समाचार ब्यूरो
07/03/2018  :  13:18 HH:MM
लेनिन की मूर्ति पर घमासान, लेफ्ट हुआ लाल
Total View  415

अगरतला त्रिपुरा के बेलोनिया टाउन में कॉलेज स्क्वेयर स्थित रूसी क्रांति के नायक व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति गिराने और उसके बाद शुरू हुई हिंसा पर पूरा लेफ्ट लाल हो गया है। घटना पर सभी वामपंथी दलों ने कड़ी नाराजगी जताते हुए बीजेपी पर डर फैलाने का आरोप लगाया है।
बीजेपी की सहयोगी जेडीयू के सांसद हरिवंश ने भी इस तरह की घटना की निंदा की है। सीपीआई नेता डी. राजा ने कहा, मैं इस हिंसा की कड़ी निंदा करता हूं, यह लोकतंत्र में स्वीकार्य नहीं है। हम एक बहुपक्ष लोकतंत्र हैं, कुछ पार्टियां जीतती हैं और कुछ हार जाती हैं। इसका यह कतई मतलब नहीं है कि वे बर्बरता हिंसा का सहारा ले सकते हैं। कानून को कड़ा रुख अपनाने की जरूरत है। वहीं सीपीएम नेता सीताराम येचुरी ने कहा, त्रिपुरा में जो हिंसा हो रही है, ये स्पष्ट है कि आरएसएस-बीजेपी का रुझान क्या है। हिंसा के अलावा उनका राजनीतिक भविष्य कुछ है नहीं। त्रिपुरा की जनता इसका जवाब देगी। सीपीएम ने लेनिन की मूर्ति तोडऩे की घटना पर ट्विटर पर लिखा, त्रिपुरा में चुनाव जीतने के बाद हुई हिंसा प्रधानमंत्री के लोकतंत्र पर भरोसे के दावों का मजाक उड़ाती है। त्रिपुरा में वामपंथी और उनके समर्थकों के बीच डर और असुरक्षा की भावना फैलाने की कोशिश की जा रही है। केन्द्र व बिहार में बीजेपी की सहयोगी पार्टी जेडीयू के सांसद हरिवंश ने कहा, यह गलत है, इस राष्ट्र के लोग अलग-अलग विचारधाराओं में विश्वास रखते हैं। यह सही है कि शासन समाप्त होने के बाद रूस में भी लेनिन की सभी मूर्तियों को नष्ट कर दिया गया था। लेकिन भारत, रूस नहीं है। लेनिन 1970 में गरीबों के लिए एक बड़ी क्रांति लाए थे। हालांकि लेनिन पर बोलते हुए जेडीयू सांसद की जुबान फिसल गई और वह 1917 की जगह 1970 बोल गए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3130447
 
     
Related Links :-
ग्रुप डी के विभिन्न पदों को परीक्षाएं संपन्न
मुख्यमंत्री ने श्रमिकों के उत्थान एवं कल्याण के लिए अनूठी योजनाएं एवं कार्यक्रम चलाए
कम बिजली खपत वाले गरीब परिवारों को होगा सीधा लाभ बिजली बिल में राहत मुख्यमंत्री खट्टर का निर्णय ऐतिहासिक
शोक जताने विधायक के आवास पर पहुंचे कृषि मंत्री
आने वाला समय इनेलो का : कौशिक
कुल्लू में मूसलाधार बारिश, बर्फबारी के बाद अलर्ट
केंद्र शासित चंडीगढ़ में प्रशासकीय पदों का मामला चंडीगढ़ में हिस्सेदारी का मुद्दा गर्माया कैह्रश्वटन ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र
शांति और अहिंसा की आवाज है भारत : उपराष्‍ट्रपति नायडू
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव पहले चरण के लिए प्रचार थमा, आखिरी दिन शाह और राहुल ने झोंक दी ताकत
प्रधानमंत्री की रैली को दिया ‘जन विकास रैली’ का नाम : बराला