समाचार ब्यूरो
06/12/2017  :  08:46 HH:MM
झज्जर में बनेगा मछली हैचरी का उत्कृष्टता केंद्र
Total View  344

उत्तर भारत की पहली अत्याधुनिक सजावटी मछली हैचरी का उत्कृष्टता केंद्र झज्जर में बनेगा। करीब 14 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस उत्कृष्टता केंद्र का शिलान्यास आज झज्जर जिले के निकटवर्ती गांव तलाव में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ की उपस्थिति में किया।
इस मौके पर बहादुरगढ़ से विधायक नरेश कौशिक की गरिमामयी उपस्थिति रही। प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ ने हाईटेक एवं अत्याधुनिक सजावटी मछली पालन उत्कृष्टता केंद्र के आधारशिला कार्यक्रम में मुख्यातिथि केंद्रीय कृषि मंत्री का अभिनंदन किया और कहा कि वे हरियाणा प्रदेश के मत्स्य पालकों की ओर से उनका गांव तलाव में पहुंचने पर अभिनंदन करते हैं। सजावटी मछली हैचरी के उत्कृष्टता केंद्र में प्रदेश भर से पहुंचे मत्स्य पालकों को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि प्रदेश के कृषि मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ हरियाणा प्रदेश के किसानों, पशुपालकों व मछली पालकों को जिस तरह से समृद्ध करने के लिए प्रदेश व क्षेत्र में नित नई योजनाएं लागू की जा रही हैं वह प्रशंसनीय हैं। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी बढ़ाने का लक्ष्य रखा है और इसी कड़ी में सजाटवती मछली पालन के साथ ही धरती पुत्र की खुशहाली के लिए अनेक बड़ी योजनाओं के माध्यम से लाभांवित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इंटिग्रेटिड फार्मिंग के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है और मछली पालन के साथ ही फल व फूलों की खेती को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि झज्जर जिले के गांव तलाव में मत्स्य पालकों की सुविधा के लिए सजावटी मछली का ट्रेनिंग सैंटर भी खोले जाने पर विचार किया जाएगा और लोगों की मांग के अनुरूप सैंटर को जल्द शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश की राजधानी के साथ सटे होने का लाभ हरियाणा को उठाना चाहिए और दिल्ली की आवश्यकताओं को समझते हुए हुए उसी अनुरूप उत्पादन कर किसान आय में वृद्धि कर सकता है। उन्होंने कहा कि झज्जर जिले में बनने वाले इस उत्कृष्टता केंद्र से पूरे एनसीआर के किसानों की समृद्धि होगी। उन्होंने खुशी जताई कि प्रदेश के कृषि मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़ की पहल पर जो यह केंद्र खोले जा रहे हैं वह निश्चित तौर पर किसानों के लिए एक बेहतर आय के साधन विकसित करने का सकारात्मक कार्य है जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसानों के लिए मत्स्य पालन को बढ़ावा देते हुए जो नीली क्रांति में सहयोग दिया जा रहा है उससे हरियाणा प्रदेश मत्स्य उत्पादन में अग्रणी बनता जा रहा है। भले ही यहां के किसान शाकाहारी हों लेकिन मत्स्य पालन का उत्पादन कर वे दूसरे राज्यों के लोगों के लिए बेहतर उत्पादन का जरिया बन सकते हैं और अच्छी मार्केटिंग करते हुए आमदनी में इजाफा कर सकते हैं। शिलान्यास कार्यक्रम में प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ ने कहा कि जब उन्होंने विभाग संभाला थो तब इस विभाग का बजट महल 5 करोड़ रुपये था जबकि अब उनके विभाग का बजट 150 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। जिसमें से करीब 70 करोड़ रुपये प्रदेश के मत्स्य पालकों को सब्सिडी के रूप में भी दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि धरती पुत्र की खुशहाली के लिए वे निरंतर प्रयासरत हैं और अनाज उत्पादन के साथ ही बागवानी व मत्स्य पालन उत्पादन संबंधित योजनाओं में किसानों को सरकार की ओर से पूरा सहयोग दिया जा रहा है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1379609
 
     
Related Links :-
व्यापारी वर्ग फार्म ‘सी’ के लिए तरसे
लगातार चौथे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ
फसल अवशेष प्रबंधन को 1100 करोड़ के पैकेज की घोषणा
रियलमी 1’ स्मार्टफोन ने मचाई हलचल, गुरुग्राम में लॉच
बढ़ती आबादी की जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन दशक तक 1० प्रतिशत वृद्धि की जरूरत : कांत
हरियाणा में निवेश को लेकर विदेशी निवेशकों में भारी उत्साह : मुख्यमंत्री
हरियाणा में 800 करोड़ के निवेश की परियोजना पर समझौता
कैट का सरकार के 30 बिलियन डिजिटल भुगतान लक्ष्य को समर्थन
तीन दिन बाद लगा बाजार की तेजी पर ब्रेक
इजऱाइली काउंटरपाट्ïर्स के साथ भेंट बड़ा कदम