से पहले लगाए जा रहे थे। प्रणब दा के नागपुर जाने से कांग्रेस अत्याधिक सहमी हुई थी। संघ के समारोह में दादा कही ं कछु एसे ा न कह दें जिससे कांग्रेस की साख को आघात लग जाए।
 
मुलाकात से पहले अमेरिका के इरादों को जाहिर करतीं टकराव की बाते
अ मेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के प्रमुख नेता किम जोंग उन की संभावित 12 जून की मुलाकात को लेकर दुनियाभर में चर्चे हो रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह मुलाकात बताएगी कि दुनिया शांति के रास्ते पर जाने वाली है या फिर युद्ध की तैयारी में जुटना होगा। दरअसल परमाणु परीक्षणों को लेकर उत्तर कोरिया के प्रमुख नेता किम जोंग उन को दुनियाभर में सनकी शासक घोषित कर युद्ध थोपने जैसा काम अमेरिका ने कर रखा था।
 
नए विवाद में फेसबुक
सोशल मीडिया साइट फेसबुक एक और डेटा विवाद में फंस गई है। ऐसा लगता है कि ये सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। नया मामला फेसबुक और चीनी कंपनियों के डेटा एक्सेस से जुड़ा है। इस मामले में फेसबुक ने माना है कि वह चीन की कई हैंडसेट निर्माता कंपनियां मसलन हुवावेई, लेनोवो, ओह्रश्वपो और टीसीएल के साथ डेटा साझा करता रहा है।
 
शांति का मार्ग प्रशस्त करने भारत-पाक रिश्तों की दुहाइ
चीन ने एक बार हिन्दी-चीनी भाई-भाई का नारा लगाते हुए हिन्दुस्तान की पीठ पर खंजर घोंप दिया था, जिसके जख्म आज तक भर नहीं पाए हैं। जी हॉं हम बात वर्ष 1962 में भारत और चीन के बीच हुए युद्ध की ही कर रहे हैं, जिसमें भारत की बुरी तरह हार हुई थी।
 
previous123456789...2223next