Breaking News
 
 
समाचार ब्यूरो
28/04/2018  :  09:36 HH:MM
६५ साल बाद गिरी नफरत की दीवार
Total View  365

सियोल रह-रह कर परमाणु हथियारों और मिसाइलों की धमकी देने वाले नॉर्थ कोरियाई नेता किम जोंग उन ने शुक्रवार सुबह जब अपने देश की सीमा लांघते हुए दक्षिण कोरिया की भूमि में प्रवेश किया तो पूरी दुनिया ने राहत की सांस ली। किम ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन से गर्मजोशी से मुलाकात की।

उनकी मुलाकात दोनों देशों की सीमा पर बने डिमिलिट्राइज जोन यानी डीएमजेड पर हुई। डीएमजेड पर बने गांव पनमूनजेओम के पीस हाउस में मून ने किम जोंग उन का खुले दिल से स्वागत किया। नार्थ कोरियाई नेता न्यूक्लियर संकट पर आयोजित अंतर कोरियाई सम्मेलन समिट में हिस्सा लेने के लिए साउथ कोरिया पहुंचे हैं।

दुनिया ने ली राहत की सांस

सम्मेलन को लेकर उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन बेहद उत्साहित थे और उन्होंने शुक्रवार सुबह पैदल ही सीमा पार करते हुए साउथ कोरियाई राष्ट्रपति का हाथ थाम लिया तो जैसे पूरी दुनिया ने राहत की सांस ली। किम जोंग उन 1950-53 के कोरियाई युद्ध के बाद साउथ कोरिया की भूमि पर कदम रखने वाले पहले नार्थ कोरियाई शासक हैं। इस दौरान किम ने माओ स्टाइल वाला सूट पहन रखा और उनके साथ आए प्रतिनिधमंडल के अधिकांश लोग मिलिटरी ड्रेस में थे।

किम ने कहा, इतिहास की शुरुआत

बैठक के बाद विजिटर्स डायरी में किम जोंग ने मुलाकात को ऐतिहिसक बताया। किम जोंग ने लिखा यहां से एक नया इतिहास लिखा जाएगा। हम शांति स्थापित करने वाले इतिहास के नए अध्याय की शुरुआत कर रहे हैं। अमेरिका ने भी इस बैठक का स्वागत किया है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5844895
 
     
Related Links :-
एक ट्वीट ने सऊदी अरब और कनाडा के रिश्तों में डाली दरार
मरनेवालों की संख्या 164 हुई 1,400 घायल, बचाव कार्य जारी
इस्लामिक देश के खिलाफ ‘मनौवैज्ञानिक युद्ध’ छेड़ रहा है अमेरिका: रुहानी
अमेरिका ने ईरान पर नए सिरे से फिर लगाया प्रतिबंध
अंतरिक्ष की फिऱ उड़ान भरेंगी सुनीता विलियम्स
तिब्बत के पहाड़ी क्षेत्रों के लिए इलेक्ट्रोमैगनेटिक रॉकेट लॉन्चर बना रहा है चीन
सुरक्षा का डर, राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण करने वाले हैं इमरान
नवाज शरीफ के स्वास्थ्य में सुधार फिर भेजा आडियाला जेल
लश्कर कमांडर अब्दुल रहमान को किया वैश्विक आतंकी घोषित
इंडोनेशिया में भूकंप के बाद हुए भूस्खलन में 500 से अधिक लोग फंसे