समाचार ब्यूरो
11/04/2018  :  10:03 HH:MM
नानक शाह फकीर के प्रदर्शन को सुप्रीम कोर्ट की हरी झंडी
Total View  389

नई दिल्ली विवादित फिल्म नानक शाह फकीर को सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिल गई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब सेंसर बोर्ड ने फिल्म को प्रमाणपत्र दे दिया है, तो किसी और को उसे रोकने का अधिकार नहीं है।

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों सरकारों को निर्देश जारी किए हैं कि वे फिल्म रिलीज के लिए कानून व् य व स् थ ा बनाएं। कोर्ट अब 8 मई को इस मामले की अगली सुनवाई करेगा। बता दें कि सिख धर्म की सर्वोच्च संस्था अकाल तख्त फिल्म नानक शाह फकीर के विरोध कर रही है। उसने फिल्म को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है। अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि हम लोगों ने विवादित फिल्म नानक शाह फकीर को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया है। हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म पर किसी तरह का कोई प्रतिबंध नहीं लगाया है। ऐसे में फिल्म अब तय तारीख पर ही रिलीज होगी। गौरतलब है कि फिल्म 13 अप्रैल को रिलीज होनी है। फिल्म में सिख गुरु गुरुनानक देव पर दिए अंशों पर आपत्ति जता कर सिख गुरुद्वारा प्रबंध कमेटी फिल्म का विरोध कर रही है। उनका कहना है कि सिख गुरु को जीवित स्वरूप में दिखाए जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती है। जत्थेदार ने कहा कि सिख सेंसर बोर्ड की स्थापना की जाएगी और सिनेमा
निर्माताओं के लिए सिख और सिख धर्म से संबंधित किसी भी योजना पर काम करने से पहले बोर्ड से अनुमति लेना आवश्यक किया जाएगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4305078
 
     
Related Links :-
मंगलौरा चैंक पर मोबाइलों की दूकान में सेंध लगाने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे
किशोरी का घर से अपहरण कर किया दुष्कर्म
कुरूक्षेत्र के किसानों ने जलाई सर्वाधिक पराली
आईपीएस विवाद : रेप पीडि़ता बोली बाबा उदय सिंह की सरप्रस्ती में विशेष टास्क फोर्स का ऐलान
मरते दम तक जेल में रहेगा रामपाल
14 साल से पुलिस की आंखों में धूल झोंक रह रहा था मंदिर मे
प्रवासी विवाहिता से तीन युवकों ने किया गैंग रेप
महिला ने लगाया दो भाइयों पर रेप का आरोप बेटी के साथ भी अश्लील हरकतें करने का आरोप
फर्जी तरीके से आरक्षित की अनुसूचित जाति की सीटे
करोड़ों के घोटाले करने की मंशा से लाए गए टेंडरों को तुरंत रद्द किया जाए : स्वामी