healthprose viagra http://tramadoltobuy.com/ http://buypropeciaonlinecheap.com/

मनोरंजन

कलर चैनल का नया शो‘ सावित्री देवी कालेज...’
सावित्री देवी कालेज एंड हाॅस्पिटल मेडिकल कहानी पर आधारित शो में रहस्य,रोमांच और रोमांश का भरपूर मसाला है। जो इंटर्न साची मिश्रा की जीवन कहानी है। वह अपनी मां जया का सपना साकार करना चाहती है तथा डाॅक्टर बनना चाहती है। किरदार अनेक, नब्ज एक की टैगलाइन के साथ यह धारावाहिक कई किरदारों के जीवन की कहानी है जिनकी किस्मत अस्पताल से बंधी है।
 
‘द ग्रेट इण्डियन फैशन वीक आयोजित
ग्रेट इण्डियन फैशन वीक 2017 में रैंप पर जलवे बिखेरे। कार्यक्रम का आयोजन एंटरटेनमेन्ट सिटी लिमिटेड के द्वारा किया गया, जिसने ‘द ग्रेट इण्डिया प्लेस और गार्डन्स गैलेरिया’ आने वाले आगंतुकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
 
कॉमेडी फिल्म में जलवा बिखेरेगी अजय-तब्बू की जोड़ी
बॉ लीवुड के ङ्क्षसघम स्टार अजय देवगन और अभिनेत्री तब्बू की जोड़ी कॉमेडी फिल्म में जलवा बिखेरती नजर आयेगी। रोहित शेट्टी की फिल्म गोलमाल अगेन में साथ काम कर रहे अजय देवगन और तब्बू एक बार फिर से बड़े परदे पर साथ नजर आने वाले हैं। लव रंजन द्वारा निर्मित एक रोम-कॉम कॉमेडी फिल्म में यह जोड़ी नजर आएगी।
 
सभी को हो अपनी बात कहने का अधिकार : मलाइका
बॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री मलायका अरोड़ा खान का कहना है कि लोकतांत्रिक समाज में सभी को अपनी बात कहने का अधिकार होना चाहिये। मलाइका का मानना है कि समाज के नियमों का पालन करना चाहिए लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि कोई भी किसी दूसरे व्यक्ति को यह बताए कि उसे क्या करना चाहिए और क्या नहीं। आज के समय में हर किसी पर सभी की नजर होती है और इस बीच आपकी निजता खो गई है। हम एक लोकतांत्रिक समाज में रहते हैं और हम जो चाहते हैं, हमें वह कहने का अधिकार होना चाहिए। मलायका ने कहा आपको समाज के नियमों का पालन करना चाहिए, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि मुझे कोई निर्देश दे या बताएं। बिना दूसरों के निर्देश के मुझे अपनी ङ्क्षजदगी कैसे जीनी चाहिए, मुझे अपने विचारों और अपनी सोच के साथ जीने का अधिकार होना चाहिए।
 
मेरी ह्रश्वयारी ङ्क्षबदू के लिये आयुष्मान ने सीखी बंगाली
बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना ने अपनी आने वाली फिल्म मेरी ह्रश्वयारी ङ्क्षबदू के लिये बंगाली सीखी है। आयुष्मान खुराना फिल्म मेरी ह्रश्वयारी ङ्क्षबदू में बंगाली उपन्यासकार अभिमन्यु रॉय के किरदार में न•ार आएंगे। इस किरदार के लिए आयुष्मान को बंगाली भाषा की बारीक़यिां सीखनी पड़ीं। आयुष्मान ने बताया कि ये उनके लिए कितना मुश्किल था। आयुष्मान ने कहा,‘‘मैं $खुद को हार्डकोर पंजाबी नहीं मानता। बंगला सीखने के लिए दो टीचर्स लगाए गए थे।‘’फ़ल्मि में मैं अपने माता-पिता से बात करते हुए बांग्ला का प्रयोग करता हूं। जबकि परिणीति से बात करते हुए •ा्यादातर ङ्क्षहदी बोलता हूं, क्योंकि ङ्क्षबदू बंगाली नहीं है। हालांकि फ़ल्मि में जो छोटी-छोटी बातें हैं, उनमें बंगाली संस्कृति का टच मिलेगा। ग़ौरतलब है कि मेरी ह्रश्वयारी ङ्क्षबदू में आयुष्मान के साथ परिणीति चोपड़ा है। परिणीति फिल्म में एस्पायङ्क्षरग ङ्क्षसगर के रोल में हैं। फ़ल्मि में वो ह्रश्वलेबैक ङ्क्षसङ्क्षगग भी कर रही हैं।
 
