07/03/2018  :  13:18 HH:MM
लेनिन की मूर्ति पर घमासान, लेफ्ट हुआ लाल
Total View  389

अगरतला त्रिपुरा के बेलोनिया टाउन में कॉलेज स्क्वेयर स्थित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति गिराने और उसके बाद शुरू हुई हिंसा पर पूरा लेफ्ट लाल हो गया है। घटना पर सभी वामपंथी दलों ने कड़ी नाराजगी जताते हुए बीजेपी पर डर फैलाने का आरोप लगाया है।
बीजेपी की सहयोगी जेडीयू के सांसद हरिवंश ने भी इस तरह की घटना की निंदा की है। सीपीआई नेता डी. राजा ने कहा, मैं इस हिंसा की कड़ी निंदा करता हूं, यह लोकतंत्र में स्वीकार्य नहीं है। हम एक बहुपक्ष लोकतंत्र हैं, कुछ पार्टियां जीतती हैं और कुछ हार जाती हैं। इसका यह कतई मतलब नहीं है कि वे बर्बरता हिंसा का सहारा ले सकते हैं। कानून को कड़ा रुख अपनाने की जरूरत है। वहीं सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा, त्रिपुरा में जो हिंसा हो रही है, ये स्पष्ट है कि आरएसएस-बीजेपी का रुझान क्या है। हिंसा के अलावा उनका राजनीतिक भविष्य कुछ है नहीं। त्रिपुरा की जनता इसका जवाब देगी। सीपीएम ने लेनिन की मूर्ति तोडऩे की घटना पर ट्विटर पर लिखा, त्रिपुरा में चुनाव जीतने के बाद हुई हिंसा प्रधानमंत्री के लोकतंत्र पर भरोसे के दावों का मजाक उड़ाती है। त्रिपुरा में वामपंथी और उनके समर्थकों के बीच डर और असुरक्षा की भावना फैलाने की कोशिश की जा रही है। केन्द्र व बिहार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी जेडीयू के सांसद हरिवंश ने कहा, यह गलत है, इस राष्ट्र के लोग अलग-अलग विचारधाराओं में विश्वास रखते हैं। यह सही है कि शासन समाप्त होने के बाद रूस में भी लेनिन की सभी मूर्तियों को नष्ट कर दिया गया था। लेकिन भारत, रूस नहीं है। लेनिन 1970 में गरीबों के लिए एक बड़ी क्रांति लाए थे। हालांकि लेनिन पर बोलते हुए जेडीयू सांसद की जुबान फिसल गई और वह 1917 की जगह 1970 बोल गए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9841827
 
     
Related Links :-
जम्मू-कश्मीर भारत का अंग, पाक की दलीलों से नहीं बदलेगी सच्चाइ
मोहाली और पंचकूला को मिलाकर बनेगा चंडीगढ़ कैपिटल रीजन
पंजाब ऑन लाईन रजिस्ट्ररियां करने वाला पहला राज्य बना
पंजाब: जेलों की सुरक्षा और होगी सख्त, सीआईएसएफ के हवाले किया जाएगा
परमाणु ऊर्जा : राष्ट्र की ऊर्जा विषय पर निबंध लेखन
गुरुग्राम-फरूखनगर ब्लॉको को शैक्षणिक रूप से सक्षम बनाने के लिए किया चिन्ह्ति
‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत जागरूकता कार्यक्रम
एसवाईएल निर्माण पर दोनों बड दलों ने राजनीति की है : चौटाला
निराकरण के लिए एकजुट प्रयास जरूरी : उपायुक्त
भारत 2019 तक ईरान में चाबहार बंदरगाह को चालू करने का होगा प्रयास : गडकरी