समाचार ब्यूरो
27/06/2018  :  13:01 HH:MM
पंजाब ऑन लाईन रजिस्ट्ररियां करने वाला पहला राज्य बना
Total View  439

चंडीगढ़ पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन देने के वायदे को पूरा करते हुए मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह 27 जून को जि़ला अमृतसर में ऑन -लाईन जायदाद रजिस्ट्रेशन प्रणाली को वीडियो कॉन्फ्ऱेंस के द्वारा शुरू करेंगे, जिससे पूरे पंजाब में ऑन लाईन रजिस्टरियाँ शुरू हो जाएंगी और ऐसा करने वाला पंजाब देश का पहला राज्य बन गया है।

क्लाउड -बेसड एन.जी. डी.आर.एस (नेशनल जैनरिक डाक्यूमेंट रजिस्ट्रेशन सिसटम) प्रणाली के द्वारा होने वाली ऑन लाईन रजिस्टरियों से आम लोगों को परेशानी और दफ्तरों के फ़ाल्तू चक्करों से निजात मिलेगी। जिक़्रयोग्य है कि मुख्यमंत्री ने ऑन लाईन रजिस्टरियों के पायलट प्रोजैक्ट की शुरुआत पिछले वर्ष नवंबर महीने में मोगा और आदमपुर से की थी और सिफऱ् आठ महीनों के समय में इस प्रोजैक्ट को 21 जिलों के 162 सब -रजिस्ट्रार। राजस्व मंत्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया ने कहा कि कागज़ मुक्त और जन समर्थकी इस प्रोजैक्ट का लोगों को फ़ायदा मिल रहा है और इससे पारदर्शिता आई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिन्दर सिंह ने वायदा किया था कि उनकी सरकार मुश्किल रहित और परेशानी मुक्त प्रशासन देगी और ऑन लाईन रजिस्टरियों के इस प्रोजैक्ट ने सरकार में लोगों का विश्वास बढ़ाया है। उन्होंने बताया कि जायदाद की रजिस्टरी के लिए समय लेने की तत्काल सुविधा भी जल्द शुरू की जायेगी। अतिरिक्त मुख्य सचिव -कम -वित्तीय
कमिश्नर राजस्व श्रीमती विन्नी महाजन ने बताया कि इस प्रोजैक्ट के अंतर्गत अब तक 90486 ऑन लाईन रजिस्टरियाँ हो चुकी हैं। ऑन लाईन रजिस्ट्रेशन के लिए वैबसाईट 222.ह्म्द्ग1द्गठ्ठह्वद्ग.श्चह्वठ्ठद्भड्डड्ढ. द्दश1.द्बठ्ठ का प्रयोग किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि मैनुअल रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की जगह पर ऑन -लाईन जायदाद रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया अपनाने के सार्थक नतीजे सामने आए हैं। जिक़्रयोग्य है कि ऑन -लाईन जायदाद रजिस्ट्रेशन की यह आधुनिक प्रणाली बहुत सरल और सुविधाजनक है। इसमें बहुत सी विशेषताएं हैं जैसे कि लोगों को चौबीस घंटे रजिस्ट्रेशन के विवरण और अपनी ज ा य द ा द स ं ब ं ध ी द स् त ा व े ज ़ अपलोड करने की सुविधा, आटोमैटिक स्टैंप ड्यूटी कैलकूलेट करने की सुविधा, कुलैकटर  रेटों पर आधारित रजिस्ट्रेशन फीस और अन्य फ़ीसों की जानकारी के अलावा वसीका नवीसों पर अनावश्यक निर्भरता को कम करना आदि शामिल है। 

रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया ख़त्म होने के उपरांत संबंधित व्यक्ति को एक मोबायल संदेश भेज दिया जाता है जिससे धोखाधड़ी का कोई अंदेशा न रहे। इस प्रणाली के द्वारा मुलाकात के लिए ऑन -लाईन समय लेने की सुविधा है जिससे लोग अपनी मजऱ्ी और सुविधा अनुसार रजिस्ट्रेशन के लिए समय और तारीख ले सकते हैं। डीड राईटरों द्वारा लिखे जाते दस्तावेज़ों को भी ऑन लाईन वैबसाईट पर डाल दिया गया है जिससे लोगों को फ़ाल्तू पैसा न ख़र्चना पड़े। ऐसे 16 दस्तावेज़ों को उपभोक्ता वैबसाईट से मुफ़्त डाउनलोड कर सकते हंै। इन दस्तावेज़ों में मनसूखी वसीयत नामा, मनसूखी मुख्तियार नामा आम, हिबा /दान पात्र नामा, गहने /रहननामा
कब्ज़ा, इकरार नामा, तक्सीम नामा, दुरस्ती रजिस्टरी नामा, वसीयत नामा, विक्री नामा गहने अधीन /बे बकायदगी रहन, विक्री नामा (गहने के हक), विक्री नामा /बेनामा, तबादला नामा, मुख्तियार नामा आम, पट्टा /किराया /रेंट नामा, गहने नामा बिल्ला कब्ज़ा और गोद नामा प्रमुख हैं।मुख्यमंत्री द्वारा ऑन -लाईन जायदाद रजिस्ट्रेशन प्रणाली को वीडियो कॉन्फ्ऱेंस के द्वारा जि़ला अमृतसर में शुरू करने के अवसर पर राजस्व विभाग से संबंधित केंद्रीय और प्रांतीय अधिकारियों के अलावा राज्य की सभी डिवीजनों के कमिश्नर और डिह्रश्वटी कमिश्नरज़ के अलावा एनआईसी पुणे, दिल्ली और पंजाब के अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। 






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   738576
 
     
Related Links :-
राजनीति में व्यस्तता के बावजूद लेखन कार्य भी जारी
नेशनल अकाली दल ने उग्रवादी संगठनों के पुतले जलाए
प्रधानमंत्री की बात को दोहराया, लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा आतंकियों ने बहुत बड़ी गलती है सैनिक जब चाहे कार्रवाई कर सकते है
शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी योजनाओं के माध्यम से बेटियों को सुखद वातावरण देने का प्रयास : कविता जैन
पुलवामा शहीदों के आश्रितों को एक करोड़ की सहायता दे पंजाब सरकार : विर्क
बचपन ह्रश्वले स्कूल जीरकपुर ने मनाया अपना 7 वां वार्षिक दिवस
वायुसेना ने दुश्मनों के दांत खट्टे करने के लिए पोखरण में दिखाया पराक्रम
कहीं भी छिपे हों, गुनहगारों को सजा जरूर मिलेगी : पीएम मोदी
शहीदों को हिंदुस्तान ने किया नमन
हर्षोल्लास के साथ गुरुग्राम लौटे कुंभ स्नान करने प्रयागराज गए श्रद्धालु