समाचार ब्यूरो
18/08/2018  :  17:00 HH:MM
पौधरोपण में नजर आया महिला सशक्तिकरण का प्रभाव
Total View  521

गुरुग्राम महिलाएं सामाजिक जिम्मेदारी निभाने में भी अब किसी से पीछे नहीं हैं। पौधारोपण जैसे सामाजिक कार्यों में सक्रियता से अपनी जिम्मेदारी निभाना महिला सशक्तिकरण का प्रभाव कहा जा सकता है।

सोहना क्षेत्र के गांव सहजावास व बादशाहपुर क्षेत्र के गांव शिवली में जल-वायु संरक्षण समिति के तत्वावधान में आयोजित पौधारोपण समारोह में महिलाओं को संबोधित करते हुए एल एल फाउंडेशन की अध्यक्ष श्रीमति संगीता यादव एवं सेल्फ हेल्थ ग्रुप की दीप्ती ढींढसा ने कहा कि आज महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। ग्रामीण महिलाएं भी अब चूल्हा चौका से फारिग होकर समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्व को भली प्रकार निभा रही हैं।

श्रीमति संगीता यादव ने कहा कि जब पर्यावरण प्रदूषण से मुक्ति पाने के लिए ग्रामीण महिलाएं पौधारोपण जैसे कार्यक्रमों में सक्रिय भूमिका निभाने के लिए आगे आने लगी हैं तो यह विश्वास किया जा सकता है कि हमारा पर्यावरण स्वस्थ होने में अब ज्यादा समय नहीं
लगेगा। सेल्फ हेल्थ ग्रुप की दीप्ति ढिंढसा ने कहा कि अभी तक ग्रामीण महिलाएँ पौधारोपण के प्रति अधिक रुची नहीं ले रही थी लेकिन अब उन्होंने इस कार्यक्रम में अपनी अदम जिम्मेदारी निभाने लगी हैं। श्रीमति यादव व श्रीमति ढिंढसा ने महिलाओं का आहवान किया कि वे प्रति वर्ष अपने गांव में जहां भी स्थान मिले वहां पौधारोपण करने में अपना योगदान दें। उन्होंने जल-वायु संरक्षण समिति के पौधारोपण अभियान की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस संस्था की बदौलत गुरुग्राम में विभिन्न स्थानों पर लाखों पौधे लगवाये हैं जिसका पूरे समाज को लाभ मिलेगा। इस अवसर पर सहजावास व शिवली गांव की स्थानीय महिलाओँ ने अपने गांव में सघन पौधारोपण अभियान चलाकर हर साल ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाने का संकल्प व्यक्त किया।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2287815
 
     
Related Links :-
होली के दौरान अपनी त्वचा को रंगों से कैसे बचाएं
कार्यालयों में कोई तंबाकू और धूम्रपान करता है तो चालान करें
गुरुग्राम में रेडक्रॉस भवन में रक्तदान शिविर
देश में कुपोषण की मार झेल रहे हैं 4.66 करोड़ नौनिहाल
प्राणियों के लिए स्वच्छ पर्यावरण का होना जरूरी : सुमेध
आर्ट ऑफ लिविंग से बदलती है मानसिक सोच
यूएनओ रिपोर्ट बढ़ते उत्सर्जन से दुनिया में एक चौथाई लोगों की जान को खतरा
पंजाब के 40 फीसदी लोगों को दिल की बीमारियों और स्ट्रोक का खतरा
प्रभावित किडनी आमंत्रित करती है बीमारियों को
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सोसाइटी के सदस्यों की बैठक उपायुक्त ने दिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश