Breaking News
लघू सचिवालय के सभागार में डिजीटल हरियाणा कार्यशाला  |  बच्चों की सुरक्षा से कोई समझौता नहीं, सभी मामलों पर कड़ा संज्ञान लिया : जस्टिस मित्तल  |  अनाधिकृत निर्माणों, अतिक्रमण और विज्ञापनों के खिलाफ निगम की कार्रवाई जारी  |  जीवन में भी धार्मिक परंपराओं का विशेष महत्व : उमेश अग्रवाल  |  डिजीटल हरियाणा कार्यशाला का होगा आयोजन हरपथ ऐप पर प्राप्त शिकायतों के निपटारे के लिए अधिकारियों को मिलेगा प्रशिक्षण  |  रोटरी दिवस पर क्लब ने लगाया रक्तदान शिविर  |  बच्चों को प्रेरणा व जागरूक करने के लिए सेमिनार  |  बेहतर भविष्य के लिए सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करना होगा: जस्टिस मित्तल  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
11/04/2018  :  09:58 HH:MM
सुप्रीम कोर्ट पहुंचा उन्नाव गैंगरेप केस
Total View  373

नई दिल्ली सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को उत्तर प्रदेश के उन्नाव का गैंग रेप मामला पहुंच गया है। वकील एमएल शर्मा ने इस मामले में याचिका दाखिल की है। जिसमें रेप पीडि़ता और उसके परिवार को सुरक्षा और मुआवज़ा देने की मांग है साथ ही पुलिस और विधायक के ख़िलाफ़ जांच की मांग की गई है।

उन्नाव गैंगरेप मामले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सेंगर को गिरफ्तार किया गया है। हालांकि विधायक ने सभी आरोपों को साजिश करार दिया और जांच की मांग की। उल्लेखनीय है कि गैंगरेप पीडि़ता ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया था।
विधायक के भाई पर आरोप यह भी लगाया गया है कि उसने पीडि़ता के पिता को बुरी तरह पीटा था जिसकी वजह से उनकी जेल में मौत हो गई थी। पीडि़ता के मुताबिक विधायक का भाई उनके पिता पर केस वापस लेने का दबाव बना रहा था। मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश करने वाली गैंगरेप पीडि़ता का आरोप है कि विधायक के दबंग भाई और उनके गुर्गे घर से उसके पिता को घसीटते असलहे के बल पर ले गए। जिसके बाद उन्हें पेड़ से बांध का जमकर पीटा गया था। उसके बाद उन्हें पुलिस की मिलीभगत से हवालात में बंद कर दिया गया, जहां इलाज अभाव में उसकी मौत हो गई। पीडि़ता ने कहा है कि जल्द ही उसे भी मौत के घाट उतार दिया जाएगा। उन्नाव रेप केस में रेप पीडि़ता के पिता की जेल में संदिग्ध मौत मामले में विपक्ष जहां योगी सरकार पर हमलावर है। वहीं, सरकार मामले में निष्पक्ष कार्रवाई का दावा कर रही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा किसी भी दोषी को नहीं बख्शेंगे। सीएम योगी ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए एडीजी लखनऊ से मामले की गहनता से जांच के आदेश दिए और कहा कि जो भी दोषी हैं, वे चाहे जो भी हों, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1877220
 
     
Related Links :-
अनाधिकृत निर्माणों, अतिक्रमण और विज्ञापनों के खिलाफ निगम की कार्रवाई जारी
पूर्व कांग्रेसी विधायक पर 1984 सिख कत्लेआम की गवाह को खरीदने के लगे आरोप
कांग्रेस पर बूथ कैह्रश्वचरिंग के लगे आरोप
हरियाणा को फिर किया शर्मसार
दहेज उत्पीडऩ केस में सुप्रीम कोर्ट ने पलटा खुद का निर्णय सेफगार्ड किया खत्म
गैर मान्यता प्राप्त निजी स्कूलों के प्रति हाईकोर्ट का रुख सख्त
पुलिस ने चलाया चेकिंग अभियान
सोनीपत में गौतस्करी के आरोप में युवक की पिटाई कर किया आधे सिर का मुंडन
घरौंडा से लापता व्यक्ति का शव रोहतक रजवाहे से मिला, सनसनी
चार साल पहले हुई हेल्थ काउंसलर की भर्ती फर्जीवाड़े में बड़ी कार्रवाई तत्कालीन सीएमओ, डिह्रश्वटी सीएमओ समेत नौ लोगों पर मामला दर्ज