समाचार ब्यूरो
12/05/2018  :  17:47 HH:MM
थाने में मौत पर हुआ जमकर बवाल
Total View  527

करनाल डेहा बस्ती क्षेत्र से नशीले पदार्थ बेचने के संदेह में पुलिस द्वारा पकड़े गए व्यक्ति की मौत से खफा लोगों ने जमकर बवाल काटा। विरोध करत रहे लोगों ने न केवल अस्पताल में हंगामा किया, बल्कि पुलिस थाने में जाकर तोड़-फोड़ की और पुलिस वालों को छुपकर जान बचाने के लिए विवश कर दिया। हंगामा कर रहे लोगों ने पुलिस थाना, यातायात पुलिस चौकी में तोड़-फोड़ की।

इतना ही नहीं पुलिस थाने में खड़े वाहनों को भी क्षति पहुंचाई। स्थिति बिगड़ती देखकर पुलिस की तरफ से गोलियां तक दागी गई। हंगामा बढ़ता देखकर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। दो पुलिसकर्मियों, एक होमगार्ड व एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ हत्या के आरोप में मामला दर्ज करने की कार्रवाही करवाकर
आक्रोशित लोगों को शांत किया। मिली जानकारी के अनुसार रात को डेहा बस्ती निवासी जयपाल उर्फ जैबा को सिटी थाना पुलिस नशीला पदार्थ बेचने के संदेह में पकड़ कर लाई। आरोप है कि थाने में मारपीट के दौरान जैबा की तबीयत बिगड़ गई। उसे मेडिकल कालेज ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मौत
की खबर मिलते ही मृतक के परिजन मेडिकल कालेज पहुंच गए और वहां जमकर हंगामा किया। हंगामे को देखे हुए पुलिस बल तैनात किया गया। आज सुबह रोषजदा लोगों ने जैबा की मौत के लिए कथित रूप से दोषी कहे जाने वाले पुलिस कर्मियों को सबक सिखाने के लिए पुलिस थाने पर धावा बोल दिया। इन लोगों ने थाने में जमकर तोडफ़ोड़ की। थाने में रखा सामान, खिडक़ी, दरवाजों के शीशे तक तोड़ डाले। कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। लोगों का थाने पर धावा बोलने से थाने में मौजूद पुलिसकर्मी हक्के-बक्के रह गए। बताते हैं कि पुलिस कर्मचारी बचाव के लिए छुपकर भागने लगे। कई पुलिसकर्मियों ने तो उपद्रवियों से बचने के लिए कमरों के दरवाजे तक बंद कर लिए। मामला उग्र होता देखकर पुलिस वालों को गोली चलाकर अपनी जान बचानी पड़ी।

उधर कल्पना चावला मेडिकल कालेज में जब मृतक के परिजन जबरदस्ती शव को ले पहुंचे तो पुलिस ने विरोध किया। इस दौरान लोगों व पुलिस के बीच टकराव हो गया। लोगों के उग्र तेवर देखकर पुलिस पीछे हट गई। बाद में अस्पताल रोड पर पुलिस को हलका लाठीचार्ज करना पड़ा। स्थिति अत्यंत तनावपूर्ण बनी रही। परिजनों ने आरोप लगाया कि 4 पुलिसकर्मी उनके घर पर आए और वह जैबा को पीटते हुए ले गए। थाने में ले जाकर भी उसके साथ मारपीट की, जिस कारण उसकी मौत हुई है। उनका कहना है कि जयपाल कबाड़ी का काम किया करता था। पुलिसकर्मी उस पर झूठा इल्ज़ाम लगा रहे हैं। उनका आरोप है कि शव को मेडिकल कालेज में छोड़ पुलिसकर्मी वहां से फरार हो गए। पुलिस अधिकारियों ने स्थिति बिगड़ती देखकर मौके पर पहुंचकर उपद्रव पर उतारू लोगों को शांत किया।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3114963
 
     
Related Links :-
कौशल गैंग के तीन सदस्य अवैध हथियार के साथ काबू
सुखबीर बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ वारंट जारी अगली सुनवाई 29 अप्रैल को
लंगर की करोड़ों रुपए की सब्जी चोरी कोर्ट पहुंची
करनाल पुलिस से मुठभेड़ में पांच लाख का इनामी बदमाश ढ़ेर
समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट केस में आया फैसला असीमानंद सहित सभी चारों आरोपी बरी
नीरव मोदी लंदन में गिरफ्तार
आखिर क्यों अवैध कब्जाधारियों पर मेहरबान नगरपालिका!
आयोग के कैं प ऑफिस/कोर्ट में 20 मामलों की सुनवाइ
पत्रकार निराला मामला: एनसीएससी ने दिए सीबीसीआईडी को जांच के आदेश
चंदा कोचर ने टैक्स हैवेन में जमा किए वीडियोकॉन और एस्सार समूह से मिले रिश्वत के पैसे