समाचार ब्यूरो
28/04/2018  :  09:42 HH:MM
जीएसटी बिल पर विशिष्ट पहचान संख्या देना अनिवार्य
Total View  347

नई दिल्ली > भारत में सेवा दे रहे राजनयिकों और बहुपक्षीय एजेंसियों के अधिकारियों को उन्हें आवंटित किया गया विशिष्ट पहचान संख्या (यूआईएन) का उद्धरण बिक्री बिल पर देना अनिवार्य है। शुक्रवार को वित्त मंत्री द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि विदेशी राजनयिक मिशनों और संयुक्त राष्ट्र निकायों से ऐसी शिकायतें आई हैं कि विक्रेता और ई-कॉमर्स साइटें जब उन्हें बिक्री करती हैं तो 15 अंकों के यूआईएन संख्या को रिकार्ड करने की अनिच्छुक होती है। बयान में कहा गया, यूआईएन एक 15 अंकों का विशिष्ट संख्या है, जिसे संयुक्त राष्ट्र (विशेषाधिकार और प्रतिरक्षा) अधिनियम 1947 के तहत अधिसूचित संयुक्त राष्ट्र संगठन या किसी बहुपक्षीय वित्त संस्थान और संगठन, विदेशी देशों के वाणिज्यदूतावास या दूतावास को आवंटित किया गया है। बयान में आगे कहा गया, विदेशी राजनयिक मिशनों और संयुक्त राष्ट्र निकायों को आपूर्ति करते समय यूआईएन की रिकार्डिग जरूरी है, ताकि वे भारत में चुकाए जाने वाले करों पर रिफंड प्राप्त कर सकें।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7125600
 
     
Related Links :-
अब चंडीगढ़-दिल्ली की सडक़ों पर दिखाई देंगी डीलक्स एसी बसे
व्यापारी वर्ग फार्म ‘सी’ के लिए तरसे
लगातार चौथे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ
फसल अवशेष प्रबंधन को 1100 करोड़ के पैकेज की घोषणा
रियलमी 1’ स्मार्टफोन ने मचाई हलचल, गुरुग्राम में लॉच
बढ़ती आबादी की जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन दशक तक 1० प्रतिशत वृद्धि की जरूरत : कांत
हरियाणा में निवेश को लेकर विदेशी निवेशकों में भारी उत्साह : मुख्यमंत्री
हरियाणा में 800 करोड़ के निवेश की परियोजना पर समझौता
कैट का सरकार के 30 बिलियन डिजिटल भुगतान लक्ष्य को समर्थन
तीन दिन बाद लगा बाजार की तेजी पर ब्रेक