हरियाणा मेल ब्यूरो
18/11/2017  :  09:34 HH:MM
1,30,000 कंपनियों के पास नहीं है पैन, किया करोड़ो का लेन-देन
Total View  160

नई दिल्ली सरकार ने जिन 2.24 लाख कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया है उनमें से 1.30 लाख कंपनियों के पास स्थायी खाता संख्या (पैन) नहीं है। इसके बावजूद इन कंपनियों ने करोड़ों रुपए का लेन-देन किया। कंपनी मामलों के मंत्रालय की एक जांच में यह बात सामने आई है। सूत्रों ने बताया कि केवल 93,000 कंपनियों के पास ही पैन था।
50,000 रुपए से  अधिक के लेन-देन के लिए पैन अनिवार्य होता है और चूंकि इन कंपनियों के पास पैन नहीं था इसलिए उनके लेन-देन का पता लगाना मुश्किल है। सूत्रों ने बताया कि जांच से साफ है कि इन कंपनियों में कुछ गड़बड़ तो जरूर थी। कम से कम इतना तो तय है कि उन्होंने कर का भुगतान नहीं किया। देश में 11.3 लाख कंपनियां पंजीकृत कंपनी रजिस्ट्रार का कहना था कि इन कंपनियों ने अपना वित्तीय ब्यौरा दाखिल नहीं किया इसलिए उनका पंजीकरण रद्द कर दिया गया। अब मंत्रालय ने यह अंदाजा लगाना भी शुरू कर दिया है कि कितनी पंजीकृत कंपनियों के पास पैन है। 2.24 लाख कंपनियों का पंजीकरण रद्द होने के बाद भी
देश में 11.3 लाख कंपनियां पंजीकृत हैं। मंत्रालय के सामने यह समस्या भी है कि कई बैंकों ने अब तक यह नहीं बताया है कि जिन कंपनियों का पंजीकरण रद्द हुआ है उन्होंने नोटबंदी के बाद कितनी रकम का लेन-देन किया। सूत्रों का कहना है कि भारतीय स्टेट बैंक ने मंत्रालय को इन कंपनियों की लेन-देन की जानकारी मुहैया नहीं करवाई है। बैंक ने इस बारे में कोई टिह्रश्वपणी नहीं की। नोटबंदी के बाद पैन के आवेदनों में 300 प्रतिशत का उछाल आया नोटबंदी के बाद पैन के आवेदनों में 300 प्रतिशत का उछाल आया है। केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड के अध्यक्ष सुशील चंद्रा ने कहा था कि पहले जहां हर महीने पैन के लिए 2.5 लाख आवेदन आते थे वहीं पिछले साल नवम्बर में नोटबंदी की घोषणा के बाद यह संख्या 7.5 लाख पहुंच गई है। मंत्रालय ने विभिन्न बैंकों द्वारा मुहैया करवाए गए आंकड़ों में भी अनियमितता पाई है। 13 बैंकों द्वारा दी गई जानकारी का विश्लेषण करने पर पता चला कि नोटबंदी के बाद करीब 4500 करोड़ रुपए जमा करवाए गए और निकाले गए। कई कपं नियो ं के 100 से अधिक बैंक खाते हैं।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4581158
 
     
Related Links :-
स्टील की बढ़ती कीमतों से परेशान इंडस्ट्री, कंपनियां बढ़ा सकती हैं कीमते
जीएसटी ने सौर परियोजनाओं की लागत 12 फीसदी बढाई
बढ़त के साथ खुले बाजार
फूड प्रोसेसिंग ह्रश्वलांट का सीएम ने किया उदघाटन
शेयर बाजार की कमजोर शुरुआत
बिटकॉइन की कीमत में उछाल से सरकार चिंतित
जीरकपुर के गोदामों में लगी भीषण आग, करोड़ों का नुकसान
जोयआलुक्कास ने साउथ एक्सटेंशन में खोला शोरूम
एडिडास ने लाइफस्टाइल इंटरनेशनल प्राइवेट लि से साझेदारी की
जेएनपीटी सेज में 60 हजार करोड़ का निवेश करेंगी : गडकरी