Breaking News
पार्क ह्रश्वलाजा जीरकपुर में अदिरा ईवेंट्स का ‘ट्राइसिटी का करवा चौथ बैश’ संपन्न  |  भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा  |  भाजपा की सरकार होते हुए भी कालका ने विपक्ष जैसा शासनकाल सहन किया : प्रदीप चौधरी  |  भाजपा और कांग्रेस में दल बदल करवाने में लगी हुई है होड़ : योगेश्वर शर्मा  |  कांग्रेस ही भारत को न.1 बना सकती है : जैन  |  उनकी सरकार ने कमीशन एजेंटों, बिचोलियों और दलालों की खत्म करने की दिशा में काम किया है: मनोहर लाल बिचोलिये कैंसर के समान घातक है  |  जोनल यूथ फेस्ट में विद्यार्थियों की धूम, लगी पुरस्कारों की झड़ी  |  अलीपुर के पूर्व सरपंच जेजेपी में शामिल, कांग्रेस के गुरविंद्र भी आए  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
21/09/2018  :  10:13 HH:MM
वरदान साबित होगी आयुष्मान भारत योजना
Total View  698

सोनीपत उपायुक्त विनय सिंह ने बताया कि आमजन को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए आयुष्मान भारत योजना एक वरदान की तरह है। योजना के तहत पांच लाख रुपये का बीमा प्रति वर्ष प्रति परिवार किया जाता है। परिवार के आकार आयु व लिंग का कोई प्रतिबंध नहीं है। जिला में योजना का शुभारंभ सिविल अस्पताल सोनीपत से 23 सितंबर को होगा। उपायुक्त गुरुवार को लघु सचिवालय के प्रथम तल स्थित कांफ्रेस हाल में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।

उपायुक्त ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने की स्थिति में परिवार को पैसे देने की जरूरत नहीं है। भारत के किसी भी स्थान से सभी सार्वजनिक या सूची में शामिल निजी अस्पतालों में जाकर कैशलैस उपचार करवा सकते हैं। कैसलैस
उपचार पाने के लिए जारी किया हुआ पहचान पत्र अस्पताल में दिखाएं। पहले से मौजूद सभी बीमारियों पर पॉलिसी पहले दिन से लागू होगी। उपायुक्त ने बताया कि आयुष्मान भारत के तहत जिला सोनीपत एसईसीसी डाटा के तहत ग्रामीण क्षेत्र में 47341 और शहरी क्षेत्र में 32117 लाभार्थी हैं। इन सभी का डाटा पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। जिला सोनीपत में अभी तक इस योजना में 13 अस्पतालों को शामिल करने की अनुमति सरकार से मिली है। इनमें तीन सरकारी जिनमें सोनीपत नागरिक अस्पताल, उप नागरिक अस्पताल गोहाना और भक्त फूलसिंह महिला मैडिकल कालेज खानपुर कलां शामिल है। वहीं दस प्राईवेट अस्पताल हैं। बाकी आठ प्राईवेट अस्पतालों के लिए प्रक्रिया जारी है। उपायुक्त ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत ही जिला अस्पताल सोनीपत व उप जिला अस्पताल गोहाना,
6 सामुदायिक केंद्र, 29 प्राथमिक केंद्र, 162 सब सेंटर, 02 अर्बन हैल्थ सेंटर, 03 अर्बन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 01 पोलिक्लिनिक व एक सिविल डिस्पेंसरी द्वारा आम जन को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा रही हैं। जिला अस्पताल, उप जिला अस्पताल व सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, अर्बन हैल्थ सेंटर व 13 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र 24 घंटे आम जन को अपनी सेवाएं दे रहे हैं। उपायुक्त ने बताया कि जिला में अब तक 14773 गर्भवती महिलाओं का पंजीकरण किया गया है। इनमें से 79 प्रतिशत प्रथम तिमाही में किया गया है।

उन्होंने बताया कि जिला में संस्थागत प्रसव दर 99 प्रतिशत है। इनमें से 70 प्रतिशत प्रसव सरकारी अस्पतालों में हो रहा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर महीने की 9 तारीख को प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षा अभियान के तहत अभी तक 40681 गर्भवती महिलाओं की डाक्टरों द्वारा जांच की गई है। जिसके कारण मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में काफी कमी आई है। भारत का मातृ मृत्यु दर 130, हरियाणा का मातृ मत्यु दर 101 व सोनीपत का 55 है। भारत में शिशु मृत्यु दर 34, हरियाणा में 32 व सोनीपत में 23 है। हैल्थ वैल वैलनेस सेंटर में जिला के 13 पीएचसी व 14 सब सेंटरों को शामिल किया गया है। इस स्कीम में इन सभी सैंटरों को अपग्रेड किया जाएगा और आम जन को और ज्यादा बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। इस योजना में 12 तरह की आवश्यक सुविधाएं व पीएचसी पर 19 तरह व सब सेंटर पर 7 तरह के टेस्ट आम जन को प्रदान किए जाएंगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   3211208
 
     
Related Links :-
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी
एफआरएआई ने तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर प्रस्तावित सुझाव पर जताई चिंता दुकानदारों को लाइसेंस दिए जाने के प्रस्ताव का किया विरोध
मोहाली एमसी कमिश्नर ने डॉ. विक्रम शाह को सम्मानित किया
डॉक्टर्स और रोगियों ने बीमारियों के प्रतीक रावण का दहन किया
ड्रग्स और ह्रश्वलास्टिक के खिलाफ बाइक रैली आयोजित
गांव में चलाया गया ह्रश्वलास्टिक मुक्त व फिट इण्डिया पर विशेष अभियान
स्वस्थ भोजन से बचा जा सकता है दिल की समस्याओं से: दहिया
आईएमए चंडीगढ़ में हुई सीएमई में 100 से अधिक डॉक्टर शामिल हुए