समाचार ब्यूरो
13/06/2018  :  11:36 HH:MM
सुल्तानपुर गउशाला में सडक़ के विरोध में डीसी को ज्ञापन
Total View  7

गुरुग्राम गुरुग्राम की सुल्तानपुर गउशाला में बीच से निकाली जा रही सडक़ के विरोध में मंगलवार को गउशाला कमेटी के सदस्य एवं शहर के बुद्विजीवी लोगों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम पर डीसी को ज्ञापन सौंपा।
लोगों ने इसका विरोध करते हुए सरकार से इस अधिग्रहण को वापस लेने व गउशाला को उजाडऩे से बचाने की मांग की है। गउशाला कमेटी के सदस्यों का कहना है कि गउशाला गुरुग्राम एक प्राचीन गउशाला है जिसका निर्माण 1906 में हुआ था। गुरुग्राम गउशाला में गौ की संख्या अधिक होने तथा जगह की परेशानी के चलते ग्राम सुलतानपुर (फरूखनगर) में करोड़ों रुपये की लागत से वर्षों पहले गउशाला का विस्तार किया गया था जो आज भी प्रदेश की प्रमुख गउशालाओं में से एक है। इसमें आज भी लगभग 1500 से अधिक गउ की संख्या है और इसकी गउशाला कमेटी द्वारा बहुत अच्छी देख-रेख की जाती है। 2013 में नये भूमि अधिग्रहण के तहत तत्कालीन सरकार ने 31/ 12/2013 में गऊ शाला को भूमि अधिनियम के सैकशन 4 के नोटिस जारी किए जो कि वास्तव मे हर तरीके से गलत है व गैर कानूनी है जिस दिन ये नोटिफिकेशन हुआ उस दिन प्रदेश मे नया भुमि अधिनियम कानून लागू हो गया था। प्रशासनिक अधिकारियों की मिली भगत के चलते जान बूझकर इसे दिनांक 31/12/ 2013 में दिखाया गया ताकी इसे ठीक माना जाये। यह नोटिफिकेशन सैक्टर-1 फरूखनगर के लिए किया गया था जिसमें दिसम्बर 2014 मे सेक्शन 6 का नोटिस दिया गया था। यह पूरी तरह से गैर कानूनी था बाद मे अपनी गलती का एहसास होने पर हुड्डा विभाग ने लगभग 16 एकड़ को छोडकऱ बाकी समस्त भूमि को डिनोटिफिकेशन कर अधिग्रहण से मुक्त कर दिया गया। लेकिन उसमे से सुल्तानपुर गांव कि लगभग 4 एकड़ जमीन अधिग्रहण की जिस मे गऊशाला के सभी पक्के शेड व कर्मचारियों के कमरे, एक बड़ा गेट जो कि अधिग्रहण कि कारवाई से पहले बने हुए है उन को एनवायरनमेंट मे दिखाया गया है। प्रशासन गऊ शाला के भवन को तोडकर कोई सडक़ बनाने पर विचार कर रहे है। जबकि गउशाला के साथ लगी जमीन को अधिग्रहण नही किया जा रहा है। प्रशासन गलत नीतियों के चलते इस  गउशाला को तोडऩे पर उतारू है। यह किसी भी तरीके से जनहित में नहीं है। यह निर्णय सैकड़ों गउभक्त एवं गउशाला में आस्था रखने वाले लोगों की विचारधारा के बिल्कुल खिलाफ है। मुख्यमंत्री से मांग है कि जनहित में मामले पर संज्ञान लेते हुए गउशाला को तोडऩे से बचाए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9841633
 
     
Related Links :-
बी.एस.एफ. ने मनाया चौथा ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’
यूपी में टी-शर्ट पहनकर सीएम योगी ने किया योग, राजनाथ भी रहे मौजूद
योग का प्राचीन विज्ञान भारत का आधुनिक विश्व को अमूल्य उपहार : उपराष्ट्रपति नायडू
योग हमारी प्राचीन जीवन पद्धति है : रमन मलिक
कबीर जयंती 28 को सरकारी तौर पर उत्सव की तरह मनायी जाएगी
मंत्री और आला अधिकारी बताएंगे विभागों की उपलब्धिया
फिर से विश्व गुरू बनने की राह पर है भारत : कविता जैन
बांध सुरक्षा विधेयक के प्रस्ताव को मोदी कैबिनेट से स्वीकृति
कांग्रेस ने की केंद्र सरकार की घेराबंदी
आईटीआई प्रशिक्षण पास आऊट युवाओं से आह्वïान