संपादक

सिद्धरमैया का नया पैंतरा
कर्नाटक की सिद्धरमैया सरकार ने एक अनोखा दांव मार दिया है। उसके मंत्रिमंडल ने सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पास कर दिया है कि कर्नाटक के लिंगायत और वीरशैव संप्रदायों को हिंदू धर्म से अलग स्वतंत्र धर्म माना जाए जैसे कि बौद्ध और जैन धर्मों को माना जाता है। लिंगायत और वीरशैव लोगों की जनसंख्या कर्नाटक में लगभग 19 प्रतिशत है।
 
कांग्रेस की एकजुटता का राज
कां ग्रेस हिन्दुस्तान की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी है, लेकिन हाल के सालों में जिस तेजी से इसकी ताकत में लगातार गिरावट आई है, उससे उसे अपने स्वयं के अस्तित्व को बचाना भी मुश्किल लगने लगा है। हालात यहां तक पहुंच गए हैं कि जहां केंद्र की राजनीति में विपक्ष की भूमिका निभाना भी दुश्वारी समझा जा रहा है
 
रूस-अमेरिका में बढ़ती तल्खी
अमेरिका ने 19 रूसी नागरिकों और पांच संस्थानों पर प्रतिबंध लगा दिया है। इन संस्थानों में रूस की प्रमुख खुफिया एजेंसियां, फेडरल सिक्योरिटी एजेंसी और मेन इंटेलिजेंस डायरेक्टरेट शामिल है। इसके अलावा देश की इंटरनेट रिसर्च एजेंसी पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।
 
चैत्र नवरात्र अर्थात् दुर्गा के नौ स्वरुपों का पूजन मां शैलपुत्री की पूजा आज
हिन्दू पंचांग के मुताबिक प्रतिवर्ष दो बार नवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है। चैत्र मास में आने वाली नवरात्रि को चैत्र नवरात्र और शरद ऋतु में आने वाली नवरात्रि को शारदीय नवरात्र के नाम से पहचाना जाता है। खास बात यह है कि दोनों ही नवरात्रि में दुर्गा के नौ स्वरूपों का पूजन किया जाता है।
 
ट्रंप की गाज टिलरसन पर
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बर्ख़ास्त कर सीआईए के मौजूदा निदेशक माइक पॉम्पियो अमेरिका के नया विदेश मंत्री बना दिया है। रेक्स टिलरसन दुनिया की बड़ी तेल कंपनियों में से एक एक्सॉन-मॉबिल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रह चुके हैं।
 
जनाधार खोती जा रही है भारतीय जनता पार्टी
देश में हो रहे उपचुनाव में भाजपा शासित राज्यों में कांग्रेस की जीत इस बात को दर्शा रही है कि भाजपा धीरे - धीरे जनमत से दूर होती जा रही है।
 
महिलाओं के लिए बंद दरवाजे
नगालैंड की सियासत में महिलाएं एक बार फिर नुमाइंदी पाने से चूक गईं। इस बार सर्वाधिक पांच महिलाएं चुनावी अखाड़े में उतरी थीं। लेकिन एक भी जीत नहीं पाई। नगालैंड में आलम यह रहा कि अखोई सीट से उम्मीदवार अवान कोन्याक को छोडक़र बाकी चारों महिलाएं चौथे और पांचवें पायदान पर रहीं।
 
बात करो न करो हाथ जरूर मिलाया करो !
एक व्यक्ति हमेशा नौकरी के लिए रेल से यात्रा करता था। शुरुआत में वह अकेला बैठा रहता और किसी से कोई भी बात नहीं करता पर दूसरों को देखकर मुस्कराया करता था। उसकी मुस्कराहट प्रिय थी तो कुछ लोग जो नियमित मिलते थे उनको देख लेता था न बात करता और न कोई प्रतिक्रिया देता था।
 
गठबंधन के महत्व को समझें
तेजी से बदलते राजनीतिक परिदृष्यों और नए समीकरणों के बीच महज दो सीटें हासिल करने के बाद भी मेघालय में भाजपा का सरकार बनाने वाला दावा बताता है कि अब जनादेश से ज्यादा जोड़-तोड़ वाला हुनर सरकार बनाने या गिराने की ताकत रखता है। अब यह कितना लोकतांत्रिक है और कितना अलोकतांत्रिक यह बहस का मुद्दा कम और जांचने-परखने का ज्यादा हो गया है।
 
क्या भारत में दो बच्चों की अनिवार्यता की जाना संभव है ?
भा रतवर्ष बहुत ऐतिहासिक, पुरातन, सांस्कृतिक वैभव का पुण्यशाली देश हैं , देश की महिमा कितनी भी की जाये कम हैं ! हम पहले सोने की चिडिय़ा कहलाते थे ।यहाँ दूध घी की नदियां बहती थी ,लोग घरों में ताला नहीं लगाते थे । मेहमान को भगवान् का दर्जा देते थे , वसुदैव कुटुंबकम का भाव रखते थे ।
 
चिंता उत्पन्न करता चीन का प्रभावी कदम लेखक
चीन ने अरबों डॉलर वाली इकोनॉमिक कॉरिडोर परियोजना से जहां दुनिया के तमाम देशो का ध्यान अपनी ओर खींचा वहीं उसने कमजोर देशों के अंदरुनी मामलों में हस्तक्षेप कर अमेरिकी साम्राज्य को चुनौती देने जैसा काम भी कर दिखाया है।
 
