14/11/2018  :  11:49 HH:MM
भारत में डायबिटीज़ की देखभाल के लिए ‘1000-दिवस चुनौती’ लॉन्च
Total View  735

नई दिल्ली विश्व डायबिटीज़ दिवस के अवसर पर नोवो नॉर्डिस्क एजुकेशन फाउंडेशन एवं नोवो नॉर्डिस्क इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने अग्रणी हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स के साथ भारत में अनियंत्रित डायबिटीज़ को संबोधित करने के लिए ‘‘1000-दिवस चैलेंज’’ लॉन्च किया है। अनियंत्रित डायबिटीज़ भारत में गंभीर समस्या है और डायबिटीज़ के कारण हर साल हेल्थकेयर में 63,000 करोड़ से ज्यादा खर्च होते हैं ।

1000 दिवस चैलेंज का उद्देष्य दिए गए समय में 150,000 प्रैक्टिशनर्स और 10,000 पैरामीडिक्स के बीच 6000 से अधिक मेडिकल मीटिंग्स एवं निरंतर मेडिकल शिक्षा (सीएमई) प्रोग्राम्स द्वारा जागरुकता व शिक्षा का प्रसार करना है। डायबिटीज़ केयर की स्थिति पर रियल टाईम डेटा इनोवेटिव ‘इंडिया डायबिटीज़ केयर इंडेक्स’ के द्वारा पहली बार उपलब्ध कराया गया है। यह इंडेक्स एचबीए1सी डेटा द्वारा दिए गए शहर में औसत ब्लड शुगर कंट्रोल 3 महीनों की अवधि में प्रदान करता है। डॉ. ए. के. दास, सीनियर प्रोफेसर, डिपार्टमेंट ऑफ एंडोक्राइनोलॉजी एवं मेटाबोलिज़्म, पॉन्डिचेरी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईंसेस एवं इंपैक्ट इंडिया प्रोग्राम के संरक्षक ने कहा, ‘‘एचबीए1सी लेवल को इस अभियान के लिए प्रमुख परफ ॉर्मेंस संकेतक के रूप में अपनाया जाएगा। इंडिया डायबिटीज़ केयर इंडेक्स प्रदर्शित
करता है कि भारत में एचबीए1सी का वर्तमान औसत आम तौर पर अनुशंसित 7 प्रतिशत के मुकाबले 8.56 प्रतिशत है।

इंपैक्ट इंडिया द्वारा हम इलाज किए गए मरीजों में एचबीए1सी के स्तर को कम करने के लिए काम करेंगे। एचबीए1सी में प्रत्येक 1 प्रतिशत की कटौती से स्ट्रोक का खतरा 12 प्रतिशत कम हो जाता है, दिल के दौरे का खतरा 14 प्रतिशत कम हो जाता है, आंखों की डायबिटीक बीमारी का जोखिम 31 प्रतिशत कम हो जाता है, डायबिटिक किडनी बीमारी का खतरा 33 प्रतिशत घट जाता है और डायबिटिक लिंब डिज़ीज़ का खतरा 43 प्रतिशत कम हो जाता है। इस कार्यक्रम के तहत अनिल कुंबले विविध उपायों द्वारा सेहतमंद जीवनशैली को बढ़ावा देंगे। वो दैनिक व्यायाम को प्रोत्साहित करेंगे और ‘सोशल स्नैकिंग’ एवं हाई- कैलोरी वाले प्रोसेस्ड फू ड के आहार को कम करने के लिए कहेंगे।अनिल कुंबले ने कहा, ‘‘यदि हम डायबिटीज़ के बढ़ते ग्राफ को कम करना चाहते हैं, तो हमें मिलकर ऐसी चीजों को कम करना होगा, जिनकी वजह से लोगों को डायबिटीज़ का खतरा होता है। एक स्पोटर््सपर्सन के रूप में मैं कठोर चुनौतियों के लिए तैयार रहता हूँ और 1000 दिवस चैलेंज के साथ हम हर हितग्राही को सामूहिक रूप से काम करने के लिए बुला रहे हैं।’’






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   5274207
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी