स्वास्थ्य

कभी लिंगानुपात में पीछे सोनीपत अब बेटियां बचाने में सबसे आगे
सोनीपत कभी लिंगानुपात के मामले में देश के सबसे पीछे जिलों में शामिल सोनीपत अब बेटियों की सुरक्षा में सबसे अग्रणी जिलों में शामिल हो गया है। वर्ष 2017 में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत किए गए प्रयासों में यहां बेहतरीन सफलता मिली है और इस साल एक जनवरी से 30 नवंबर तक एक हजार लडक़ों के पीछे अब 937 लड़कियां पैदा हुई हैं।
 
50 के उम्र के बाद टीकाकरण जरुरी
भारत में नागरिकों को भांति-भांति की स्वास्थ्य समस्याएं पहले से ही परेशान किए हुए हैं, ऐसे में एक ताजा अध्ययन से पता चला है कि लगभग 68 प्रतिशत वयस्कों को टीकाकरण के बारे में जानकारी ही नहीं है। इस सर्वेक्षण में शामिल हुए अधिकांश लोगों को लगता था कि टीकाकरण सिर्फ बच्चों के लिए ही होता है।
 
वायु प्रदूषण: बांटे हवा साफ करने वाले पौधे
नई दिल्ली भारत की अग्रणी डायग्नॉस्टिक्स चेन एसआरएल डायग्नॉस्टिक्स ने बढ़ते प्रदूषण से बचने और इसके बारे में जागरुकता फैलाने के प्रयास में गुरूग्राम के भीड़भाड़ भरे सेक्टर 29 में हवा शुद्ध करने वाले 1,000 पौधे वितरित किए। इसके अलावा कम्पनी ने कई अन्य संगठनों के सहयोग से दिल्ली- एनसीआर में अपनी सभी एसआरएल लैब्स एवं इमारतों को हरित एलईडी लाईटों से रौशन करने की एक और पहल शुरू की है।
 
चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ से सहमी मुंबई
मुंबई तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप के तटीय क्षेत्रों में तबाही मचाने के बाद मुंबई पहुंचे चक्रवाती तूफान ओखी’ से मुंबई और आसपास का इलाका भी सहम गया है. मुंबई एवं इससे सटे आसपास के शहरों में सोमवार शाम से ही भारी बारिश के साथ जगहज गह ओले भी गिरे हैं.
 
सर्दियों में ऐसे दिल रहेगा सुरक्षित
दिल के रोगियों के लिए सर्दियों का मौसम बेहद कठिन रहता है। इस दौरान उन्हें विशेष सावधानी बरतनी चाहिये। सर्दी के दौरान, धमनियां सिकुड़ किया जाती है। जिसके कारण रक्त को रक्त पंप करने के लिए अधिक प्रयास करना पड़ता है। इससे दिल पर तनाव बढ़ जाता है और इससे दिल की बीमारियों से परेशान लोगों को दिल का दौरा पड़ सकता है।
 
तमिलनाडु-केरल में ओखी चक्रवात का कहर, ८ मौते
चेन्नई दक्षिण केरल में ‘ओखी’ चक्रवात के कारण आई बारिश से गुरुवार को तटीय क्षेत्र में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। चक्रवाती तूफान और बारिश के कारण आठ लोगों की मौत हो गई। वहीं चेन्नई, कन्याकुमारी, तूतीकोरिन, कंचीपुरम, विल्लुपुरम, मदुरई, थेनी, थनजावुर और थिरुवरूर में शुक्रवार को भी स्कूल-कॉलेज बंद रहे।
 
गर्भवती महिलाओं का शत-प्रतिशत रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करें : पांडुरंग
सोनीपत उपायुक्त के मकरंद पांडुरंग ने कहा कि जिला में सभी गर्भवती महिलाओं का शत-प्रतिशत रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित करें। इसके लिए आंगनवाड़ी सुपरवाईजर अपने-अपने क्षेत्र की जिम्मेदारी लेंगी। अगर इस रजिस्ट्रेशन को हम सौ प्रतिशत तक पूरा कर लेते हैं तो लिंगानुपात की स्थिति में बेहतरीन सुधार कर सकते हैं।
 
