समाचार ब्यूरो
22/05/2018  :  12:44 HH:MM
मुलेठी है कई रोगों की दवा
Total View  378

स्वाद में मीठी मुलेठी कैल्शियम, ग्लिसराइजिक एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबायोटिक, प्रोटीन और वसा के गुणों से भरपूर होती है। इसका इस्तेमाल नेत्र रोग, मुख रोग, गले रोग, पेट, सांस विकार, हृदय रोग, घाव के उपचार के लिए सदियों से किया जा रहा है। यह वात, कफ, पित्त तीनों दोषों को शांत करके कई रोगों के उपचार में रामबाण का काम करती है।
मुलेठी के क्वाथ से नेत्रों को धोने से नेत्रों के रोग दूर होते हैं। मुलेठी की मूल चूर्ण में बराबर मात्रा में सौंफ का चूर्ण मिलाकर एक चम्मच प्रात: सायं खाने से आंखों की जलन मिटती है तथा नेत्र ज्योति बढ़ती है। मुलेठी को पानी में पीसकर उसमें रूई का फाहा भिगोकर नेत्रों पर बांधने से नेत्रों की लालिमा मिटती है। मुलेठी कान और नाक के रोग में भी लाभकारी है! मुलेठी और द्राक्षा से पकाए हुए दूध को कान में डालने से कर्ण रोग में लाभ होता है! 3-3 ग्राम मुलेठी तथा शुंडी में छह छोटी इलायची तथा 25 ग्राम मिश्री मिलाकर, क्वाथ बनाकर 1-2 बूंद नाक में डालने से नासा रोगों का शमन होता है। मुंह के छाले मुलेठी मूल के टुकड़े में शहद लगाकर चूसते रहने से लाभ होता है। मुलेठी से खांसी और गले के रोग भी दूर होते है। सूखी खांसी में कफ पैदा करने के लिए इसकी एक चम्मच मात्रा को शहद के साथ दिन में 3 बार चटाना चाहिए। इसका 20-25 मिली क्वाथ प्रात: सायं पीने से सांस नलिका साफ हो जाती है। मुलेठी से हिचकी भी दूर होती है। मुलेठी हृदय रोग में भी लाभकारी है। 3-5 ग्राम मुलेठी को 15-20 ग्राम मिश्री युक्त जल के साथ प्रतिदिन नियमित रूप से सेवन करने से हृदय रोगों में लाभ होता है। इसके सेवन से पेट के रोग में भी आराम मिलता है। मुलेठी का क्वाथ बनाकर 10-15 मिली मात्रा में पीने से पेट का दर्द ठीक होता है। त्वचा रोग भी यह लाभकारी है। पफोड़ों पर मुलेठी का लेप लगाने से वे जल्दी पककर फूट जाते हैं। मुलेठी और तिल को पीसकर उससे घृत मिलाकर घाव पर लेप करने से घाव भर जाता है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   6299253
 
     
Related Links :-
ईको ग्रीन कंपनी पर अरावली की पहाडियों में खुले में कूड़ा जलाने का आरोप
पौधरोपण में नजर आया महिला सशक्तिकरण का प्रभाव
ग्रीन गुरुग्राम के लिए पौधागिरी अभियान में सहयोग दें: उपायुक्त
पीडि़त बच्चों ने दिया कैंसर से बचने का संदेश
तीन दिन से फैली राख के कारण लग रहा है जाम
कूड़ा उठान की समस्या के चलते स्थानीय निवासी खासे परेशान
आयुष्मान भारत-हरियाणा स्वास्थ्य संरक्षण मिशन का शुभारंभ जल्द
कैंसर से रहें सावधान
लघु सचिवालय परिसर में उपायुक्त ने किया पौधा रोपण
पौधागिरी अभियान : निशुल्क वितरित किए 50 लाख पौधे