समाचार ब्यूरो
20/03/2018  :  16:08 HH:MM
सुच्चा सिंह लंगाह को पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट से मिली जमानत
Total View  521

चंडीगढ़ दुष्कर्म, फिरौती और धोखाधड़ी के आरोपों में फंसे पंजाब के पूर्व अकाली मंत्री सुच्चा सिंह लंगाह को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने सोमवार जमानत दे दी है। हालांकि कोर्ट ने लंगाह के समक्ष कुछ शर्तें भी रखी जिनमें से एक है कि वह बिना बताए विदेश नहीं जा सकते, ना ही लंगाह केस के किसी भी गवाह से संपर्क रख सकेंगे। लंगाह के खिलाफ गुरदासपुर सिटी पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया था।

शिकायत दर्ज कराने वाली महिला विधवा है और उसने अपनी शिकायत में कहा था कि लंगाह उसके साथ 2009 से दुष्कर्म कर रहे थे लेकिन कुछ दिन पूर्व महिला अपने बयानों से पलट गई जिसके बाद कोर्ट ने आज लंगाह को जमानत दे दी। शिरोमणि अकाली दल की गुरदासपुर जिला इकाई के अध्यक्ष रहे लंगाह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (दुष्कर्म), 384 (फिरौती), 420 (धोखाधड़ी) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस सूत्रों ने कहा था कि महिला ने अपनी शिकायत के समर्थन में पुलिस को एक वीडियो क्लिप भी सौंपी थी। महिला का आरोप था कि लंगाह ने उसकी संपत्ति बेचकर और उससे धन की उगाही कर उसके साथ धोखाधड़ी की है। यह मामला ऐसे समय में सामने आया था जब गुरदासपुर लोकसभा सीट के उपचुनाव के
लिए 11 अक्टूबर को वोट डाले जाने थे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3420211
 
     
Related Links :-
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्रनाथ पांडेय की बहू अमृता पांडेय ने थामा कांग्रेस का हाथ
गंगा-जमुनी तहजीब आई सामने, बाबरी मस्जिद व राम मंदिर पक्षकार इकबाल अंसारी व महंत धर्मदास ने अबीर-गुलाल से खेली होली
कॉलोनी के ऊपर नहीं हटी हाईटेंशन तार
लोकसभा चुनाव में एक प्रत्याशी अधिकतम 70 लाख खर्च कर सकता है : खत्री शान्तिपूर्ण, स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए अधिकारियों को प्रशिक्षण
शहीद दिवस का होगा भव्य आयोजन
डीरेल हुई एक्सप्रेस ट्रेन, गार्ड कोच पटरी से उतरा
संगत की सेवा में हमेशा खड़ा रहूंगा : जी.के.
निर्माण के विभिन्न इंजीनियरिंग पहलुओं पर चर्चा करतारपुर कॉरिडोर के मुद्दे पर भारत-पाक ने की तकनीकी वार्ता
गरीब कन्या के विवाह में मंडल ने किया सहयोग
मिर्जापुर: विकास हकीकत से कोसो दूर- प्रियंका गांधी