समाचार ब्यूरो
11/04/2018  :  10:07 HH:MM
सीपीईसी का अफगानिस्तान तक विस्तार कर रहा है चीन
Total View  437

नई दिल्ली चीन के महत्वाकांक्षी वन बेल्ट वन रोड (ओबीओआर) प्रोजेक्ट के तहत विवादास्पद चीन पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर (सीपीईसी) का विस्तार अफगानिस्तान तक किया जा रहा है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि ओबीओआर ने एशिया के आर्थिक सहयोग को नई ऊर्जा दी है और महाद्वीप को अपने अंतरराष्ट्रीय संबंधों को फिर से आकार देने में सहयोग किया है।
यह जानकारी चीन के बोआवो फोरम फॉर एशिया के वार्षिक सम्मेलन के इतर एशियन कॉम्पिटीटिवनेस एनुअल रिपोर्ट 2018 में दी गई है। चीन ने दिसंबर में 50 अरब डॉलर की लागत से बनने वाली सीपीईसी परियोजना का विस्तार अफगानिस्तान तक करने की घोषणा दिसंबर में की थी, जिस पर भारत ने चिंता जताई थी। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक में सीपीईसी का विस्तार अफगानिस्तान तक करने की पेशकश की थी। 50 अरब डॉलर के इस चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरिडोर के पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से गुजरने का प्रस्ताव है। भारत इसे अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए खतरा मानते हुए इस प्रोजेक्ट का विरोध कर रहा है। पिछले साल अगस्त में आई एक रिपोर्ट ने इस गलियारे को भारत के लिए खतरा बताया था। दिसंबर में आई एक रिपोर्ट में कहा गया था कि इस प्रोजेक्ट के चलते चीन पाकिस्तान को एक बड़े कर्जे के बोझ से दबा देगा।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6283741
 
     
Related Links :-
कुछ दिन पूर्व दी थी धमकी मेक्सिको सीमा पर दीवार के लिए डॉनाल्ड ट्रंप लगाएंगे आपातकाल..
बांग्लादेश: शेख हसीना की शानदार जीत, चौथी बार बनेंगी प्रधानमंत्री
मालदीव को भारत देगा 1.4 अरब डॉलर की आर्थिक सहायता दोनों देशों के बीच चार समझौते पर हस्ताक्षर
जी-२० सम्मेलन संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस से मिले प्रधानमंत्री मोदी जलवायु परिवर्तन की गंभीर स्थिति पर की चर्चा
एटमी हथियार वाले जंग नहीं कर सकते दोस्ती ही बचा है एक रास्ता : इमरान
मोदी को सार्क सम्मेलन के लिए निमंत्रित करेगा पाकिस्तान
ननकाना साहिब रास्ते पर खालिस्तान के पोस्टर
मोदी मालदीव के राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में हुए शामिल
नागेश्वर राव अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त
पाक की आतंकी सूची में हाफिज का संगठन नही