समाचार ब्यूरो
02/05/2018  :  10:50 HH:MM
चेन स्मोकर किम ने मून से मुलाकात के दौरान नहीं लगाया सिगरेट का एक भी कश
Total View  436

सियोलत्न उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन धूम्रपान करने के आदी हैं। बिना सिगरेट पिए वह एक घंटे तक नहीं रह सकते, लेकिन दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे इन से मुलाकात के दौरान उन्‍होंने सिगरेट का एक भी कश नहीं लगाया। उन्होंने सिगरेट की जगह शराब का सेवन किया।
किम ने खुद इस बात कि पुष्टि की है कि उन्‍होंने शुक्रवार के ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन के दौरान शराब का लुत्‍फ उठाया था। दोनों नेताओं की बैठकों के दौरान किम ने मून की मौजूदगी में एक बार भी सिगरेट नहीं जलाई। जाहिर है कि किम ने ऐसा दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति के सम्मान में किया, जो उनसे उम्र में 31 वर्ष बड़े हैं। किम का ऐसा करना एक आश्चर्य से कम नहीं माना जा रहा है। दक्षिण कोरियाई अधिकारी इसका एक अन्य कारण यह भी बता रहे हैं कि किम ने यह स्वीकार किया था कि शांति और परमाणु निरस्त्रीकरण के बारे में वार्ता के बीच सिगरेट का सेवन करना अपमानजनक हो सकता है। बता दें कि परमाणु हथियारों और मिसाइलों की धमकी देने वाले उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन ने शुक्रवार को सीमा पार करके दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून से मुलाकात की थी। ऐतिहासिक शिखर वार्ता में शिरकत करने के लिए किम जोंग ने सीमा पार की थी। दोनों देशों के बीच शांति बहाली और परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर चर्चा हुई थी।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3975723
 
     
Related Links :-
कुछ दिन पूर्व दी थी धमकी मेक्सिको सीमा पर दीवार के लिए डॉनाल्ड ट्रंप लगाएंगे आपातकाल..
बांग्लादेश: शेख हसीना की शानदार जीत, चौथी बार बनेंगी प्रधानमंत्री
मालदीव को भारत देगा 1.4 अरब डॉलर की आर्थिक सहायता दोनों देशों के बीच चार समझौते पर हस्ताक्षर
जी-२० सम्मेलन संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस से मिले प्रधानमंत्री मोदी जलवायु परिवर्तन की गंभीर स्थिति पर की चर्चा
एटमी हथियार वाले जंग नहीं कर सकते दोस्ती ही बचा है एक रास्ता : इमरान
मोदी को सार्क सम्मेलन के लिए निमंत्रित करेगा पाकिस्तान
ननकाना साहिब रास्ते पर खालिस्तान के पोस्टर
मोदी मालदीव के राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में हुए शामिल
नागेश्वर राव अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त
पाक की आतंकी सूची में हाफिज का संगठन नही