समाचार ब्यूरो
10/06/2018  :  09:34 HH:MM
हर विभाग में विवादित रहे हैं खेमका
Total View  387

चंडीगढ़ हर सरकार में सुर्खियों में रहने वाले आईएएस अधिकारी अशोक खेमका एक बार फिर से सुर्खियों में है। कारण है खेलकूद विभाग द्वारा खिलाडिय़ों की आमदन के संबंध में जारी की गई अधिसूचना। विभाग की इस अधिसूचना को मुख्यमंत्री खट्टर ने भले ही होल्ड पर डाल दिया हो लेकिन इन आदेशों के बाद खिलाडिय़ों ने जहां सरकार के विरोध में झंडा उठा लिया है वहीं आज दिनभर प्रदेश के आईएएस अधिकारियों ने इस अधिसूचना को लेकर चर्चाओं का दौर जार रहा।

इस मुद्दे पर जहां जमकर राजनीति हो रही है वहीं अफसरशाही भी आमने-सामने हो गई है। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री खट्टर ने इस मामले में किरकिरी होने के बाद अफसरशाही के खिलाफ कार्रवाई का मन बना लिया है। जिसके चलते सीएमओ में तैनात आईएएस अधिकारियों ने इस पूरे प्रकरण के लिए अशोक खेमका को
जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। खेमका जिस दिन से खेलकूद विभाग में गए हैं तभी से सरकार और खिलाडिय़ों के बीच विवाद चल रहे हैं। अशोक खेमका वर्तमान सरकार के जिस भी विभाग में रहे हैं वहां उनका संबंधित मंत्री या सरकार के साथ विवाद हुआ है। हरियाणा में सत्ता परिवर्तन के तुरंत बाद सरकार ने अशोक खेमका को परिवहन विभाग में आयुक्त की जिम्मेदारी दी गई थी। उस समय हरियाणा में परिवहन विभाग रामबिलास शर्मा के पास था। खेमका ने ओवरलोढ वाहनों के खिलाफ अभियान छेड़ते हुए एक अधिसूचना जारी कर दी। जिसके पूरे प्रदेश में ट्रांसपोर्ट आप्रेटरों ने खेमका के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। तब हरियाणा सरकार ने परिवहन विभाग के आदेशों को होल्ड करते हुए खेमका का तबादला कर दिया था।इसके बाद खेमका तथा लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह के बीच भी कथित तौर पर एक विवाद सामने आया था। जिसे मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद शांत कर दिया गया। समाज कल्याण विभाग में तैनाती के दौरान अशोक खेमका का अपने ही विभाग के मंत्री कृष्ण बेदी के साथ एक गाड़ी को लेकर विवाद हुआ था। जिला स्तरीय एक अधिकारी की गाड़ी मंत्री के पास होने के मुद्दे पर खेमका ने पत्र लिखते हुए टवीट् भी किया था। जिसके बाद सरकार ने खेमका का उक्त विभाग में से भी तबादला कर दिया। इस बीच वर्तमान सरकार के कार्यकाल के दौरान एक समय ऐसा भी आया जब मुख्यमंत्री ने भी अशोक खेमका के विरूद्ध सख्त शब्दावली का इस्तेमाल किया था। अब खेलकूद विभाग में तैनात होने  के बाद खिलाडिय़ों के सम्मान समारोह को लेकर विवाद शांत भी नहीं हुआ था कि नया विवाद शुरू हो गया है।इस घटनाक्रम में यह तय माना जा रहा है कि प्रदेश सरकार आने वाले दिनों में अशोक खेमका का तबादला किसी दूसरे विभाग में कर सकती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1564608
 
     
Related Links :-
पारंपरिक खेलों के उत्थान पर ध्यान दे सरकार: महेश यादव
जिला स्तरीय बाल प्रतियोगिताएं
बीकेटी हरियाणा स्टीलर्स का आधिकारिक पार्टनर बना
बाल भवन में राष्ट्रीय पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन
दूध-दही का खाणा! ...अब मुल्क की खेल राजधानी भी है आपका हरियाणा
खेल महाकुंभ की विधिवत शुरूआत
23 खिलाडिय़ों को 15.55 करोड़ रुपए मिले राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों के विजेताओं को सीएम ने दिया इनाम
जालंधर में 14 अक्तूबर से ग्लोबल कबड्डी लीग की शुरुआत : सोढी
रोमांचक मोटरसाइकल स्टंट शो का आयोजन
खिलाडिय़ो का हौंसला बढ़ाने में अहम रोल निभाएगी नयी खेल नीति: राणा सोढी