healthprose viagra http://tramadoltobuy.com/ http://buypropeciaonlinecheap.com/

संपादक

एक तरफ खाद्यान्न संकट तो दूसरी तरफ खाद्यान्न बर्बादी
जहां एक और दुनिया खाद्यान्नों के संकट से जूझ रही है वहीं उचित रखरखाव व फसलोत्तर गतिविधियों के अभाव में देश में एक लाख करोड़ रुपए से अधिक के खाद्यान्न सालाना नष्ट हो जाते हैं। खाद्यान्नों की सालाना बरबादी के यह आंकड़े पिछले दिनों ही भारत सरकार के खाद्य प्रसंस्करण विभाग के सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव ने भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा आयोजित एक सेमिनार में दिये हैं। खाद्यान्नों की बरबादी पर चिंता व्यक्त करते हुए सरकार की ओर से बताया गया है कि वह दलहन और खाद्यान्नों को लंबे समय तक सुरक्षित रखने की प्रोद्यौगिकी विकसित करने पर विचार कर रही है।
 
पढ़ाई-लिखाई पर दें ध्यान
हिंदुओं की अजीब विडंबना है। अमेरिका में सभी मतावलंबियों के बीच ये समुदाय शिक्षा पर सबसे ज्यादा ध्यान देता है। मगर बात पूरी दुनिया की हो, तो सामने आता है वह सबसे कम पढ़ा-लिखा समुदाय है। हालांकि हिंदू इस पर संतोष कर सकते हैं कि पियू रिसर्च के वैश्विक सर्वे में यह सामने आया कि हर जगह बहुसंख्यक समुदाय के लोग पढ़ाई-लिखाई में सबसे पिछड़े हुए होते हैँ। अत: भारत में अगर हिंदुओं का यही हाल है, तो उसमें कोई अचरज नहीं। मगर यह संतोष करने का कमजोर आधार है। पियू रिसर्च के सर्वे का सही सबक यह होगा कि हिंदू समुदाय के लोग पढ़ाईलि खाई पर ज्यादा ध्यान दें। शिक्षा के प्रसार को प्राथमिकता दें। वरना, ऐसी सुर्खियां कतई अच्छा अनुभव प्रदान नहीं करतीं कि हिंदू दुनिया में सबसे ज्यादा अनपढ़ हैं।
 
राहुल खुलासा तो करें
बेशक कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की राजनीति और दलीलों को गंभीरता से न लिया जाए। बेशक नोटबंदी पर कांग्रेस एक सशक्त और तार्किक विपक्ष की भूमिका नहीं निभा पाई है। कांग्रेस सडक़ों पर आंदोलन खड़े नहीं कर पाई। राहुल गांधी के नेतृत्व में एक भी जत्थे ने बैंकों या एटीएम अथवा रिजर्व बैंक का घेराव नहीं किया।
 
रिजिजू मामला, सवाल नैतिकता का
नरेंद्र मोदी ने सरकार भ्रष्टाचार और काले धन के खिलाफ जंग छेड़ी हुई है। नोटबंदी का एलान होते ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उसे काले धन पर सर्जिकल स्ट्राइक बताया था। मगर नोटबंदी से काला धन खत्म होने की उम्मीदें टूट चुकी हैं। जगह-जगह से करोड़ों रुपए के नए नोट बरामद होने की घटनाओं से यह संदेश तो गया है कि सरकार भ्रष्ट लोगों पर कार्रवाई के प्रति कृत-संकल्प है, मगर भ्रष्टाचार का तंत्र कितना मजबूत और व्यापक है- उससे यह भी जाहिर हुआ है।
 
किसानों से बेफिक्र सरकार
पिछले हफ्ते मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के सीताराम येचुरी ने राज्यसभा में गेहूं पर आयात शुल्क शून्य करने के सरकारी फैसले का मामला उठाया। अफसोस जताया कि हरित क्रांति चार दशक बाद सरकार ने अन्नदाताओं (किसानों) के हितों के खिलाफ ये फैसला लिया है। आरोप लगाया कि देश में गेहूं के दाम बढ़ रहे हैं, उससे भयाक्रांत सरकार ने जल्दबाजी में ये निर्णय लिया।
 
