Breaking News
अस्थायी तौर पर जेट की सभी उड़ानें रद्द की गइ  |  मतदान में बुजुर्ग भी नहीं रहे पीछे कोई एम्बुलेंस से तो कोई व्हील चेयर पर वोट डालने पहुंचे  |  अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के प्रस्ताव को किया खारिज मसूद अजहर को लेकर चीन के रुख में कोई बदलाव नहीं  |  गुड फ्रायडे : त्याग और बलिदान का दिन  |  दिनों दिन बढ़ती जा रही है वोटिंग ताऊ की लोकप्रियत  |  राइडिंग को बनाए रोमांचक! होंडा ने भारत में शुरू किया अपना एक्सक्लुसिव प्रीमियम रीटेल होंडा बिग विंग  |  प्रशासन, विभागों और आमजन के बीच में तालमेल आवश्यक : एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर  |  राव अभय सिंह के भाजपा कार्यालय का राव इंद्रजीत सिंह ने किया उद्घाटन ‘विकास के हर कार्य का हिसाब दंूगा’  |  
 
 
समाचार ब्यूरो
21/10/2018  :  11:00 HH:MM
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तड़पते मरीज, डॉक्टर नहीं मौजूद
Total View  535

घरौंडा एक तरफ सरकार जनता को सुविधाएँ देने की ढिंढोरा पीटते नही थकती, वहीं घरौंडा का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र राजनीती का अड्डा बन जाने के कारण मरीजों को भगवान भरोसे छोड़ा जा रहा है। हॉल ही में पूरे दिन केंद्र में एक भी डॉक्टर न होने से अस्पताल में अफरा तफरी का माहौल रहा था।
सोशल मिडिय़ा पर मामला उछलने के बाद सांय को दो डॉक्टर यहाँ भेजे गए। सूत्रों से जानकारी मिली है कि यहां 5 डॉक्टर्स की नियुक्ति है उनमें से कुछ के डेपुटेशन पर जाने के बाद आज तक वापस नही आये। दूसरा यहां महिला डॉ व् एसएमओ की खींचतान के कारण यह राजनीती का अखाडा बन कर रह गया है। आज रात्रि को इमरजेंसी में कई केस आये मगर कोई डॉ मोके पर नही मिला और मरीज तड़पते रहे। मौजूद नर्सो द्वारा साफ तौर पर कहा गया कि यहां कोई डॉ नही है। आप बाहर इलाज करवा ले। जबकि मरीजो की हालत गम्भीर थी।मामला शुक्रवार की शाम करीब आठ बजे का था। डेरा संजय नगर गांव का सरदार करनैल सिंह अपनी पुत्री सपना को लेकर यहां पहुंचे, लेकिन इमरजेंसी में कोई डॉक्टर नहीं होने के कारण मरीज सपना करीब आधे घंटे तक सपना अस्पताल में बाहर बेंच पर ही तड़पती रही। नर्स ने मरीज को देखे बिना ही दो टूक जवाब दिया कि यहां डॉक्टर नहीं है आप कहीं ओर ले जा सकते हैं। अस्पताल से मिले गैर जिम्मेदाराना जवाब के बाद सपना के परिजनों के हाथ पांव फूल गए। अस्पताल में कोई मदद मिल सके, इस आस में सपना के पिता करनैल सिंह ने नगरपालिका के वाइस चेयरमैन कंवलजीत प्रिंस को फोन किया। इसके बाद प्रिंस और पार्षद ओंकार शर्मा कुछ अन्य साथियों के साथ अस्पताल में पहुंचे और मरीज के ईलाज को लेकर हंगामा किया। करनैल सिंह ने बताया कि वाइस चेयरमेन व अन्य लोगों के हंगामा किए जाने के बाद नर्स ने मरीज को ट्रीटमेंट दिया। करनैल सिंह ने बताया कि वाइस चेयरमेन व अन्य लोगों के हंगामा किए जाने के बाद नर्स ने मरीज को ट्रीटमेंट दिया। कहा प्रिंस ने..नगरपालिका के उप चेयरमेन कंवलजीत प्रिंस हस्पताल की हालत देखकर दुखी हुए और बोले की हस्पताल में मरीज बड़ी उम्मीद लेकर आते है। और वहां डॉक्टर्स के न होने से उनके साथ अनहोनी के लिए कोन जिम्मेवार होगा। एसएमओ से उन्होंने बाद करनी चाही तो उन्होंने फोंन नही उठाया। फिर अचानक प्रिंस के फोन पर उनकी घण्टी बजी तो उन्होंने लापरवाही से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि नर्से है वहां। और अपनी जिम्मेवारी से बचते हुए नजऱ आये।और वे मोके पर भी नही पहुंचे। इसी बीच एक गांव ने हुए झगड़े से घायल व्यक्ति अस्पताल पहुंचा। आधा घण्टे इंतजार के बाद उसे भी बाहर का रास्ता बता दिया। ओर स्लिप पर नर्स ने लिख दिया च्नो डॉ अवेलेबल इन इमरजेंसीज्। एक बेहोश युवक को कुछ लोग लेकर आये। मगर इलाज नही हुआ। ये गत रात होने के बाद प्रिन्स व मौजूद लोगों का कहना रहा की इससे तो अच्छा गई की केंद्र को ताला जड़ दिया जाये। सुविधाएँ यहाँ आज टाँय टाँय फिस्स होती नजऱ आई। ओर लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर।अधिकारी भी एक दूसरे पर पल्ला झाड़ते नजऱ आये। नही मिला उनसे कोई संतुष्टिपूर्ण जवाब।डॉ. राजिंद्र सिंह, डिह्रश्वटी सीएमओ करनाल--इमरजेंसी में डॉ. अजय छिक्कारा की ड्यूटी है। अगर वह ड्यूटी पर नहीं हैं तो इस बारे में आप सीएमओ से बात कर लें। मैं इस बारे में कुछ नहीं बता सकता।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   4711670
 
     
Related Links :-
नि:शुल्क आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविर का 20 अप्रैल को आयोजन
लंबे समय तक कंधे का दर्द : यह रोटेटर कफ टियर हो सकता है
वयस्क और बच्चें हो रहे एनीमिया के शिकार
रेडक्रॉस सोसायटी गुरुग्राम के सहयोग से रक्त दान शिविर
जनरूफ टेक के साथ अपने घर को तीन अतिरिक्त, मूल्य से जोड
उच्च रक्तचाप से विकलांगता और हृदय रोग हो सकते हैं : डॉक्टर अमर सिंघल
थोड़ा भी असहज महसूस करें तो कोताही नहीं बरते
स्तन कैंसर जागरूकता पहल ‘थैंक्स-ए-डॉट’
मलेरिया और बुखार की बीमारी को सामान्य न समझे : वीना हुड्डा
रेडक्रॉस सोसायटी : रक्तदाताओं ने किया 52 यूनिट रक्तदान