Breaking News
भाजपा ने महज 10 महीने में कांग्रेस से हथिया ली दो राज्यों की सत्ता   |  अवैध रूप से सीएंडडी वेस्ट डंपिंग करने वालों पर की जा रही है कार्रवाई  |  कोराना (कोविड-19) से स्वच्छता, सतर्कता व जागरुकता ही बचाव : नरेश नरवाल  |  आज का देश की महिलाओं व हमारी बच्ची के लिए ऐतिहासिक दिन है : बजरंग गर्ग  |  कोविड 2019 संक्रमण को फैलने से रोकने के उपायों के बारे में आम जनता को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करें : उपायुक्त  |  संदिग्ध मरीजों के लिए गुरुग्राम जिला में 22 आइसोलेटिड वार्ड तथा 4 क्वारंर्टाइन सुविधा बनाई गई  |  स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा संक्रमण से बचने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है  |  भाजपा ने प्रदेश पदाधिकारियों तथा प्रदेश मोर्चा अध्यक्षों की घोषणा की   |  
बोइंग की साख पर सवाल
इथियोपियन एयरलाइंस हादसे के बाद बोइंग 737 विमान संकट से घिर गए हैं। कई देशों में इनको असुरक्षित मानकर इनकी उड़ान पर रोक लगा दी गई है। इन देशों में चीन, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया और सिंगापुर शामिल है। इथियोपियन एयरलाइंस ने भी मैक्स 8 विमानों की उड़ान फिलहाल रोक दी है। पिछले रविवार को उड़ान भरने के कुछ ही मिनटों बाद हुए इस हादसे में 157 लोगों की मौत हो गई।
 
चीनी उद्योग की नई चिंता
विश्व व्यापार संगठन (डब्ल्यूटीओ) ने भारत के खिलाफ कई शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। डब्लूटीओ ने खुद इन शिकायतों की जानकारी दी है। शिकायत दर्ज कराने वाले देशों में ब्राजील भी है। उसका आरोप है कि भारत अपने चीनी उद्योग को अनुचित रियायतें दे रहा है। ये रियायतें डब्ल्यूटीओ के नियमों का उल्लंघन करती हैं।
 
लोकतंत्र जीतना चाहिए
रणभेरी बज गई। चुनाव की तारीखों का एलान हो गया है। अब वक्त गर्जनाओं का है। राजनीतिक दलों की गर्जना होगी। वादे होंगे। पीठ थपथपाई जाएगी। सपनों के बाग सजेंगे। क्या सच। क्या झूठ। पता लगाना मुश्किल हो जाएगा। लेकिन आपको अपना विवेक जिंदा रखना है।
 
आतंकवाद के कारण कश्मीर में सुरक्षा पर बढ़ता खर्च
धरती के स्वर्ग कश्मीर में फैला पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद दिनोंदिन भारत सरकार के लिए महंगा साबित हो रहा है। प्रतिदिन सुरक्षा मद पर होने वाले खर्च में बेतहाशा होती वृद्धि ने सुरक्षा संबंधी खर्चों को चार सौ करोड़ प्रति वर्ष के आंकड़े तक पहुंचा दिया है।
 
तैयारी में आगे नजर आ रही है भाजपा
बच्चों का इम्तहान चल रहा है। दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा बच्चों के कॅरियर का सबसे अहम पड़ाव होती है। यहां से उनकी दिशा तय होती है। परीक्षा दे रहे बच्चों को शुभकामनाएं। इसी बीच लोकतंत्र के सबसे बड़े इम्तहान की तारीख भी किसी वक्त घोषित हो सकती है।
 
रक्षा तैयारी का चिंताजनक हाल
पाकिस्तान से बढ़े तनाव का एक चिंताजनक परिणाम भारत की कमजोर रक्षा तैयारियों पर ध्यान जाना है। विदेशी अखबारों पर यकीन करें तो संकेत मिलता है कि भारत फिलहाल लंबा युद्ध लडऩे की स्थिति में नहीं है। कुछ रिपोर्टों में इस तरफ ध्यान दिलाया गया है कि भारत न तो खुद उन्नत हथियार विकसित कर पाया है, न ही उनकी खरीद के लिए तेज और पारदर्शी प्रक्रिया खोज पाया है।
 
