समाचार ब्यूरो
14/10/2018  :  13:27 HH:MM
हमारा मुख्य मकसद मरीज लंबे समय तक स्वस्थ रहे : डॉ. नरेश
Total View  30

गुरुग्राम मेदांता देश का पहला ऐसा हॉस्पीटल्स बन गया है जहां मरीजों का ऐलोपैथिक के साथ अब आयुर्वैद से इलाज होगा। यह एक क्रांतिकारी अवधारणा है। भारत का पहला एनएबीएच से मान्यता प्राप्त आयुर्वेद अस्पताल है जो सूक्ष्म आयुर्वेद पर केंद्रित है और जहां आयुर्वेद आधुनिक दवाइयों का पूरक है।

डॉ. नरेश त्रेहन, चेयरमैन एंड मैनेजिंग डायरेक्टर मेदांता ने कहा, ‘’आयुर्वैद अस्पतालों के साथ मेदांता का गठजोड़ एकीकृत दवाइयों में हमारे विश्वास को मजबूत करता है और यह हमारे व्यवहार में भी है। इसमें भिन्न चिकित्सा क्षेत्रों की खासियत है और इससे अनूठे, प्रभावी, खसतौर से बनाए गए चिकित्सीय समाधान हासिल हुए हैं। एक साथ क्रिया करने वाले रुख से सुनिश्चत होता है कि मूल कारण को प्रभावी तौर पर ठीक किया जाए और मरीज लंबे समय तक स्वस्थ रहे। कंसलटेशन, दवाइयों, आउटपेशेंट थेरापी और चिकित्सीय योग समेत आयुर्वेद से संबंधित सेवाओं की मौजूदा रेंज के अलावा ‘मेदांता आयुर्वैद’ गंभीर गैर-संक्रामक और पुरानी बीमारियों के मरीजों के लिए इन-पेशेंट मेडिकल केयर की पेशकश करता है। इनमें डायबिटीज और जीवनशैली से संबंधित अन्य गड़बडिय़ों जैसे अर्थराइटिस, मांसपेशियों और हड्डियों की गड़बडिय़ों, न्यूरो डीजेनरेटिव डिसऑर्डर, रेसपायरेट्री डिसऑर्डर, स्त्री रोग, शिशु रोग, विकास संबंधी गड़बड़ी आदि शामिल हैं। अन्य सुविज्ञताओं के साथ एकीकरण और मिलकर मुहैया कराई जाने वाली देखभाल से कार्यकुशलता और उपचार की गुणवत्ता बेहतर होती है।े एमडी और सीईओ राजीव वासुदेवन ने कहा, आयुर्वैद के प्रोटोकोल से संचालित होने वाले शानदार आयुर्वेद मेडिकल केयर मुख्य धारा की दो चिकित्सीय प्रणाली आधुनिक औषधि और आयुर्वेद का एकीकरण होता है। मेदांता के साथ हमारी साझेदारी
एक नए अलग हेल्थकेयर की बुनियाद रखती है जो मरीजों के लिए सही अर्थों में दोनों ही दुनिया का सर्वश्रेष्ठ है। इस साझेदारी के जरिए हम मरीजों के लिए अनूठे थेराह्रश्वयूटिक मूल्य का प्रदर्शन करेंगे।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2273315
 
     
Related Links :-
राष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर इस्कॉन फूड रिलीफ फाउंडेशन की पहल वंचित बच्चों को काउंसिलिंग देने का अभियान शुरू
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नहीं कोई डॉक्टर, नर्स कर रही इलाज
2 लाख मरीजों के ब्लड शुगर की जांच करेगा लायंस क्लब
भारत में डायबिटीज़ की देखभाल के लिए ‘1000-दिवस चुनौती’ लॉन्च
कैंसर से बचाव के लिए चिकित्सकों की सलाह ले
नगर निगम गुरूग्राम : राऊंड ओ क्लॉक विशेष अभियान
गंदगी स्वच्छता अभियान को पलीता लगा रहे सार्वजनिक शौचालय
करनाल शहर ओडीएफ ह्रश्वलस एवं ओडीएफ ह्रश्वलस ह्रश्वलस. घोषित
देश में तेजी से बढ़ रही है बधिरों की संख्या : राजलक्ष्मी
ग्रेडिड रैस्पांस एक्शन ह्रश्वलान: शुरू हुआ राऊंड ओ क्लॉक विशेष अभियान