समाचार ब्यूरो
09/06/2018  :  13:29 HH:MM
पेट्रोल-डीजल को जीएसटी में लाने पर हो सकता है विचार
Total View  441

नई दिल्ली जीएसटी परिषद की अगली बैठक में पेट्रोल-डीजल व प्राकृतिक गैस को माल एवं सेवा कर (जीएसटी) व्यवस्था के दायरे में लाने पर विचार कर सकता है। उद्योग मंडल पीएचडी चैंबर ने यहां जारी एक वक्तव्य में जीएसटी परिषद के संयुक्त सचिव धीरज रस्तोगी के हवाले से कहा कि जीएसटी के दायरे से बाहर पांच पेट्रोलियम उत्पादों में विमानन टरबाइन ईंधन (एटीएफ) एक अन्य पेट्रोलियम उत्पाद होगा जिसे नई अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था के दायरे में लाया जा सकता है।

वक्तव्य के अनुसार प्राकृतिक गैस को प्रायोगिक आधार पर जीएसटी के दायरे में लाने के प्रस्ताव को जीएसटी परिषद की अगली बैठक में विचार के लिये पेश किया जा सकता है। हालांकि, उन्होंने प्राकृतिक गैस और एटीएफ को जीएसटी के दायरे में लाने की स्पष्ट समयसीमा के बारे में कुछ नहीं बताया। केरोसीन, नाफ्था और एलपीजी जैसे पेट्रोलियम उत्पाद पहले से ही जीएसटी के दायरे में हैं जबकि पांच उत्पादों।।। कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, विमान ईंधन, डीजल तथा पेट्रोल को फिलहाल जीएसटी के दायरे से बाहर रखा गया है। रस्तोगी ने कहा, ‘‘ पेट्रोलियम न केवल केंद्र का बल्कि राज्य के राजस्व का बड़ा स्रोत है। प्राकृतिक गैस के मामले
में इसे जीएसटी के दायरे में लाने को लेकर थोड़ी सहमति है। इसीलिए यह पहला पेट्रोलियम उत्पाद हो सकता है जिसे जीएसटी के दायरे में लाया जाए।’’ जीएसटी पर कार्यशाला को संबोधित करते हुए रस्तोगी ने यह भी संकेत दिया कि सरकार का संभवत: जीएसटी के अंतर्गत ‘आपूर्ति’ शब्द की परिभाषा की समीक्षा का भी इरादा है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2312522
 
     
Related Links :-
आरआरटीएस कॉरीडोर के एक हिस्से की डीपीआर को मंजूरी मिली
ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के लिए दुकानदारों को जागरूक करने का अभियान
घाटा कम करने से ही मजबूत होगी बैंकिंग प्रणाली : कर्नम शेखर
सनकिस्ट लाई सेहतमंद जूस -डीटॉक्स और रीफ्यूल
पालिका क्षेत्र में खुले सैकड़ों मैरिज पैलेस-बैंक्वेट हाल होंगे नियमित
वीवो ने बनाई पंजाब में आक्रामक विस्तार रणनीति
टाटा सन्ज़ के चेयरमैन ने मुख्यमंत्री के साथ की मीटिंग पंजाब में ताज होटल के बड़े स्तर पर विस्तार की चर्चा
नियमित रूप से होगा औद्योगिक इकाइयों का कचरा निस्तारण
मैक्स फैशन ने हाई स्ट्रीट फैशन विंटर रेंज पेश की
टैफे ने भारत में कॉम्पैक्ट ट्रैक्टर के निर्माण के लिए जापान की इसेकि के साथ अनुबंध किया