समाचार ब्यूरो
06/02/2018  :  17:02 HH:MM
मालदीव में राजनीतिक संकट और गहराया
Total View  340

माले मालदीव का राजनीतिक संकट गहराता जा रहा है। राष्ट्रपति अब्दुल्लाह यामीन द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश को मानने से इनकार करने के बाद सेना को हाईअलर्ट पर रखा गया है। सुप्रीम कोर्ट ने जहां अपने आदेश अमल करने को कहा है, जबकि सरकार ने पुलिस और सेना को आदेश दिया है कि वे राष्ट्रपति की गिरफ्तारी या उन पर महाभियोग चलाने के आदेश को मानने से इनकार कर दें।

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने भारत समेत सभी लोकतांत्रिक देशों से देश में कानून का शासन बनाए रखने में मदद मांगी है। आपको बता दें कि चीफ जस्टिस अब्दुल्ला सईद ने सरकार की तरफ से दाखिल की गई पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। जजों को मिल रही धमकियां चीफ जस्टिस ने साफ कहा है कि सरकार
को बिना पुनर्विचार की मांग किए ही आदेश को मानना होगा। इससे देश में सरकार और न्यायपालिका के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई है। चीफ जस्टिस ने आरोप लगाए हैं कि उन्हें तथा साथी जज अली हामिद और जूडिशल ऐडमिनिस्ट्रेटर हसन सईद को अज्ञात लोगों से धमकियां मिल रही हैं और वे रात कोर्ट में ही बिताएंगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1133689
 
     
Related Links :-
37 फिलिस्तीनियों की मौत 1600 से ज्यादा घायल
माल्या को एक और झटका: ब्रिटिश कोर्ट ने माल्या को बताया ‘कानून से भगोड़ा’
ईरानी सुरक्षाबलों ने गोलन में इजराइली ठिकानों पर दागी मिसाइले
मानवता के सामने सबसे बड़ा संकट है परमाणु वैज्ञानिकों-आतंकियों के बीच गठजोड़ : हास्पेल
इजरायल ने ट्रंप का किया समर्थन, चीन ने किया विरोध
वुहान में पीएम मोदी और शी के फैसलों को लागू करेगा चीन
मंगल पर न्यूक्लियर रिएक्टर स्थापित करेगी नासा
अगले सप्ताह जापान की यात्रा पर जाएंगे चीनी पीएम ली क्यांग
लीबिया में चुनाव आयोग कार्यालय पर हमला, 16 लोगों की मौत
ट्रंप से मिलने के पहले उत्तर कोरिया ने तीन अमेरिकियों को किया रिहा