नोटबंदी के 30 दिन
आठ दिसंबर को नोटबंदी का एक महीना पूरा हो गया। सडक़ों पर अराजकता, विरोध-प्रदर्शन, आंदोलन नगण्य हैं, लेकिन विपक्ष के 14 दलों ने कांग्रेस के नेतृत्व में काली पट्टी बांध कर संसद के परिसर में काला दिवस मनाकर अपना विरोध जताया और संसदीय कार्यवाही को जाम रखा। संसद में गतिरोध पर भाजपा के शीर्षस्थ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने नाराजगी जताई थी। संसद को जाम रखने और इस नाराजगी में राजनीति निहित हो सकती है, लेकिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी संसदीय गतिरोध पर नाराजगी के साथ चिंता भी जताई है।
 
ट्रंप: पर्सन ऑफ द ईयर
नरेंद्र मोदी के समर्थक बेवजह निराश हुए। हालांकि उनकी मायूसी को समझा जा सकता है। उन्होंने जोर लगाकर अमेरिकी पत्रिका टाइम के पर्सन ऑफ द ईयर यानी 2016 के वर्ष पुरुष के चयन में अपने नेता को सबसे आगे किया।
 
फिर पाकिस्तान पर निशाना
हर्ट ऑफ एशिया सम्मेलन का मेजबान भारत बना, तो पाकिस्तान घेरे में आया। पहल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की। कहा कि अफगानिस्तान और हमारे क्षेत्र को निशाना बनाने वाले आतंकवादियों पर चुह्रश्वपी से "आतंकवादियों और उनके आकाओं" का मनोबल बढ़ेगा। इसके बाद अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गऩी ने भी पाकिस्तान के खिलाफ मोर्चा खोला। कहा कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकवादी घोषित करीब 30 संगठन अफगानिस्तान में अपना आधार जमाने की कोशिश में हैं।
 
गरीब कल्याण का लक्ष्य
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट किया है कि आयकर कानून में संशोधन का विधेयक लोगों को काले धन को सफेद करने का मौदा देने के लिए नहीं, बल्कि गरीबों के लूटे गए धन को वापस लाने के लिए लाया गया है। सोमवार को लोकसभा में संशोधन विधेयक पेश होने के बाद ऐसी धारणा बनाई गई कि मोदी सरकार ने लोगों को काला धन घोषित करने का एक और अवसर दिया है। ऐसी समझ बिल के दो प्रावधानों से बनी। 8 नवंबर को नोटबंदी की घोषणा के बाद से देशभर में बड़ी संख्या में लोग 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों के रूप में अपना धन बैंकों में जमा करा रहे हैं। संशोधन विधेयक में प्रावधान है कि इस दौरान ढाई लाख रुपए से ज्यादा जमा कराई गई रकम का अध्ययन आयकर अधिकारी करेंगे। शक होने पर वे नोटिस जारी करेंगे।
 
गरीब कल्याण का मुलम्मा?
सरकार ने आय कर कानून में संशोधन का विधेयक पेश किया है। इससे सामने आने वाले काले धन पर कर, उपकर और जुर्माने की कुल रकम बढ़ाने का प्रावधान किया जाएगा। उपलब्ध जानकारियों के मुताबिक इस साल के अंत तक 500 और 1000 रुपए के पुराने नोटों के रूप में ढाई लाख रुपए से ज़्यादा जमा की गई राशि का अध्ययन आय कर अधिकारी करेंगे।
 
भोपाल के बाद नाभा
पंजाब की नाभा जेल पर हमला कर भगाए गए खालिस्तानी आतंकवादी हरिमिंदर सिंह मिंटू को अगले ही दिन दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया गया। इसके पहले रविवार को ही जेल पर हमला करने वाले बंदूकधारियों में से एक को उत्तर प्रदेश के शामली में पकड़ लिया गया।
 
चुनाव सुधार का सही वक्त
दे श में नोटबंदी के फैसले को 20 दिन बीत चुके हैं। तरह तरह के विश्लेषण से अलग जनता इसके साइड इफेक्ट्स से खुद लगातार रू-ब-रू हो रही है। खट्टे-मीठे अनुभव इन दिनों में हुए हैं। सबके बीच जनता जनार्दन ने एक अच्छा संदेश दिया है कि कितनी भी असहमति क्यों न हो,पीड़ा भले ही हो राष्ट्र की मर्यादा नहीं तोडऩी।
 
