समाचार ब्यूरो
05/04/2018  :  09:52 HH:MM
पेपर कराना नहीं करना यह सीबीएसई का विशेषाधिकार
Total View  29

नई दिल्ली देश में इन दिनों पेपर लीक मामले में को लेकर विरोध प्रदर्शन का दौर जारी हैं इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सीबीएसई पेपर लीक में दायर सभी याचिकाएं खारिज कर दीं। शीर्ष अदालत ने अपने आदेश में यह साफ किया कि परीक्षा के बारे में फैसला सीबीएसई का अधिकार है।

पेपर कराना है या नहीं करना, यह सीबीएसई का विशेषाधिकार है। इसके साथ ही अदालत ने पेपर लीक की सीबीआई जांच की मांग को भी अस्‍वीकार कर दिया। 10वीं कक्षा स्कूली शिक्षा प्रणाली का आंतरिक भाग उल्‍लेखनीय है कि इसके पहले मंगलवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने फैसला किया कि सीबीएसई की 10वीं कक्षा की गणित विषय की दोबारा परीक्षा नहीं कराई जाएगी। सीबीएसई ने कहा कि 10वीं कक्षा स्कूली शिक्षा प्रणाली का आंतरिक भाग भर है। गौरतलब है कि सीबीएसई की 10वीं कक्षा का गणित और12वीं कक्षा का अर्थशास्त्र विषय का पर्चा लीक हो गया था। शिक्षा सचिव अनिल स्वरूप ने दिन में कहा था,सीबीएसई
की 10वीं कक्षा का गणित का पर्चा लीक होने की सूचनाओं के प्राथमिक विश्लेषण के बाद तथा विद्यार्थियों के हितों को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने फिर से परीक्षा नहीं करवाने का फैसला लिया है। यह परीक्षा दिल्ली एनसीआर और हरियाणा राज्यों में भी नहीं होगी। इसतरह में 10वीं कक्षा के लिए कोई पुन:परीक्षा नहीं
होगी। इसके बाद में सीबीएसई ने एक बयान में कहा 10वीं कक्षा की परीक्षाएं 11वीं कक्षा के लिए प्रवेश द्वार होती हैं और मोटे तौर पर स्कूली शिक्षा का आंतरिक भाग बनी रहती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6511043
 
     
Related Links :-
नगर पालिका और रेहड़ी वालों में चल रहा चूहे बिल्ली का खेल
नानक शाह फकीर के प्रदर्शन को सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा उन्नाव गैंगरेप केस
चंगुल में ‘फंसा’ भगोड़ा नीरव, हांग कांग में जल्द हो सकता है गिरफ्तार
राजीव कोचर और वेणुगोपाल धूत के करीबी से पूछताछ
हिमाचल प्रदेश : सडक़ हादसे में 26 छात्रों सहित 29 की मौत
सलमान को 2 दिन में मिल गई जमानत, पहुंचे घर
स्कूल बसों में नहीं मिले सीसीटीवी और महिला सहायक, नौ स्कूल बसों के किए चालान
रोडरेज मामले में नया ट्विस्ट, सिद्धू के खिलाफ सामने आया नया सबूत
दिल्ली से नोएडा शराब ले जाने पर होगी 5 साल की जेल