समाचार ब्यूरो
11/05/2018  :  10:18 HH:MM
इजरायल ने ट्रंप का किया समर्थन, चीन ने किया विरोध
Total View  439

वाशिंगटन ईरान के साथ परमाणु संधि से पीछे हटने के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के निर्णय से विश्व चकित रह गया। अमेरिका के पारंपरिक एवं करीबी मित्र रहे फ्रांस, ब्रिटेन और जर्मनी ने इस पर चिंता जाहिर की, जबकि ईरान के विरोधियों इजराइल और सऊदी अरब ने इसका स्वागत किया।

इस संधि पर अमेरिका और ईरान के अलावा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अन्य चार देशों ब्रिटेन, फ्रांस, चीन और रूस तथा जर्मनी ने हस्ताक्षर किए हैं। यूरोपीय नेताओं ने कहा कि ट्रंप ने भले ही सहयोगी देशों को प्रतिबद्धता तोड़ धोखा दिया हो, वे संधि के लिए प्रतिबद्ध रहेंगे। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे, जर्मनी की
चांसलर एंजेला मर्केल, फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रोन और संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतेरेस ने ट्रंप को संधि रद्द नहीं करने को चेताया था। मे, मर्केल और मैक्रोन ने ट्रंप की घोषणा के बाद एक संयुक्त बयान में कहा कि वे इस संधि से जुड़े रहेंगे, क्योंकि इससे दुनिया में शांति स्थापित हुई। रूस और चीन ने भी ट्रंप के निर्णय पर निराशा जाहिर की। रूस ने कहा कि ट्रंप के संधि को रद्द करने का निर्णय बेहद निराशाजनक है। चीन ने भी ट्रंप के फैसले पर अफसोस जाहिर किया और इस संधि की सुरक्षा का निश्चय किया। वहीं ईरान ने चेतावनी दी कि यदि यूरोपीय देशों ने संधि की सुरक्षा का वादा नहीं दिया तो वह औद्योगिक स्तर पर यूरेनियम संवर्धन शुरू कर देगा। बता दें कि ईरान परमाणु समझौता तेहरान और छह वैश्विक शक्तियों के बीच 2015 में हुआ था।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8398471
 
     
Related Links :-
कुछ दिन पूर्व दी थी धमकी मेक्सिको सीमा पर दीवार के लिए डॉनाल्ड ट्रंप लगाएंगे आपातकाल..
बांग्लादेश: शेख हसीना की शानदार जीत, चौथी बार बनेंगी प्रधानमंत्री
मालदीव को भारत देगा 1.4 अरब डॉलर की आर्थिक सहायता दोनों देशों के बीच चार समझौते पर हस्ताक्षर
जी-२० सम्मेलन संयुक्त राष्ट्र महासचिव गुतारेस से मिले प्रधानमंत्री मोदी जलवायु परिवर्तन की गंभीर स्थिति पर की चर्चा
एटमी हथियार वाले जंग नहीं कर सकते दोस्ती ही बचा है एक रास्ता : इमरान
मोदी को सार्क सम्मेलन के लिए निमंत्रित करेगा पाकिस्तान
ननकाना साहिब रास्ते पर खालिस्तान के पोस्टर
मोदी मालदीव के राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण में हुए शामिल
नागेश्वर राव अंतरिम डायरेक्टर नियुक्त
पाक की आतंकी सूची में हाफिज का संगठन नही