समाचार ब्यूरो
21/10/2018  :  10:58 HH:MM
एसएफआई जिला कमेटी ने काली पट्टी बांध कर जताया रोष
Total View  604

कैथलत्नरोडवेज के निजीकरण का विरोध कर रहे रोडवेज के कर्मचारियों को दिनांक 16 अक्तूबर को सरकार द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था जिसके तहत 18-10-18 को सभी संगठनो के कर्मचारियों व विद्यार्थियों ने हनुमान वाटिका के बाहर सरकार के खिलाफ विरोध किया उसमे तकरीबन 170 लोगों को गिरफ्तार किया गया जिसमे एसएफआई के जिला अध्यक्ष सुरेश बाता व जिला सचिव गोलू बाता भी शामिल है दिनांक 19 अक्तूबर को उन्हें अंबाला जेल भेज दिया गया है सरकार सख्ती का रूख अपनाते हुए दमन का सहारा लेकर रोडवेज कर्मचारियो की आवाज को दबाना चाहती है मगर ऐसा होने नही दिया जाएगा एसएफआई रोडवेज कर्मचारिओं की मांगों का समर्थन करते हुए आगे भी ऐसे ही गिरफ्तारियों की जरूरत पड़ी तो वो भी देगी।7 हम हर प्रकार से उनके साथ है सरकार का निजीकरण को बढावा देना व दमन का सहारा लेने के खिलाफ आज एसएफआई सदस्य सविता , श्वेता ,राजबाला ,सोनिया ,मनीष ,परवीन,विजय ,सुरजीत सिंह ,योगेश, गुरदास ,जितेंदर आदि शामिल हुए।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1017390
 
     
Related Links :-
राज्यसभा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे फॉर्म में नजर आए ईवीएम और एक देश-एक चुनाव पर विपक्ष को घेरा
‘पर ड्राप मोर क्रॉप’ विषय पर जागरूकता अभियान का आयोजन
बादशाहपुर ड्रेन : बरसात में नहीं होगी जलभराव की समस्या
रोड सेफ्टी के एक्शन ह्रश्वलान को लेकर विभिन्न विभागों के साथ बैठक
खत्म होने के कगार पर इनेलो का राजनीतिक अस्तित्व
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक दीन दयाल जन आवास योजना का होगा विस्तार
रोडवेज और पीआरटीसी की बसों में लगाए जाएंगे व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम
मुख्यमंत्री कैह्रश्वटन अमरिंदर सिंह के सिद्धू के प्रति और कड़े हुए तेवर एक सह्रश्वताह में संभालें पदभार नहीं तो छिनेगी कुर्सी
लोकसभा में बोले पीएम मोदी हम ‘लकीर छोटी करने की बजाय अपनी लकीर लंबी करने में विश्वास करते हैं
दुनिया भर के जल संकट वाले शहरों में चेन्नई नंबर-1