समाचार ब्यूरो
16/05/2018  :  17:22 HH:MM
सुशील को कभी डांटने की जरूरत नहीं पड़ी : सतपाल
Total View  526

कुश्ती के द्रोणाचार्य महाबली सतपाल ने युवा खिलाडिय़ों को सुशील कुमार जैसा आदर्श शिष्य बनने का संदेश देते हुएमंगलवार को कहा कि उन्हें पिछल े 24 साल म ें सश्ु ाील को कभी डांटने की जरूरत नहीं पड़ी।
 पदम् भूषण से सम्मानित सतपाल ने यहां तितिक्षा पब्लिक स्कूल रोहिणी में एक स्वागत और सम्मान समारोह में यह बात कही। समारोह में स्कूल की तरफ से सतपाल और सुशील का सम्मान किया गया। सतपाल ने कहा, सुशील एक ऐसा खिलाड़ी है जिसने हर जगह देश का झंडा लहराया है। सुशील 11 साल की उम्र से आज तक मेरे साथ है। पिछले 24 साल में मुझे उसे डांटने की कभी जरूरत नहीं पड़ी और दोबारा उसे समझाने की जरूरत नहीं पड़ी। महाबली सतपाल ने छात्रछा त्राओं से कहा, आप भी अपने फील्ड में आगे जाना चाहते हो इसलिए हमेशा लक्ष्य ऊंचा रखो। गुरु और माता-पिता का दर्जा सिर्फ भगवान से कम होता है इसलिए हमेशा गुरु और माता-पिता का सम्मान करो। मैं इस तरह का कार्यक्रम आयोजित करने के लिए स्कूल प्रबंधन को बधाई देता हूं। उन्होंने बच्चों से कहा, पता नहीं आप में से कौन सुशील से भी आगे निकल जाए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7445007
 
     
Related Links :-
वॉर्नर की वापसी से सनराइजर्स के प्रशंसकों की उम्मीदें बढ़ीं
देश की मुख्य क्रिकेट स्पर्धा में ग्राडो की धमाकेदार एंट्री
अशोका यूनिवर्सिटी की टीम टाटा क्रूसिबल कैंपस क्विज 2019
हरियाणा स्टाइल कबड्डी प्रतियोगिता में 25 टीमों ने लिया हिस्सा
अखिल भारतीय फ्रीस्टाईल इनामी कुश्ती 22 से 24 मार्च
जिला स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता 16-17 मार्च को
गंभीर को पद्म श्री सम्मान
बांग्लादेश क्रिकेट स्वदेश रवाना हुई टीम
यूके्रन से सोना जीत लाए गुरुग्राम के वेट लिफ्टर
पिंकाथन दौड़ : धावकों को बांटे गए पुरस्कार