महिला अस्मिता : दर्पण झूठ न बोले
अब तो हमारे ही देश के अनेक ईमानदार व स्पष्टवादी लेखकों, चिंतकों तथा बुद्धिजीवियों द्वारा स्वयं यह स्वीकार किया जाने लगा है कि हम भारतवासी दोहरे मापदंड अपनाते हैं तथा अपने जीवन में दोहरे चरित्र का आचरण करते हैं। भ्रष्टाचार में संलिप्त कोई भी दूसरे व्यक्ति को भ्रष्टाचार से दूर रहने का भाषण पिलाता है, दुष्कर्मी व दुराचारी स्वयंभू संत संसार को सद्चरित्रता का उपदेश देता है।
 
आईएसआई का हनीट्रैप रुपी जाल और हमारे ‘रटंत तोते’
दुनिया के तकरीबन तमाम बड़े मुल्क हनीट्रैप का इस्तेमाल दुश्मन देश की रणनीति जानने के लिए करते रहे हैं। यहां बताते चलें कि दुश्मन देश की रणनीति से लेकर खुफिया जानकारी खासतौर पर सैन्य रणनीति का राज हासिल करने के लिए कमसिन, खूबसूरत लड़कियों और महिलाओं को जासूस बनाकर हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने को ही हनीट्रैप कहा जाता है।
 
जब गांधी जी ने साधुओं से सवाल किया...!
उत्तर प्रदेश में हो रहे दंगों में मीडिया रिपोर्ट़ों अक्सर सत्ता दल पर ही दंगा भडक़ाने के आरोपों की झड़ी लगा रही हैं। कासगंज हिंसा को लेकर बरेली के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट से लेकर अन्य तमाम लोग इस मामले में संघ परिवार को घेर रहे हैं और संघ परिवार भा.ज.पा. भी इस मामले में बेफिक्र है क्योंकि इससे उसका वोट बैंक और मजबूत होने की संभावना जो है।
 
डोनॉल्ड ट्रम्प के दौर में अमेरिकाब्रिटेन सम्बंधों में खटास
विश्व युद्धों के समय से चली आ रही अमेरिका और ब्रिटेन के सम्बंधों में मधुरता क्या अब अतीत की बात बनने की दिशा में आगे बढ़ रही है? क्या डोनॉल्ड ट्रम्प के अमेरिका का राष्ट्रपति बनने के बाद अमेरिका- ब्रिटेन सम्बंधों में खटास आ रही है? ये सवाल तब उठ रहे हैं, जब ट्रम्प ने इसी साल फरवरी में प्रस्तावित अपनी अमेरिका यात्रा पिछले दिनों रद्द कर दी।
 
पार्टीविहीन लोकतंत्र और अन्ना हजारे
अन्ना हजारे चाहते हैं कि भारतीय लोकतंत्र पार्टीविहीन बन जाए। पांच-छह साल पहले एक विवाह-समारोह में वे मेरे पास आकर बैठ गए और मुझसे पूछने लगे कि इस मुद्दे पर आपका क्या विचार है ? मैंने पूछा कि पार्टियां राजनीति करें, इसमें आपको क्या-क्या एतराज हैं ? उनका जो तर्क उन्होंने मुझे उस समय दिया, वही अभी उन्होंने अखबारों में भी बोल दिया है।
 
सिन्हा का मंच यानी बासी कढ़ी का प्रपंच
लीजिए, यशवंत सिन्हा ने अपना मंच बना लिया। यशवंत के साथ भाजपा के एक और असंतुष्ट नेता शत्रुघन सिन्हा खड़े हैं। सिन्हाद्वय के समर्थकों को कहना है कि सिन्हा के साथ सिन्हा के आने को एक और एक ग्यारह की तरह लिया जाना चाहिए। दूसरी ओर एक अन्य पक्ष का मानना है कि चाहे यशवंत हों या शत्रुघन, दोनों कुंठित नेता मात्र बयानवीर हैं। यशवंत सिन्हा का जनाधार नहीं है।
 
आजादी और अमन के मसीहा : खान अब्दुल गफ्फार खान
खान अब्दुल गफ्फार खान का जन्म पख्तूनख्वा पाकिस्तान में 6 फरवरी 1890 उत्तमान जई के एक समृद्ध परिवार में हुआ । आजादी की लड़ाई का सबक अब्दुल गफ्फार खान ने अपने दादा सैफुल्लाह खान से सीखा था, जो स्वयं लड़ाकू स्वभाव के होने से पठानों पर अंग्रेजों के आक्रमण के समय हमेशा अंग्रेजों के विरुद्ध मदद में जाते थे ।छुट्टियों में समाज सेवा और शिक्षा समाप्ति के बाद देश सेवा ही उनका मुख्य काम था।
 
वेटर से लेकर बॉलर तक का सफर तय किया है कुलवंत ने
गांव की गलियों ने कई नामचीन क्रिकेटर भारतीय क्रिकेट को दिए है। गलियों में चौके-छक्के मारने के अलावा अपने साथियों को बोल्ड करने वाले कई क्रिकेटर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी पहचान बनाई है। उनमें एक एक और नाम जुडऩे के लिए तैयार है कुलवंत खेजरोलिया।
 
मालदीव में अदालती तख्त-पलट
मालदीव में इन दिनों जबर्दस्त उथल-पुथल मची हुई है। उसके राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की कुर्सी हिल रही है। जिस न्यायालय को वे अपने हाथ की कठपुतली समझ रहे थे, उसी ने उनके सिखकने का इंतजाम कर दिया है।