समाचार ब्यूरो
09/01/2018  :  11:09 HH:MM
अधिक मीठा खाने से बचें
Total View  387

सभी को मीठा खाना और मिठाई पसंद रहती है पर क्या आप जानते हैं इससे कई बिमारियों के साथ ही दिमाग के काम करने की क्षमता भी प्रभावित होती है। आपने स्वयं देखा होगा कि कोई भी मीठी चीज खाने के बाद आपको आलस आने लगता है? हाल ही में हुई एक अध्ययन के अनुसार ज्यादा मीठा खाने के बाद हमारे शरीर पर असर दिखने लगता है जिससे हमारे दिमाग के कार्य करने की क्षमता धीमी हो जाती है।

इस अध्ययन में शामिल प्रतिभागियों ने प्रमाणित किया कि ग्लूकोज या टेबल शुगर का सेवन करने के बाद उनका ध्यान और प्रतिक्रिया का समय घट गया, उन लोगों की तुलना में जिन्होंने फ्रूकटोज यानी फ्रूट शुगर या आर्टिफिशल स्वीटनर सूक्रालोज का सेवन किया। अध्ययन के अनुसार शुगर कोमा जिसका संबंध ग्लूकोज से
है एक ऐसी घटना है जो हकीकत में होती है। इस अवस्था में ग्लूकोज जिसमें चीनी की ज्यादा मात्रा होती है का सेवन करने के बाद उस व्यक्ति की सतर्कता घटने लगती है। खासतौर पर इस अध्ययन में इस बात की ओर केन्द्र किया गया कि चीनी के सेवन के बाद हमारे मस्तिष्क के काम करने की प्रवृत्ति में किस तरह का बदलाव होता है। इससे पहले हुए अध्ययन में इस बात को दिखाया गया था कि ग्लूकोज का शरीर के साथ ही मस्तिष्क पर भी सकारात्मक असर पड़ता है और इससे खासतौर पर हमारी याददाश्त बेहतर होती है हालांकि अब इस अध्ययन में पता चला है कि ज्यादा चीनी के सेवन से मस्तिष्क पर बुरा असर पड़ता है और दिमाग धीमा हो जाता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5637355
 
     
Related Links :-
जिला उपायुक्त के मार्ग दर्शन में यूथ रेडक्रास कैंप का आयोजन
कैंसर को हरा चुके लोगों के लिऐं रेड कार्पेट ईवेंट
दिल्ली में प्रदूषण ने किया हाल-बेहाल पराली-आतिशबाजी से शहर बना गैस चैंबर
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तड़पते मरीज, डॉक्टर नहीं मौजूद
कैंसर जैसी बीमारियों का छोटे शहरों में सस्ता इलाज
निमोनिया व दिमागी बुखार से बचाव के लिए पीसीवी लांच किया गया
हरियाणा और राजस्थान में बेटियों की संख्या बढ़ी
हमारा मुख्य मकसद मरीज लंबे समय तक स्वस्थ रहे : डॉ. नरेश
200 से अधिक बच्चों और उनके अभिभावकों ने कराई दांतों की जांच
मेयर मधु आजाद ने किया पौधारोपण