Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
16/05/2018  :  17:01 HH:MM
37 फिलिस्तीनियों की मौत 1600 से ज्यादा घायल
Total View  612

गाजा यरुशलम के गाजा में अमेरिकी दूतावास के खुलने से पहले सोमवार को हिंसक प्रदर्शन हुए। इस हिंसक प्रदर्शन में 37 फिलिस्तीनियों के मारे जाने की खबर है,जबकि 1600 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। कई मृतकों की पहचान अभी तक नहीं हुई है। गाजा-इजराइल सीमा के पास पत्रकारों को गोलियों की आवाज सुनाई दी।

इजरायल रक्षा बलों (आईडीएफ) ने सोमवार को एक बयान जारी किया जिसमें फिलिस्तीनी आतंकवादी समूह हमास पर आरोप लगाया। आईडीएफ का अनुमान है कि लगभग 35 हजार लोग,गाजा और इजराइल के बीच सीमा पर 12 अलग- अलग स्थानों पर इक_े हुए थे और सीमा से लगभग एक किलोमीटर दूर एक टेंट
में हजारों लोग इक_े हुए थे। सेना ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने सीमा पर स्थित इजराइली सैनिकों पर शराब की बोतलों में आग लगा कर फेंका, टायर जलाया और पत्थरबाजी की। आईडीएफ ने यह भी कहा कि कि उसने विशेष रूप से हिंसक प्रदर्शन के दौरान, मिस्र के साथ सीमा के नजदीक रफह के पास तीन सशस्त्र फिलिस्तीनियों द्वारा हमला गया किया था। फिलीस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 443 लोग गोला बारूद, 320 लोग टियर गैस और 3 लोग रबर की गोलियों से घायल हुए। फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक,पहला शिकार 21 वर्षीय अनास हमदान कदीह था, जिस खान यूनिस के पूर्व में इजराइली सेना ने गोली मार दी थी। इससे पहले इजराइल की सेना ने गाजा पर हवाई-गिराए गए पर्चे के जरिए लोगों को चेतावनी दी थी कि वे उस बाड़ के रास्ते ना आए जो गाजा को इजराइल से अलग करता है। अमेरिका ने मंगलवार को तेल अवीव से अपना दूतावास स्थानांतरित कर यरुशलम में खोल दिया। यह 2014 के बाद से सबसे भीषण हिंसा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के विवादास्पद कदम के तहत वहां अपना दूतावास खोलने की दिसंबर में घोषणा की थी। यरुशलम में दूतावास खुलने पर ट्रंप ने सुबह के अपने ट्वीट में इसे इजराइल के लिए एक महान दिन बताया। उन्होंने सुबह के इस ट्वीट में हिंसा का कोई जिक्र नहीं किया,लेकिन कहा,इस्राइल के लिए एक महान दिन।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2447800
 
     
Related Links :-
भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग
पाक प्रधानमंत्री इमरान खान को एसजीपीसी ने दिया नगर कीर्तन में शामिल होने का निमंत्रण
इमरान बोले- लूटा धन वापस करें नवाज-जरदारी
एफबीआई ने लंदन की कोर्ट में किया दावा पाकिस्तान में ही रह रहा है अंडरवल्र्ड डॉन दाऊद इब्राहिम
किम और ट्रम्प की बैठक ऐतिहासिक : उत्तर कोरिया
ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने किया ट्वीट मोदी संग ली सेल्फी, कहा ‘कितना अच्छा हैं मोदी’
ईरान पर अमेरिका ने लगाए बेहद कड़े प्रतिबंध
रावलपिंडी में बम विस्फोट, बाल-बाल बचा मसूद अजहर
चीन में 6 तीव्रता का भूकंप, 11 की मौत, 122 जख्मी
सर्जिकल स्ट्राइक और क्रिकेट मैच की तुलना ठीक नहीं : पाक सेना