शरद ऋतु की विदाई का पर्व है बसंत पंचमी
बसन्त पंचमी एक प्रसिद्ध भारतीय त्योहार है। इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा सम्पूर्ण भारत में बड़े उल्लास के साथ की जाती है। इस दिन स्त्रियां पीले वस्त्र धारण करती हैं। बसन्त पंचमी के पर्व से ही बसंत ऋ तु का आगमन होता है। शांत, ठंडी, मंद वायु, कटु शीत का स्थान ले लेती है तथा सब को नवप्राण व उत्साह से स्पर्श करती है।
 
हरियाणा के शहंशाह हैं मनोहर लाल
जींद की जीत के बाद हरियाणा में राजनीतिक दिशा क्या होगी इसे लेकर भाजपा ही नहीं विरोधियों में भी मंथन खूब हो रहा है। भाजपा में उत्साह है। जबकि विरोधी दल इस बात को लेकर परेशान हैं कि जींद से कहीं मनोहर लाल सरकार की वापसी का रास्ता तो नहीं खुल गया है।
 
संजीता चानू को डोपिंग के दंश से मुक्ति
रा ष्ट्रमंडल खेलों में दो बार की स्वर्ण पदक विजेता भारतीय भारोत्तोलक खुमुकचम संजीता चानू पिछले करीब 8-9 महीनों से डोपिंग मामले में लंबे प्रतिबंध के कारण मानसिक पीड़ा से जूझ रही थी किन्तु वर्ष 2019 उनके लिए बहुत बड़ी राहत लेकर आया है, जब उन पर लगा डोपिंग का दाग पूरी तरह धुल गया है और यह स्पष्ट हो गया है कि संजीता को इतने माह तक उस गलती की सजा मिली, जो उन्होंने कभी की ही नहीं।
 
आखिर देश में कब तक होते रहेंगें रेल हादसे?
एक फरवरी को संसद में बजट पेश करते हुये वित्त मंत्री का प्रभार भी संभाल रहे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि भारतीय रेल के लिए वर्ष 2018-19 अब तक सबसे सुरक्षित साल रहा है और बड़ी लाइनों वाले नेटवर्क पर सभी मानवरहित लेवल क्रॉसिंग को समाप्त कर दिया गया है।
 
बेरोजगारी: कोरी जुमलेबाजी
वित्तमंत्री पीयूष गोयल का बजट-भाषण इतना प्रभावशाली था कि विपक्ष तो हतप्रभ-सा लग ही रहा था। वह अकेला भाषण नरेंद्र मोदी के पिछले पांच वर्षों के सारे भाषणों के मुकाबले भी भारी पड़ रहा था और मुझे याद नहीं पड़ता कि किसी बजट-भाषण ने लोकसभा में ऐसा चमत्कारी माहौल पैदा किया, जैसा कि पीयूष के भाषण ने किया लेकिन आश्चर्य है कि रोजगार के बारे में वित्तमंत्री ने कोई जिक्र तक नहीं किया।
 
राम मंदिर : बहानेबाजी
कहावत है कि मरता, क्या नहीं करता ? सरकार को पता है कि अब राम मंदिर ही उसके पास आखिरी दांव बचा है। यदि यह तुरुप का पत्ता भी गिर गया तो वह क्या करेगी ? नरेंद्र मोदी ने महिने भर पहले यह कह ही दिया था कि हम सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का इंतजार करेंगे याने अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए अध्यादेश नहीं लाएंगे।
 
चुनावी बजट: लोकप्रियता पर ‘फोकस’ संभव...!
हमेशा की तरह इस बार भी देश में सत्तारूढ़ राजनीतिक दल संसद में दो दिन बाद पेश किए जाने वाले अंतरिम बजट को अपने ‘फायदे’ का माध्यम बना सकता है, बताया जा रहा है कि यह बजट देश के मध्यम वर्ग के लिए ‘राहत’ का बजट होगा फिर चाहे उसके कारण चुनाव बाद आने वाली सरकार के उसका आर्थिक खामियाजा क्यों न भुगतना पड़े?
 
