Breaking News
लघू सचिवालय के सभागार में डिजीटल हरियाणा कार्यशाला  |  बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं, सभी मामलों पर कड़ा संज्ञान लिया : जस्टिस मित्तल  |  अनाधिकृत निर्माणों, अतिक्रमण और विज्ञापनों के खिलाफ निगम की कार्रवाई जारी  |  जीवन में भी धार्मिक परंपराओं का विशेष महत्व : उमेश अग्रवाल  |  डिजीटल हरियाणा कार्यशाला का होगा आयोजन हरपथ ऐप पर प्राप्त शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारियों को मिलेगा प्रशिक्षण  |  रोटरी दिवस पर क्लब ने लगाया रक्तदान शिविर  |  बच्चों को प्रेरणा व जागरूक करने के लिए सेमिनार  |  बेहतर भविष्य के लिए सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करना होगा: जस्टिस मित्तल  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
06/03/2018  :  17:47 HH:MM
सुधीर मिश्रा निर्देशित हिंदी फिल्म ‘दास देव’ 23 को होगी रिलीज
Total View  382

चंडीगढ़ शरतचंद्र चट्टोपाध्याय की कालजयी रचना ‘देव दास’ के उलट कहानी पर, बहुमुखी निर्देशक सुधीर मिश्रा अब ‘दास देव’ नामक एक रोमांटिक राजनीतिक थ्रिलर लेकर हाजिर हैं। मिश्रा इससे पहले ‘चमेली’ और ‘हजारों वाहिशें’ जैसी चर्चित फिल्मों का निर्देशन कर चुके हंै।

‘दास देव’ 23 मार्च, 2018 को सिनेमाघरों में रिलीज के लिए तैयार है। चंडीगढ़ प्रेस क्लब में एक प्रेस कांफे्रंस के दौरान फिल्म का ट्रेलर मीडिया को दिखाया गया। देव की मुख्य भूमिका निभा रहा रहे अभिनेता राहुल भट्ट, प्रतिभाशाली अभिनेता सौरभ शुक्ला और डायरेक्टर सुधीर मिश्रा इस अवसर पर मीडिया
से बातचीत के लिए उपस्थित थे।

स्टॉर्म पिक्चर्स द्वारा प्रस्तुत और सप्तऋषि सिनेविजन प्रोडक्शंस द्वारा निर्मित इस फिल्म में पारो की भूमिका निभा रही हैं अभिनेत्री ऋचा चड्ढा, चांदनी के रूप में हैं खूबसूरत अभिनेत्री अदिति राव हैदरी, जबकि अनुराग कश्यप एक अतिथि भूमिका में नजर आयेंगे। उत्तर प्रदेश की पृष्ठभूमि में बनी, ‘दास देव’ एक ऐसी फिल्म है
जिसमें ताकत, व्यसन और प्रेम का मिश्रण देखने को मिलेगा। यह एक ऐसे व्यक्ति की कहानी है जो गरीबी से उठकर धनवान बनता है और जिंदगी को अपने तरीके से जीता है। कहानी यह दर्शाती है कि सत्ता पाने की अनियंत्रित इच्छा किसी व्यक्ति के जीवन में किस तरह से रुकावटें पैदा कर सकती है।सुधीर मिश्रा ने कहा, ‘दास देव’ एक ऐसी फिल्म है जिसके साथ एक आधुनिक भारतीय आसानी से खुद को जुड़ा हुआ महसूस कर सकता है। यह फिल्म मैंने देश के मौजूदा राजनीतिक परिदृश्य को करीब से देखने के बाद बनायी है, खासकर उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य में, जो राजनीतिक रूप से भारत के सबसे महत्वपूर्ण रा’यों में से एक है। मैं
यह भी कहना चाहूंगा कि अभिनेताओं, लेखक और बाकी पूरी टीम के कठोर परिश्रम की वजह से ही यह फिल्म संभव हो सकी है। राहुल भट्ट, ऋ चा चड्ढा और अदिति राव हैदरी अपने पात्रों में बहुत अच्छी तरह से फिट हुए हैं।’ सौरभ शुक्ला ने कहा, ‘क्लासिक देववादस की उलट बनी इस फिल्म में अभिनय करना बहुत मजेदार रहा। मुझे नई पीढ़ी के प्रतिभाशाली अभिनेताओं के साथ काम करने में बहुत आनंद आया।’






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5852423
 
     
Related Links :-
नेहा का बिकिनी पहनने से इंकार
लवरात्रि नहीं बल्कि अब आप देखेंगे ‘लवयात्री’
इन सर्च ऑफ गंगा में बहन की तलाश कर रहा है
किसानों की दशा की वास्तविकता बयान करती है खुदकुशी आंदी फसल : अक्षय शर्मा
सिखों ने मनमर्जीया के खिलाफ दिल्ली में 5 स्थानों पर रोष प्रदर्शन किया
इंडियन आइडल 10 पर नेहा कक्कड़ क्यों रोई?
गेम ऑफ थ्रोन्स के खाते में गया बेस्ट ड्रामा सीरीज अवॉर्ड
स्त्री को नहीं पछाड़ पाई मनमर्जिया
जिंदगी न मिलेगी दोबारा’ नाटक किया गया मंचन
कुमार बंधुओं ने भजनों से बहायी भक्ति संगीत की सरिता