समय से पहले मृत्यु का कारण बन रहा है ब्रेन स्ट्रोक : वर्मा
रोहतक कुछ समय पहले जहां ब्रेन स्ट्रोक जैसी बीमारी अधेड़ उम्र अथवा 45 वर्ष पार करने के बाद होती थी वहीं अब यह बीमारी युवाओं में लगातार बढ़ रही है। जिसका मुख्य कारण तनाव और उच्च रक्तचाप है। इसके लिए हमारी जीवन शैली में आ रहा बदलाव तथा खानपान की आदत भी मुख्य रूप से जिम्मेदार है।
 
ब्लड प्रेशर, शुगर से बढ़ता है माइग्रेन का खतरा
सिर दर्द अगर लगातार हो रहा हो तो उसकी अनदेखी करना ठीक नहीं है। यह माइग्रेन का दर्द भी हो सकता है। माइग्रेन में सिर के एक ही हिस्से में दर्द होता है। माइग्रेन एक न्यूरोलॉजिकल समस्या है। इसमें रह-रहकर सिर में एक तरफ बहुत ही तेज दर्द होता है। यह दर्द कुछ घंटों से लेकर तीन दिन तक बना रहता है।
 
हम क्यों न शाकाहारी भोजन को अपनाएं
पहली बात : हम जिस देश में रहते हैं। उसकी अपनी कुछ खासियत है, जिनकी वजह से भारत का नाम पूरे संसार में अदब के साथ लिया जाता है कारण एक बार स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि जहां पर सारे देशों की संस्कृति समाप्त हो जाती है अपने हिंदुस्तान की संस्कृति वहाँ से शुरू होती है।
 
ऐसे गायब होंगे मुंहासे
हर कोई यही चाहता है कि उसका चेहरा बेदाग हो लेकिन अक्सर उनके इरादों पर मुंहासे पानी फेर देते हैं। इनसे राहत पाने के लिए लोग न जाने कितने चीजों को भी चेहरे पर लगाते हैं पर उन्हें लाभ नहीं मिलता है। ऐसे में ये जादुई फेस पैक आपकी मदद कर सकता है।खाने के स्वाद को बढ़ाने के अलावा धनिया चेहरे के लिए भी फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट गुण चेहरे को मुंहासों और झुर्रियों जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने का काम करता है। इस प्रकार बनायें धनिए का फेस पैक। बनाने की विधि- इस फेस पैक को बनाने के लिए सबसे पहने धनिए को अच्छी तरह से साफ कर लें। अब इसे पीसकर इसमें बेसन या शहद मिलाए। इस मिश्रण को चेहरे पर लगाए। ध्यान रहे कि मास्क को लगाते समय चेहरे के संवेदनशील हिस्सों से बचाकर लगाए। इस मास्क को चेहरे पर कम से कम 20 मिनट तक लगाए। अब चेहरे को हल्के गुनगुने पानी से धो लें। इस मास्क को कम से कम हफ्ते में 2 बार जरूर लगाए।
 
‘फोर्टिस अस्पताल जैसी घटनाओं पर लगाम कसेंगे’
चंडीगढ़त्नहरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि गुरूग्राम के फोर्टिस अस्पताल जैसी घटनाओं पर लगाम कसने के लिए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डïा से प्रस्ताव लाने संबंधी बात करेंगे ताकि कोई भी निजी अस्पताल इस प्रकार से लूट न कर सके। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मामले की जांच के लिए विभाग के अतिरिक्त स्वास्थ्य महानिदेशक की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है, जिन्हें शीघ्र ही अपनी रिपोर्ट देने के आदेश दिये गये हैं। यह टीम अस्पताल में जाकर वहां चिकित्सकों द्वारा किये गये उपचार, दवाइयों, बच्ची के मौत के कारणों एवं बिल संबंधी जानकरी लेंगे तथा यह भी पता लगायेगें कि मृतक बच्ची को डेंगू हुआ भी था या नही। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट में दोषी पाये जाने पर नियमानुसार सख्त कार्रवाई की जाएगी। श्री विज ने बताया कि राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में डेंगू का इलाज नि:शुल्क किया जाता है। परन्तु निजी अस्पतालों में भी डेंगू के उपचार पर 16 लाख रुपये तक का खर्च तो संभव नही हो सकता है।
 
