Breaking News
अस्थायी तौर पर जेट की सभी उड़ानें रद्द की गइ  |  मतदान में बुजुर्ग भी नहीं रहे पीछे कोई एम्बुलेंस से तो कोई व्हील चेयर पर वोट डालने पहुंचे  |  अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के प्रस्ताव को किया खारिज मसूद अजहर को लेकर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं  |  गुड फ्रायडे : त्याग और बलिदान का दिन  |  दिनों दिन बढ़ती जा रही है वोटिंग ताऊ की लोकप्रियत  |  राइडिंग को बनाए रोमांचक! होंडा ने भारत में शुरू किया अपना एक्सक्लुसिव प्रीमियम रीटेल होंडा बिग विंग  |  प्रशासन, विभागों और आमजन के बीच में तालमेल आवश्यक : एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर  |  राव अभय सिंह के भाजपा कार्यालय का राव इंद्रजीत सिंह ने किया उद्घाटन ‘विकास के हर कार्य का हिसाब दंूगा’  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
21/10/2018  :  10:44 HH:MM
राजनीति के भेंट चढ़े सुलगते सवाल
Total View  538

दशहरे के अवसर पर रावण दहन के दौरान अमृतसर में हुए दर्दनाक ट्रेन हादसे में 60 से ज्यादा लोग कटकर मर गए। अब सवाल यह है कि आखिर इनकी मौत का जिम्मेदार कौन है? कोई रामलीला के आयोजकों को जिम्मेदार मान रहा है, तो कोई स्थानीय नेताओं और रेलवे पर आरोपित कर रहा है। लेकिन हर कोई इस दर्दनाक हादसे से कन्नी काट रहा है। सभी एक दूसरे पर आरोप मढ़ रहे हैं। इस पर अब जमकर राजनीति शुरू हो गई।

सीएम अमरिंदर पत्रकारों के प्रश्नों पर हुए उग्र

नई दिल्ली पंजाब के अमृतसर में विजयादशमी पर  आयोजित रावण दहन कार्यक्रम में ट्रेन हादसे से कई लोगों के मरने की खबर के दर्दनाक हादसे के बाद पंजाब के सीएम कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह हादसे में पीडि़तों को देखने पहुंचे और पत्रकारों से चर्चा की। उन्होंने हादसे पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि रेलवे अपने स्तर पर जांच कर रहा है। हादसे की मस्जिट्रेट जांच होगी, जिसकी रिपोर्ट चार हफ्तों में सौंपे जाने के आदेश हैं। उन्होंने कहा कि कमिश्नर इस घटना की जांच करेंगे। जांच पर पत्रकारों के सवाल पर वो भडक़ गए और कहा, जो सवाल आप लोग मेरे से कर रहे हैं, वो मस्जिट्रेट से करो। शनिवार सुबह दिल्ली से अमृतसर पहुंचें। अस्पताल में जख्मी लोगों के हालचाल पूछने के बाद अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बात की और बताया कि ये बहुद ही दर्दनाक घटना है। उन्होंने कहा इस हादसे के बाद पूरे देश की संभावनाएं पीडि़तों के परिजनों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि कुछ शवों को छोडक़र सभी शवों की पहचान हो चुकी है। मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि ये वक्त तू-तू मैं-मैं का नहीं है। इस वक्त जरूरी है की घटना की जांच हो, ताकि मुख्य वजह का पता चल सके। पत्रकारों ने उनसे घटना के बाद देरी से पहुंचने पर भी सवाल किए। उन्होंने तीखे अंदाज में कहा, मैं इजरायल जा रहा था। दिल्ली से वापस लौटा हूं, इसलिए देरी हुई है। गौरतलब है कि घटना के 15 घंटों के बाद सीएम अमरिंदर सिंह मौके पर पहुंचे और पीडि़तों का हाल जाना। इससे पहले रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने भी घटना को दुखद बताया था। उन्होंने बताया कि हादसे की जानकारी के बाद वो घटनास्थल पर पहुंचे। मनोज सिन्हा ने कहा कि इस मामले में रेलवे की चूक नहीं है। उन्होंने कहा, रेलवे को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी नहीं दी गई थी। उन्होंने कहा कि हादसा दुखद है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   2237142
 
     
Related Links :-
मतदान में बुजुर्ग भी नहीं रहे पीछे कोई एम्बुलेंस से तो कोई व्हील चेयर पर वोट डालने पहुंचे
प्रशासन, विभागों और आमजन के बीच में तालमेल आवश्यक : एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर
हरियाणा में भाजपा ने इन 10 चेहरों पर खेला दांव
आतंकवाद को घाटी के ढाई जिलों तक सीमित करने में सफल रही सरकार: मोदी
गुजरात को मुआवजा देने पर कमलनाथ ने पीएम को घेरा
पश्चिमी दिल्ली की जनता के बीच बहुत लोकप्रिय है पत्रकार सुनील सौरभ
बाला प्रीतम हरक्रिशन जी का जोति ज्योति समाने का गुरूपर्व बड़ी श्रद्धापूर्वक मनाया गया
भगवान महावीर जयंती पर विभिन्न धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रम
विपक्ष विहीन लोकसभा क्षेत्र है गुरुग्राम राव इंद्रजीत के मुकाबले में कोई नहीं : उमेश अग्रवाल
महावीर जयंती पर निकाली प्रभात फेरी