समाचार ब्यूरो
11/04/2018  :  10:01 HH:MM
अकालियों ने किया कांग्रेस मुख्यालय का घेराव
Total View  381

नई दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा अपने उपवास में जानबूझकर 1984 सिख कत्लेआम के आरोपी जगदीश टाईटलर और सज्जन कुमार से मंच सांझा करने का दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने आरोप लगाया है।

कमेटी अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. के नेतृत्व में कांग्रेस मुख्यालय पर आज प्रदर्शन करते हुए सैंकड़ों सिखों ने राहुल गांधी को इस गलती के लिए सिख कौम से माफी मांगने तथा आरोपी नेताओं को पार्टी से बाहर निकालने की मांग की है। शिरोमणी अकाली दल दिल्ली प्रदेश तथा दिल्ली कमेटी सहित कई सिख संगठनों के कार्यकर्ताओं ने रोष मार्च के दौरान कांग्रेस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। प्रदर्शनकारियों ने हाथों में तख्तीया पकड़ी हुई थी। जिसमें कांग्रेस द्वारा कातिलों को बचाने संबंधी नारे लिखे हुए थे। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए जी.के. तथा कमेटी के महासचिव मनजिन्दर सिंह सिरसा ने गांधी परिवार पर सिखों के कथित कातिलों को बचाने का आरोप लगाया। जी.के. ने कहा कि 1984 सिख कत्लेआम को जिस प्रकार पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने ‘‘बड़ा पेड़ गिरता है, तो धरती हिलती है’’ कहकर जायज ठहराया था, उसी तर्ज पर राहुल गांधी ने टाईटलर और सज्जन को अपने साथ बिठाकर सियासी संरक्षण देने का प्रयास किया है। यह जांच
ऐजेंसियां तथा कांग्रेसीयों को संदेश देने की कोशिश थी कि धरती हिलाने वालों के बुरे दिनों में भी हम साथ खड़े हैं। जी.के. ने राहुल गांधी को दलितों और अल्पसंख्यकों के नाम पर नौटंकी बंद करने की सलाह देते हुए दोनों आरोपी नेताओं को पार्टी से बाहर करने की सलाह दी।अकाली नेताओं ने टाईटलर तथा सज्जन कुमार
के पुतलों को पेड़ पर लटका कर सांकेतिक फांसी देने के बाद आग के हवाले कर दिया। पुलिस द्वारा इस अवसर पर जी.के., पूर्व कमेटी अध्यक्ष अवतार सिंह हित, वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरमीत सिंह कालका, धर्मप्रचार कमेटी चेयरमैन परमजीत सिंह राणा, कमेटी सदस्य विक्रम सिंह रोहिणी, सर्वजीत सिंह विर्क एवं अकाली नेता हरबख्शीस सिंह को गिरफ्तार कर तुगलक रोड थाना ले गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में अकाली नेता एवं कमेटी सदस्य मौजूद थे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4668303
 
     
Related Links :-
बदइंतजामी और लापरवाही का दर्दनाक परिणाम है अमृतसर की घटना : गोयल
प्रजा को संतुष्ट रखने के लिए उन्होंने मां सीता को अग्नि परीक्षा देने के लिए कहा श्री राम के लिए परिवार से बड़ा राजधर्म : अलका गौरी
महिलाओं का उत्पीडऩ करने वाले रावण रूपी राक्षसों का अन्त जरूरी : रविन्द्र जैन
रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में कटोरा लेकर निकलेंगे नवीन जयहिंद
नवजोत सिद्धू के बचाव में आए पूर्व रेल मंत्री बंसल
जलनिकासी के कार्य की समीक्षा बैठक में बोले कृषि मंत्री जलभराव की समस्या से निपटने के लिए तेजी लाएं : धनखड
एसएफआई जिला कमेटी ने काली पट्टी बांध कर जताया रोष
रेल दुर्घटना को लेकर स्‍थानीय लोगों में रोष
राजनीति के भेंट चढ़े सुलगते सवाल
पूर्णाहूति के साथ सम्पन्न हुआ रामकथा महोत्सव