मुगले आजम का संगीत देने से मना कर दिया था नौशाद ने
मशहूर फिल्म मुगले आजम के मधुर संगीत को आज की पीढ़ी भी गुनगुनाती है लेकिन इसके गीत को संगीतबद्ध करने वाले संगीत सम्राट नौशाद ने पहले इसका संगीत निर्देशन करने से इंकार कर दिया था।्र कहा जाता है मुगले आजम के निर्देशक के. आसिफ एक बार नौशाद के घर उनसे मिलने के लिये गये।
 
जब फि़ल्म के सेट पर रो पड़ीं दीपिका पादुकोण
सं जय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित फिल्म गोलियों की रासलीला रामलीला सिद्धार्थ सिंह के साथ मिलकर लिख चुकीं गरिमा बहल ने बताया कि अभिनेत्री दीपिका पादुकोण आखिरी समय में संवाद में बदलाव के कारण सेट पर ही रो पड़ीं।
 
चोटिल कमल हासन दिखे विश्वरूप 2 के फर्स्ट लुक मे
लं बे समय से बन रही कमल हासन की विश्वरूप 2 को लेकर सुपरस्टार ने एक टारगेट तय किया है। यह लक्ष्य है इस फिल्म को 2017 में रिलीज करने का। कमल ने तमाम भाषाओं में विश्वरूप 2 का फर्स्ट लुक जारी किया है।
 
हरियाणवी अंदाज में आमिर खान ने पहनी नोज पिन
दंगल में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले आमिर खान अब ठग्स ऑफ हिन्दुस्तान में काम कर रहे हैं. यशराज बैनर के लिए इस फिल्म में आमिर खान पहली बार अमिताभ बच्चन के साथ काम कर रहे हैं. अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने इंस्टाग्राम पर आमिर खान के साथ एक तस्वीर शेयर की है
 
पठानकोट में 8 को होगा खन्ना का श्रद्धांजलि समारोह
सांसद स्व. विनोद खन्ना का आखिरी कार्यक्रम 8 मई को पठानकोट के गुरु करतार पैलेस में होगा। इसमें जाने-माने भजन गायक अनूप जलोटा अपने सुरों के माध्यम से खन्ना को श्रद्धांजलि देंगे। भाजपा की प्रदेश इकाई ने कार्यक्रम की तैयारी शुरू कर दी है। वहीं मुंबई के वर्ली स्थित नेहरू सेंटर के मैन ऑडिटोरियम में 3 मई को सेलीब्रेटिंग लाइफ मेमोरियल प्रोग्राम होने जा रहा है।
 
64वां राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार के. विश्वनाथ को दादा साहब फाल्के
राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने फिल्म निर्देशक के विश्वनाथ को दादा साहब फाल्के पुरस्कार तथा अभिनेता अक्षय कुमार को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता और सुरभि लक्ष्मी को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया।
 
पीवी ङ्क्षसधू का किरदार निभाएंगी दीपिका
बॉलीवुड की ङ्क्षडपल गर्ल दीपिका पादुकोण बैडङ्क्षमटन खिलाड़ी पी वी ङ्क्षसधू का किरदार निभाती नजर आ सकती है। बैडङ्क्षमटन खिलाडी सायना नेहवाल के जीवन पर फिल्म बनायी जा रही है। सायना के रूप में श्रद्धा कपूर नजर आएंगी जो उनकी बहुत अच्छी मित्र हैं। सायना की खुद की इच्छा थी कि उनका किरदार दीपिका पादुकोण निभायें। एक और बैडङ्क्षमटन खिलाडी पी वी ङ्क्षसधू के जीवन को परदे पर उतारा जा रहा है। कहा जा रहा है कि उनके किरदार को परदे पर दीपिका पादुकोण निभायेंगी। बताया जा रहा है कि इस फिल्म का निर्माण अभिनेता सोनू सूद करने जा रहे हैं जो दीपिका पादुकोण के साथ‘हैह्रश्वपी न्यू ईयर’में स्क्रीन शेयर कर चुके हैं। सोनू ने कहा कि इस बारे में फिलहाल कुछ तय नहीं है। जैसे ही फिल्म की नायिका और निर्देशक तय हो जाएंगे वैसे ही इस बारे में आधिकारिक तौर पर घोषणा कर दी जाएगी।
 
करिअर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित होगी शहंशाह : अर्चना
भो जपुरी फिल्मों में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध करने वाली जानी मानी अभिनेत्री डॉ. अर्चना ङ्क्षसह का कहना है कि उनकी आने वाली फिल्म शहंशाह उनके करियर की महत्वपूर्ण फिल्म साबित होगी। अर्चना की इस वर्ष प्रदर्शित फिल्म मेंहदी लगा के रखना बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट साबित हुयी है।
 
डाक्टर बनना चाहती थीं नर्गिस
ङ्क्षहदी फिल्मों की मशहूर अदाकारा नर्गिस ने लगभग चार दशक तक अपने बहुआयामी अभिनय से दर्शकों को चमत्कृत किए रखा लेकिन वह बचपन के दिनों मे अभिनेत्री नहीं डॉक्टर बनना चाहती थी।कलकत्ता शहर में एक जून 1929 को जन्मीं कनीज फातिमा राशिद उर्फ नर्गिस के घर में मां जद्दन बाई के अभिनेत्री और फिल्म निर्माता होने के कारण फिल्मी माहौल था।
 
