समाचार ब्यूरो
11/02/2018  :  11:33 HH:MM
बादशाहपुर में बसाई जा रही अवैध कॉलोनी
Total View  527

गुरूग्राम बादशाहपुर दरबारीपुर रोड पर बादशाहपुर गांव में भू-माफियाओं के बड़ा गोरखधंधा सामने आया है। एक भाजपा नेता की मिलीभगत और भागीदारी से बादशाहपुर में अवैध कॉलोनी बसाने का काम तेजी से चल रहा है। जिला प्रशासन के आश्वासन के बावजूद अवैध कॉलोनी के नाम पर करीब 150 से ज्यादा ह्रश्वलाट बेचे जा चुके है।

सोशल मीडिया साइट पर लोगों को गुमराह करके ह्रश्वलॉट बेचने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। इसकी जानकारी नगर निगम और जिला प्रशासन के आला अधिकारियों को भी है लेकिन सत्तारूढ़ दल के नेता के अवैध कारोबार में हाथ डालने से वे हिचक रहे हैं। टीसीपी ने कंट्रोल एरिया एक्ट पूरे गुरूग्राम में लागू किया है।
कृषि की जमीन पर कॉलोनी विकसित करने के लिए सीएलयू लेना होता है। लाइसेंस लेकर ईडीसी जमा करना होता है। बादशाहपुर में कॉलोनी विकसित करने के लिए सारे नियमों को ताक पर रख दिया गया है।

बिल्डर और हुडा एरिया में ह्रश्वलॉट के रेट 80 हजार से एक लाख रुपये प्रति स्क्वायर यार्ड है। लेकिन कई एकड़ में विकसित की जा रही इस कॉलोनी में 28 से 32 हजार प्रति स्क्वायर यार्ड के हिसाब से 40, 60, 100, 150, 200 और 300 गज़़ के ह्रश्वलॉट बेचे जा रहे हैं। लोगों से वादा किया जा रहा है कि उन्हें पानी, सीवर, सडक़ और बिजली जैसी सुविधाएं दी जाएंगी। हरियाणा मेल की तहकीकात में पता चला है कि कॉलोनी काटने वाले कह रहे हैं कि इन ह्रश्वलाट की रजिस्ट्री के लिए सुविधा शुल्क तहसील से लेकर थाना और बड़े अधिकारियों को देना पड़ रहा है। रकम भी ह्रश्वलॉट खरीदने वालों से वसूली जा रही है। कमिश्नर उमाशंकर का कहना है कि तहसील को निर्देश दिए गए हैं कि बिना नगर निगम की अनुशंसा के कोई भी रजिस्ट्री नहीं की जाए। अगर इसके बाद भी ऐसा हो रहा है तो कार्रवाई की जायेगी। फिलहाल अवैध कॉलोनी काटने वालों के हौसले बढ़े हुए हैं। सत्तारूढ़ दल का वरदहस्त ऐसा है कि वे आवाज उठाने वालों से निपट लेने की भी धमकी दे रहे है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5952015
 
     
Related Links :-
समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में आया फैसला असीमानंद सहित सभी चारों आरोपी बरी
नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार
आखिर क्यों अवैध कब्जाधारियों पर मेहरबान नगरपालिका!
आयोग के कैं प ऑफिस/कोर्ट में 20 मामलों की सुनवाइ
पत्रकार निराला मामला: एनसीएससी ने दिए सीबीसीआईडी को जांच के आदेश
चंदा कोचर ने टैक्स हैवेन में जमा किए वीडियोकॉन और एस्सार समूह से मिले रिश्वत के पैसे
हुडा जिमखाना क्लब बैंकट हॉल के 110 करोड़ के घोटाले की जांच पर पर्दा : अभय जैन
भगोड़ें कारोबारी नीरव को झटका वेस्टमिंस्टर कोर्ट पहुंचा प्रत्यर्पण का मामला
12 फरवरी को पेश हों सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव
मानेसर लैंड घोटाला और एजेएल मामला सीबीआई कोर्ट में पेश हुए पूर्व सीएम हुड्डा और वोहरा