समाचार ब्यूरो
29/03/2018  :  10:05 HH:MM
सीलिंग : सुप्रीम कोर्ट से डीडीए को फटकार
Total View  367

नई दिल्ली राजधानी में सीलिंग के विरोध में एक तरफ राजधानी दिल्ली के बाजार बंद हैं, वहीं दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने इस मसले पर सुनवाई के दौरान दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) को कड़ी फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि डीडीए बेहद दबाव में काम कर रही है।

आपको दिल्ली के लोगों की फिक्र नहीं है, आपके लिए सिर्फ व्यापारी ही मायने रखते हैं। डीडीए के प्रति गुस्सा जाहिर करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब व्यापारी प्रदर्शन करते हैं तो आप कन्वर्जन चार्ज 89 हजार से घटाकर 17 हजार कर देते हैं, आप इसे जीरो भी कर सके हैं। लेकिन उस जनता क्या, जो धरना प्रदर्शन
नहीं कर सकती है। कोर्ट ने कहा कि अगर कोई हाथों में झंडा उठाए प्रदर्शन नहीं करता तो आपकी नजर में उसके कोई मायने नहीं हैं। कोर्ट ने डीडीए को नसीहत देते हुए कहा कि आपको व्यापारी और आम जनता के बीच संतुलन बनाना चाहिए, लेकिन आप ऐसा नहीं कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट ने डीडीए को साफ कह दिया है कि आप पहले दिल्ली के आम नागरिकों के हित के बारे में सोचें और कदम उठाएं, न कि व्यापारियों के लिए। सीलिंग की चपेट में आ रहे बैंकों और एटीएम को लेकर भी कोर्ट ने आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा है कि ऐसे बैंक अपने एटीएम और लॉकर 30 जून से शिफ्ट कर सकते हैं। गौरतलब है कि सीलिंग के विरोध में आज एक बार फिर व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद रखीं जिससे शहर के अधिकतर प्रमुख बाजार बंद रहे। ये हड़ताल सीएआईटी और ऑल दिल्ली ट्रेडर्स एंड वर्कर्स एसोसिएशन ने बुलाई है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   460506
 
     
Related Links :-
वाईडब्ल्यूसी ने भारत में अपना दूसरा एक्सक्लूसिव स्टोर लांच किया
दो लाख से ज्यादा रिटेलर्स ने राजधानी में किया विरोध प्रदर्शन
पंजाब सरकार ने फसलों के नुकसान के लिए 32.82 करोड़ किए मंजूर
कृषि यंत्र खरीदने के लिए मिलेगा 80 प्रतिशत का अनुदान : लिखी
फॉरएवरमार्क इंडिया दिल्ली में करेगा फॉरएवरमार्क फोरम के सातवें संस्करण की मेजबानी
जऩरूफ : आने वाली पीढ़ी के लिए एक अनमोल तोहफा
मार्कफैड- हिंदुस्तान पैट्रोलियम के बीच समझौता
‘काश वोग’-चंडीगढ़ के सेक्टर 8 में नया फैशन डिजाइन स्टूडिय
नया एनएफ ओ 25 को खुलेगा, ९ जुलाई को होगा बंद
किसानों को विविधिकरण को अपनाने के लिए प्रेरित करें : धनखड