Breaking News
बिहार में बाढ़ का तांडव, 29 लोगों की जान गई  |  भारत का लंबा प्रयास हो रहा निष्प्रभावी अफगानिस्तान-अमेरिका ने शांति वार्ता से भारत को किया अलग  |  गुरुग्राम को हरा भरा और प्रदूषण मुक्त करना सभी की जिम्मेदारी : राव  |  दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर चर्चा  |  पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकिल और उपायुक्त अमित खत्री सम्मानित  |  अशोक सांगवान की अध्यक्षता में गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण की बैठक जल भराव संबंधी शिकायतों के लिए बना कंट्रोल रूम  |  हुनरमंद युवा अपनी प्रतिभा के दम पर प्राप्त कर सकेगा रोजगार :बीरपंथी  |  बरसात के बाद जी.टी. रोड पर भरा पानी, राहगीर हुए परेशान  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
27/09/2018  :  10:10 HH:MM
अपोलो ने लॉन्च किया ईएनआईसीयू में देश का सबसे बड़ा नेटवर्क
Total View  608

चंडीगढ़ देश में नियोनेटल केयर सुविधाओं में बड़ा सुधार लाने के प्रयास में भारत के प्रमुख वुमेन्स एवं चिल्ड्रन्स हॉस्पिटल्स अपोलो क्रेडल ने बुधवार को ‘अडवान्स्ड टेक्नोलॉजी नियोनेटल इन्टेन्सिव केयर युनिट (ईएनआईसीयू)’ का लॉन्च किया।

ऐसा भारत में पहली बार हुआ है कि अपोलो क्रेडल जैसे वुमेन एवं चिल्ड्रन्स हॉस्पिटल्स के सबसे बड़े नेटवर्क ने भारत में इस तरह की अनूठी पहल की है। अपोलो क्रेडल ने नैदानिक उत्कृष्टता के क्षेत्र में विशेष प्रतिष्ठा हासिल कर ली है, इसमें हाई रिस्क प्रेगनेन्सी एवं कॉम्पलेक्स प्री-टर्म बेबीज़ को हैण्डल करने की क्षमता है। ईएनआईसीयू के माध्यम से अपोलो डल के विशेषज्ञ अस्पताल में या किसी भी स्थन पर बैठ कर हर छोटी जानकारी पर नजऱ रख सकेंगे, जैसे दवाएं, पोषण, शिशु का फीडिंग पैटर्न तथा कैलोरी और ग्रोथ चार्ट आदि।

इस एनआईसीयू की मदद से अपोलो क्रडल के डॉक्टर छोटे नगरों के एनआईसीयू को भी सहयोग प्रदान कर सकेंगे। प्री-टर्म बेबी की रियल टाईम मॉनिटरिंग एवं डिजिटल रिकॉड्र्स से नैदानिक परिणामों में सुधार आएगा और भारत में नवजात शिशुओं को विश्व स्तरीय इलाज मिल सकेगा। अपोलो ने अपने दृष्टिकोण ‘‘हमारे साथ आप हमेशा सुरक्षित हाथों में हैं’’ के मद्देनजऱ इस पहल की शुरूआत की है। ईएनआईसीयू के उद्घाटन समारोह के दौरान डॉ अनुपम सिब्बल, ग्रुप मेडिकल डायरेक्टर, अपोलो हॉस्पिटल्स ग्रुप एवं सीनियर कन्सलटेन्ट पीडिएट्रिक गैस्ट्रोएंट्रोलोजिस्ट एवं हेपेटोलोजिस्ट, इन्द्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स ने कहा, ‘‘अपोलो क्रेडल का ईएनआईसीयू उन नवजात शिशुओं की देखभाल की क्षमता रखता है जो ज़्यादातर अन्य अस्पतालों में मुश्किल होती है। इसकी मदद से डॉक्टर और चिकित्सा अधिकारी एक सेंट्रल लोकेशन से हर बच्चे को मॉनिटर कर सकते हैं। इसमें क्लाउड बेस्ड सिस्टम के द्वारा डॉक्टर के वर्कफ्लो, नर्सिंग वर्कफ्लो एवं रेजिड़ेंट डॉक्टरों के कार्यों का प्रबंधन किया जाता है।’






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   7543755
 
     
Related Links :-
हार्ट में 2 छेद वाले बच्चे को मिली नई जिंदगी
एमजीएफ मैट्रोपॉलिटन मॉल में लगा कंपोस्ट ह्रश्वलांट
हरियाणा अव्वल स्थान पर रहा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में: अनिल विज
स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम 6 जुलाई को अंबाला में : कादियान
स्वस्थ जीवन की शुरुआत करने में सहयोग करें : मनोहर लाल
पीएम के साथ कॉस्मॉस-माया के मोटू-पतलू ने किया योगासन
महिलाओं में शर्मसार करने वाली बीमारी का बढ़ रहा है प्रकोप
हरियाणा में हर जिले से हलका स्तर पर योग दिवस के कार्यक्रम, सोनीपत में कविता जैन ने किया योग जीवन शैली में परिवर्तन लाएगा योगा
फाइनल रिहर्सल : 4 हजार से अधिक साधकों ने एक साथ किया योगाभ्यास
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के आयोजन की तैयारियों को अंतिम रूप