पॉल्युशन से कमजोर हो रही है हड्डिया
हवाओं में घुल रहे पॉल्युशन का जहर न केवल फेफड़े, हृदय एवं रक्त संचार प्रणाली को ही नुकसान पहुंचा रहा है है बल्कि पॉल्युशन के कारण हमारी हड्डियां भी कमजोर हो रही है। नौएडा स्थित फोर्टिस हास्पीटल के आर्थोपेडिक्स विभाग के प्रमुख डा. अतुल मिश्रा बताते हैं कि अनेक स्वतंत्र अध्ययनों में पाया गया है कि वायु प्रदूषण के कारण हमारी सख्त हड्डियों पर भी प्रभाव पड़ता है और जिसके कारण ऑस्टियोपोरोसिस हो सकती है।
 
अमेरिकन रैड क्रॉस वत्तीय आकलन करने में सफल
चंडीगढ़ वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विवि फरीदाबाद के सहायक प्रोफेसर डॉ. संजीव गोयल द्वारा आपदा राहत प्रतिक्रिया के लिए विकसित पूर्वानुमान मॉडल अमेरिका में नदियों की बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में जरूरी प्रारंभिक संसाधनों के आकलन में प्रभावी साबित हुआ है। डॉ. गोयल ने यह मॉडल अमेरिका के पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय, पेनिसिल्वेनिया में अपने पोस्ट डॉक्टरल अध्ययन के दौरान विकसित किया है।
 
खाने में शामिल करें सूरजमुखी के बीज
सूरजमुखी के बीज स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। इसलिए इन्हें अपनी डाइट में शामिल किया जाना चाहिये। सूरजमुखी के बीज का मक्खन बनाने के लिए तीन प्रमुख चीजों, सूरजमुखी के बीज, समुद्री नमक और शुगर मिलाएं। इसे और क्रीमी बनाने के लिए इसमें सूरजमुखी का तेल भी मिलाया जा सकता है।
 
वायु प्रदूषण से बढ़ता है फ्रैक्चर का खतरा
वायु प्रदूषण से फ्रैक्चर का खतरा बढ़ सकता है। इससे साफ है कि ऑस्टियोपोरोसिस से पीडि़त मरीजों के लिए वायु प्रदूषण और घातक साबित हो सकता है। अध्ययनों में सामने आया है कि हवा में मौजूद छोटे-छोटे कण (पीएम 2.5) से हड्डी के घनत्व के नुकसान में तेजी आती है।
 
हार्दिक सीडी कांड से भाजपा का बैकफुट पर चले जाना
गुजरात विधानसभा चुनाव में अब शह और मात का खेल शुरु हो चुका है। इसके चलते आरोप-प्रत्यारोप में राजनीतिक पार्टियां और उनके सहयोगी समेत कथित नेतागण सीमाएं लांघते नजर आ रहे हैं। एक दूसरे को भ्रष्ट और सबसे बड़ा चोर साबित करने में लगे ये लोग अब एक-दूसरे की छवि खराब करने से भी गुरेज नहीं कर रहे हैं।
 
स्मॉग से अपनी त्वचा को खुद बचा सकते हैं आप
वायु प्रदूषण यानि (स्मॉग) सिर्फ सेहत को ही नहीं बल्कि त्वचा को भी काफी बुरी तरह से नुकसान पहुंचा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया के शीर्ष 20 सबसे प्रदूषित शहरों में से आधे भारत में हैं। ऐसे में त्वचा को खास ख्याल की जरूरत होती है। त्वचा विशेषज्ञों के अनुसार प्रदूषण हमारी त्वचा का सबसे बड़ा दुश्मन होता है।
 
ताज को ताज ही रहने दो कोई नाम न दो.....
देश इस वक्त बड़े ही अजीबो-गरीब वक्त से गुजर रहा है। भुखमरी, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, लूट, हत्या, बालात्कार, जैसी समस्याएं गौंड़ हो जाति धर्म आधारित समस्याएँ, उलूल जुलूल बयान कहीं न कहीं मूल मुद्दे एवं समस्या से हटाने का एक सफल प्रयास है। कभी हिन्दू मुस्लिम तो कभी मस्जिद के भोंपू तो कभी गाय, तो कभी ताज।
 
पांच में से दो महिलाएं मधुमेह का शिकार होती है
नई दिल्ली भारत सरकार के सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री टी. सी. गहलोत ने लोगों से मधुमेह से बचने के लिए तेज गति से पैदल चलने, अनुषासित जीवन शैली को अपनाकर और स्वस्थ भोजन का सेवन कर स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखने का आह्वान किया।