Breaking News
मिर्जापुर: विकास हकीकत से कोसो दूर- प्रियंका गांधी  |  गाजीपुर: पत्रकार प्रेस परिषद के जिलाध्यक्ष बने केके  |  चंदौली: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय की बहू अमृता पांडेय कांग्रेस में होंगी शामिल, कहा बीजेपी ने ब्राह्मण समाज को ठगा  |  फिरोजाबाद लोकसभा सीट पर चाचा शिवपाल व भतीजा अक्षय में होगा दिलचस्प मुकाबला, शिवपाल यादव ने जारी की 31 प्रत्याशियों की सूची  |  हम किसी को परेशान नहीं करना चाहते, सपाबसपा का जो मकसद, वही हमारा है : प्रियंका  |  लोकसभा चुनाव : अंतिम तैयारियों में जुटी भाजपा पीएम मोदी 28 मार्च से शुरू करेंगे तूफानी चुनावी दौरा  |  ग्लैमरस लुक में धमाल मचा रही हैं सपना चौधरी  |  होली को बनाएं खुशनुमा  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
20/03/2018  :  16:11 HH:MM
अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई
Total View  530

गुरुग्राम नगर निगम गुरूग्राम द्वारा आज आयुध डिपो के प्रतिबंधित दायरे में अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई की। इस कार्रवाई के लिए संयुक्त निगमायुक्त-2 अनु को ड्यूटी मजिस्टे्रट नियुक्त किया गया था। ड्यूटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में नगर निगम गुरूग्राम की टीम ने भारी पुलिस बल के साथ प्रतिबंधित क्षेत्र में 16 फ्लैट तथा 9 दुकानों को सील किया तथा 11 निर्माणाधीन भवनों को तोडऩे की कार्रवाई की।

टीम में नगर निगम की इनफोर्समैंट विंग के सहायक अभियंता सत्यवान, राजीव यादव व दलीप सिंह यादव, डीटीपी इनफोर्समैंट मोहन सिंह, कनिष्ठ अभियंता धीरज कुमार, अरूणदीप भारद्वाज एवं भरत, पालम विहार थाना प्रभारी प्रवीण मलिक सहित महिला एवं पुरूष पुलिस बल तैनात था। उल्लेखनीय है कि आयुध डिपो
के प्रतिबंधित क्षेत्र में माननीय उच्च न्यायालय द्वारा नए निर्माणों पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।

इन निर्देशों की पालना में नगर निगम गुरूग्राम द्वारा आज अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई के लिए संयुक्त निगमायुक्त-2 अनु श्योकंद, जो कि इस क्षेत्र के लिए नोडल अधिकारी भी नियुक्त हैं, उनके नेतृत्व में टीम ने कार्रवाई की। हालांकि किसी भी प्रकार के विरोध से निपटने के लिए 100 से अधिक
पुलिसकर्मी तैनात रहे। इनमें महिला एवं पुरूष पुलिस कर्मी शामिल थे।

पूरी कार्रवाई शांतिपूर्ण ढ़ंग से संपन्न हुई। नगर निगम गुरूग्राम एवं जिला प्रशासन द्वारा नागरिकों से अपील की गई है कि वे प्रतिबंधित दायरे में किसी प्रकार का निर्माण ना करें और माननीय उच्च न्यायालय के निर्देशों की पालना करें। प्रतिबंधित दायरे में किसी भी प्रकार के नए निर्माण को सहन नहीं किया जाएगा और अगर
कोई ऐसा करता है, तो निर्माण को तोडऩे के साथसाथ संबंधित के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई जाएगी। साथ ही नागरिकों से यह भी अपील है कि वे प्रतिबंधित क्षेत्र में ह्रश्वलॉट, मकान या दुकानों की खरीदफ रोख्त ना करें।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9441696
 
     
Related Links :-
आखिर क्यों अवैध कब्जाधारियों पर मेहरबान नगरपालिका!
आयोग के कैं प ऑफिस/कोर्ट में 20 मामलों की सुनवाइ
पत्रकार निराला मामला: एनसीएससी ने दिए सीबीसीआईडी को जांच के आदेश
चंदा कोचर ने टैक्स हैवेन में जमा किए वीडियोकॉन और एस्सार समूह से मिले रिश्वत के पैसे
हुडा जिमखाना क्लब बैंकट हॉल के 110 करोड़ के घोटाले की जांच पर पर्दा : अभय जैन
भगोड़ें कारोबारी नीरव को झटका वेस्टमिंस्टर कोर्ट पहुंचा प्रत्यर्पण का मामला
12 फरवरी को पेश हों सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेश्वर राव
मानेसर लैंड घोटाला और एजेएल मामला सीबीआई कोर्ट में पेश हुए पूर्व सीएम हुड्डा और वोहरा
पॉलीथीन का उपयोग करने वाले 20 लोगों का किया गया चालान
केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट से की विवादित छोड़ बाकी जमीन लौटने की मांग