समाचार ब्यूरो
18/03/2018  :  14:01 HH:MM
कैसे 94 फुट लंबी सुरंग खोदकर जेल से फरार हुआ था बेअंत का कातिल तारा
Total View  521

चंडीगढ़ 2004 में जगतार सिंह तारा अपने तीन साथियों के साथ जेल के 94 फुट लंबी सुरंग बनाकर फरार हो गया था। इनमें जगतार सिंह तारा तथा उसके एक साथी को पुलिस को गिरफ्तार करने में 10 साल लग गए जबकि चौथा साथी कहीं पाकिस्तान में बताया जा रहा है।
हम आपको बताने जा रहे हैं कि कैसे जेल में पुलिस की नाक तले सुरंग तैयार की गई और कैसे फरार हो गया था तारा... बुड़ैल जेलब्रेक की साजिश 1998 और 2002 के बीच ही शुरू हो गई थी। जेल पुलिस प्रशासन के पास इसकी सूचना भी थी, लेकिन प्रशासन इसे असंभव मान कर गंभीरता से नहीं ले रहा था। 22 नवंबर 2004 को सुबह जब इस बात का खुलासा हुआ कि बेअंत सिंह के कातिल 14 फुट गहरी, 2.5 चौड़ी और 94 फुट लंबी सुरंग बनाकर बुड़ैल जेल से फरार हो गए। इनमें जगतार सिंह तारा, परमजीत सिंह भियौरा, जगतार सिंह हवारा और देवी सिंह शामिल थे। घाटना का खुलासा होते ही जेल पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। पुलिस प्रशासन को समझ नहीं आ रहा था कि इतनी लंबी सुरंग जेल से बाहर के लिए कब खोद दी गई। इतनी लम्बी सुरंग एक-दो दिन में खोदना संभव ही नहीं था। विशेषज्ञों की मानें तो इतनी लंबी सुरंग खोदने में कम से कम 6 महीने का समय लगा होगा। बाद में जांच में पाया गया कि जमीन खोदने के बाद ये आतंकी मिट्टी को अलमारी के पीछे डाल देते थे और बाद में इसे पानी से बहा देते थे। बताते हैं कि जिस दिन चारों सुरंग के जरिए जेल से फरार हुए उस दिन उनके एक साथी नारायण सिंह चौरा ने जेल के बाहर खड़े होकर जेल की बिजली दो बार गुल कर दी और इस दौरान जेल का जैनरेटर भी खराब हो गया था। नारायण सिहं चौरा फरारी से पहले हवारा को जेल में मिलने आया था और उसी दिन घटना को अंजाम देने का खाका तैयार कर लिया था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1268110
 
     
Related Links :-
समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में आया फैसला असीमानंद सहित सभी चारों आरोपी बरी
नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार
आखिर क्यों अवैध कब्जाधारियों पर मेहरबान नगरपालिका!
आयोग के कैं प ऑफिस/कोर्ट में 20 मामलों की सुनवाइ
पत्रकार निराला मामला: एनसीएससी ने दिए सीबीसीआईडी को जांच के आदेश
चंदा कोचर ने टैक्स हैवेन में जमा किए वीडियोकॉन और एस्सार समूह से मिले रिश्वत के पैसे
हुडा जिमखाना क्लब बैंकट हॉल के 110 करोड़ के घोटाले की जांच पर पर्दा : अभय जैन
भगोड़ें कारोबारी नीरव को झटका वेस्टमिंस्टर कोर्ट पहुंचा प्रत्यर्पण का मामला
12 फरवरी को पेश हों सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव
मानेसर लैंड घोटाला और एजेएल मामला सीबीआई कोर्ट में पेश हुए पूर्व सीएम हुड्डा और वोहरा