जलवायु संधि पर आशंकाएं
मोरक्को में पिछले हफ्ते जलवायु परिवर्तन सम्मेलन इस वादे के साथ खत्म हुआ कि पेरिस समझौते को लागू करने के लिए कायदे 2018 तक बना लिए जाएंगे। वहां जुटे देशों ने संकल्प लिया कि नियम तय करते वक्त पूरी पारदर्शिता बरती जायेगी। पेरिस समझौता इसी साल 4 नवंबर को अमल में आया, जिसके तहत धरती को गर्म होने से रोकने के लिए सभी देशों को कदम उठाने हैं।
 
तुगलकी फरमान साबित न हो
नो टबंदी का फैसला हुए 12 दिन बीत चुके हैं। जब फैसला हुआ तो पूरा देश एक पांव पर खड़ा होकर फैसले का समर्थन कर रहा था। करीब 78 फीसदी लोग फैसले के साथ थे। लेकिन लंबी कतारों में खड़े होकर मिला अनुभव और तरह तरह की परेशानियों से रू-ब-रू होने के बाद अब ये संख्या 48 फीसदी पर पहुंच गई है। लगभग 40 से 50 लोग कतारों में दम तोड़ चुके हैं।
 
इजराइल- भारत: उम्मीद बंधाने वाली यात्रा
हालांकि इजराइल में भी राष्ट्रपति का पद संवैधानिक प्रमुख का ही होता है, इसके बावजूद रुवेन रिवलिन की भारत यात्रा दोनों देशों में प्रगाढ़ होते रिश्तों की बेहतरीन मिसाल है।
 
जापान से परमाणु समझौते का अर्थ
अमेरिका से असैनिक परमाणु सहयोग समझौते को अमल पर लाने की कोशिश में भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से दो महत्त्वपूर्ण लिखित वादे किए थे। एक यह कि भारत कभी अपनी तरफ से किसी देश पर परमाणु हमला नहीं करेगा।
 
नोटबंदी से होगा गरीबों का भला?
प्र धानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर की आधी रात से 500 और 1000 के नोट पर प्रतिबंध लगाने का एलान किया। प्रधानमंत्री जिस वक्त यह एलान कर रहे थे देश के करोड़ों लोग टेलीविजन सेट से चिपके हुए थे। लोग तरह तरह की आशंकाओं से ग्रस्त थे। पता नहीं क्या होने वाला है।
 
अब काला धन खत्म?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने के फैसले को खास समर्थन मिला है। परेशानी झेल रहे लोग भी आम तौर पर इसे अच्छे मकसद से उठाया गया कदम बता रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि इससे काले धन की बुराई पर काबू पाने में मदद मिलेगी।
 
जोखिम भरा, पर साहसी
नरेंद्र मोदी सरकार ने साहसी कदम उठाया है। ऐसा जिसमें एक बड़ा राजनीतिक जोखिम भी है। काला धन पर नियंत्रण के उसके इरादे की देश के बड़े हिस्से में बेशक तारीफ होगी, लेकिन 500 और 1000 रुपए के नोटों को अचानक बंद करने से जो अफरा-तफरी मची है, उसका परिणाम अभी अनिश्चित है। तात्कालिक असर सिर्फ काला धन रखने वाले लोगों पर ही नहीं, बल्कि आबादी के ज्यादातर हिस्सों पर पड़ा है।
 
तो अब दुविधा क्या?
कांग्रेस कार्यसमिति की सोमवार को हुई बैठक में यह साफ हो गया कि पार्टी अब राहुल गांधी के नेतृत्व में चलने को तैयार हो गई है। खास बात यह रही कि बुजुर्ग नेताओं ने राहुल गांधी से नेतृत्व संभालने का अनुरोध किया। बताया गया कि सोनिया गांधी बीमार हैं, इसलिए बैठक की अध्यक्षता राहुल गांधी ने ही की। यानी पार्टी की सर्वोच्च नीति निर्धारण संस्था ने इस सिफारिश के साथ ही राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष पद संभालने का रास्ता तैयार कर दिया है।