भारत रत्न पर इतना हो-हल्ला क्यों?
पिछले काफी समय से देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न को लेकर बेवजह विवाद पैदा करने की कोशिशें की जाती रही हैं। गणतंत्र की पूर्व संध्या पर भारत सरकार ने तीन विभूतियों को भारत रत्न सम्मान देने का ऐलान किया। भारत रत्न विभूतियों के नामों की घोषणा के बाद से ही विवादों और चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है।
 
प्रियंका के रुप में इंदिरा का पुर्नजन्म?
लोकसभा चुनाव के लिए लगभग 100 दिन बचे हैं। लोकसभा चुनाव का कें द्र बिन्दु उत्तर प्रदेश बना हुआ है। उत्तर प्रदेश से ही देश का प्रधानमंत्री बनता है। क्योंकि यहां पर सबसे ज्यादा लोकसभा के लिए सांसद चुने जाते हैं। 1989 के बाद से उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अलग-थलग पड़ गई थी। 1989 से उत्तर प्रदेश की राजनीति मण्डल और कमण्डल के बीच कें द्रित होकर रह गई थी। भाजपा राममंदिर और भगवान राम के सहारे आगे बढ़ रही थी। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के कार्यकाल में एससी, एसटी और पिछड़ा वर्ग के सहारे उत्तर प्रदेश एवं देश के कई राज्यों में मण्डल और कमण्डल के प्रभाव से कांग्रेस बहुत कमजोर हुई थी।
 
नागरिकता संशोधन विधेयक का पारित होना
नागरिकता संशोधन विधेयक -2018 को लोकसभा ने पारित कर दिया है। कांग्रेस समेत कई अन्य विपक्षी पार्टियों की असहमति और विरोध के बावजूद भाजपा ने सख्त रुख अपनाया। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इससे असम में एनआरसी पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ेगा।
 
अब अधर में ब्रेक्जिट
ब्रिटिश संसद में ब्रेक्जिट समझौते पर मतदान होने के बाद प्रधानमंत्री थेरेसा मे को करारा झटका लगा है। ब्रेक्जिट समझौते के पक्ष में 202 वोट और विरोध में 432 वोट पड़े हैं। अब थेरेमा मे की गद्दी पर भी खतरा मंडरा रहा है। यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के निकलने के लिए 29 मार्च की तारिख निर्धारित की गई थी।
 
आधी अधूरी तैयारी पर टीम मोदी भारी
लोकसभा चुनाव 2019 से पहले बीजेपी के खिलाफ ममता बनर्जी ने कोलकाता की जमीन से सियासी जंग का एलान जोरदार तरीके से कर दिया। विपक्षी एकजुटता के लिए ममता दी ने पूरी ताकत भी झोंकी। लेकिन उनका पूरा शो किंतु-परंतु के मकडज़ाल में उलझ गया।
 
आम चुनाव में क्या रंग दिखाएगी बुआ-बबुआ की जोड़ी?
लोकसभा को करीब 15 फीसदी सीटें देने वाले देश के बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में ‘बुआ-बबुआ’ का 38-38 सीटों पर गठबंधन हो जाने और देशभर में महागठबंधन बनाने की कोशिशों में जुटी कांग्रेस के इस सूबे में अलग-थलग पड़ जाने के बाद एक बार फिर यह बात आईने की तरह साफ हो गई है कि भारतीय राजनीति में न कोई किसी का स्थायी दुश्मन है और न दोस्त और न ही भारतीय राजनीति में नैतिकता और शुचिता नाम की कोई चीज शेष रह गई है। सपा-बसपा गठबंधन के बाद अब हर किसी की नजरें इसी राज्य की भावी राजनीति पर केन्द्रित हैं।
 
अपने-अपने भ्रष्टाचारी
सीबीआई, सवर्णों का आर्थिक आरक्षण और अध्योध्या विवाद- इन तीनों मसलों पर गौर करें तो हम किस नतीजे पर पहुंचेंगे ? सरकार, संसद, सर्वोच्च न्यायपालिका और विपक्ष -- सबकी इज्जत पैंदे में बैठी जा रही है। सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा को सर्वोच्च न्यायालय ने 77 दिन के बाद अचानक बहाल कर दिया लेकिन सरकार ने फिर उन्हें हटा दिया।