असरानी नारद, मनोज तिवारी अंगद, अनूप जलोटा बनेंगे केवट
लाल किला मैदान में होनेवाली राजधानी की सबसे लोकप्रिय लव-कुश रामलीला की तैयारियां शुरू हो गई है। इस बार भी रामलीला में कई बॉलीवुड की हस्तियां जुड़ रही है।
 
जब हाथों में हाथ डाले बाहर निकले रणबीर, कैटरीना
अभिनेता रणबीर कपूर और कैटरीना कैफ अपनी आगामी फिल्म ‘जग्गा जासूस’ की शूटिंग पूरी करने के बाद स्टूडियो से हाथों में हाथ डाले हुए बाहर निकलते देखे गए। इस फिल्म का निर्देशन अनुराग बसु ने किया है। रणबीर और कैटरीना के संबंध में यह जानकारी बसु ने फिल्म की शूटिंग के अंतिम दिन सोमवार को ट्विटर पर दो फोटो साझा करते हुए दिया। एक फोटो में बसु ने अपनी बचपन की कुछ झलकियां साझा की हैं, जिसमें उन्होंने थोड़े बदलाव किए हैं। इसके अलावा दूसरी फोटो में दोनों कलाकारों को मुस्कराते हुए एक-दूसरे का हाथ पकड़े स्टूडियो से बाहर निकलते देखा जा रहा है। इन फोटो को साझा करने के साथ एक संदेश में बसु ने लिखा, "आगामी फिल्म ‘जग्गा जासूस’ के पहले दिन से लेकर आखिरी दिन। समय कितनी जल्दी निकलता है।" रिपोर्टो के अनुसार, इस फिल्म को बनने में करीब चार साल का समय लगा है। इससे पहले इस फिल्म को सात अप्रैल को रिलीज किया जाना था। इस फिल्म में एक किशोर जासूस की प्रेम कहानी दर्शाई गई है, जो अपने लापता पिता की तलाश करता है।
 
नारीवाद लैंगिक पहचान के दबाव से मुक्तिकी लड़ाई : स्वरा भास्कर
अ भिनेत्री स्वरा भास्कर का मानना है कि नारीवाद की लड़ाई केवल महिलाओं की ही लड़ाई नहीं है, बल्कि यह लैंगिक पहचान से दबाव से मुक्त होने के लिए पुरुषों और महिलाओं दोनों की लड़ाई है। स्वरा ने नई दिल्ली में इंडिया रनवे वीक के अंतिम दिन आभूषण डिजाइनर आकाश के. अग्रवाल के शो ‘चेंजिंग फेज ऑफ फेमिनिज्म’ के लिए रैंप वॉक किया। इस मौके पर स्वरा ने आईएएनएस से कहा, "शो का थीम चेंजिंग फेमिनिज्म था, जो आज के समय में बेहद प्रासंगिक है। मैं हमेशा यह मानती रही हूं कि नारीवाद महिलाओं और पुरुषों दोनों के लिए लैंगिक पहचान के दबाव से मुक्त होने की लड़ाई है।"स्वरा ने कहा, "भारतीय महिलाओं पर कई प्रकार के दबाव होते हैं, जिससे आपकी असली पहचान खो जाती है। इसलिए मुझे लगता है कि इस मायने में यह शो बेहद प्रासंगिक है।
 
शास्त्रीय संगीत को विशिष्ट पहचान दिलाई मन्ना डे ने
भा रतीय सिनेमा जगत में मन्ना डे को एक ऐसे पाश्र्वगायक के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपने लाजवाब पाश्र्वगायन के जरिये शास्त्रीय संगीत को विशिष्ट पहचान दिलायी। प्रबोध चन्द्र डे उर्फ मन्ना डे का जन्म एक मई 1919 को कोलकाता में हुआ था।
 
अनुष्का शर्मा ने अभिनय से बनाई खास पहचान
बॉ लीवुड में अनुष्का शर्मा का नाम एक ऐसी अभिनेत्री के तौर पर शुमार किया जाता है जिन्होंने अपने ङ्क्षबदास अभिनय से दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी है। एक मई 1988 को जन्मी अनुष्का शर्मा ने अपने करियर की शुरुआत बतौर मॉडल की।
 
बाल श्रम और ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’ का मुद्दा उठाती ‘बावली’
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ’और बाल श्रम का मुद्दा उठाती फीचर फिल्म‘बावली’में दिखाया गया है कि लड़कियों को लडक़ों के बराबर समझे जाने और उन्हें शिक्षित करने से ही समाज और देश सशक्त बन सकता है।