समाचार ब्यूरो
05/12/2017  :  09:46 HH:MM
सुको ने कोल घोटाले में स्टेटस रिपोर्ट मांगी
Total View  380

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट ने चार हफ्ते में सील कवर में सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा के खिलाफ एसआईटी जांच की स्टेटस रिपोर्ट मांगी है। 23 जनवरी को डायरीगेट मामले में सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा की मुश्किलें बढ़ गई थीं। सुप्रीम कोर्ट ने घोटाले के आरोपियों से मिलने के मामले में सीबीआई डायरेक्टर की देखरेख में एसआईटी जांच के आदेश दिए थे।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि ये मामला बड़े महत्व का है और हम आरोपों पर कुछ टिह्रश्वपणी नहीं कर रहे लेकिन पूर्व एसपीएल डायरेक्टर एमएल शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक प्रथम दृष्टतया ये केस बनता है और इसकी जांच होनी चाहिए। सीबीआई डायरेक्टर टीम में दो लोगों की टीम बनाए और कोल घोटाले के स्पेशल पीपी आरएस चीमा केस में सीबीआई डायरेक्टर की मदद करेंगे। मामला जनता से जुड़ा है इसलिए सीबीआई डायरेक्टर जल्द मामले की जांच पूरी करें। पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा के कोल घोटाले के आरोपियों से मिलने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रखा था कि प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच एसआईटी को सौंपी जाए या नहीं। इससे पहले कोल घोटाले के आरोपियों से मिलने और जांच में दखल देने का मामले में रंजीत सिंहा की मुश्किलें बढ़ गई थीं जब सुप्रीम कोर्ट के बनाए सीबीआई के पूर्व स्पेशल डायरेक्टर एमएल शर्मा पैनल ने कोर्ट को सील कवर में रिपोर्ट सौंपी थी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   608926
 
     
Related Links :-
परिवार में चल रहा था झगड़ा, पुलिस कप्तान के पास लेकर आया था फरियाद एसपी कार्यालय के बाहर व्यक्ति ने खाया जहर, हालत नाजुक
मंगलौरा चैंक पर मोबाइलों की दूकान में सेंध लगाने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे
किशोरी का घर से अपहरण कर किया दुष्कर्म
कुरूक्षेत्र के किसानों ने जलाई सर्वाधिक पराली
आईपीएस विवाद : रेप पीडि़ता बोली बाबा उदय सिंह की सरप्रस्ती में विशेष टास्क फोर्स का ऐलान
मरते दम तक जेल में रहेगा रामपाल
14 साल से पुलिस की आंखों में धूल झोंक रह रहा था मंदिर मे
प्रवासी विवाहिता से तीन युवकों ने किया गैंग रेप
महिला ने लगाया दो भाइयों पर रेप का आरोप बेटी के साथ भी अश्लील हरकतें करने का आरोप
फर्जी तरीके से आरक्षित की अनुसूचित जाति की सीटे