समाचार ब्यूरो
15/11/2018  :  11:39 HH:MM
बेटे को दी गई सिपाही की नौकरी एसआई स्व. नरेन्द्र के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक सहायता
Total View  458

करनाल ब्यूरो गत माह ड्यटी के दौरान रोहतक कोर्ट में बदमाशों की गोली का शिकार हुए हरियाणा पुलिस के जांबाज एसआई स्व. नरेन्द्र कुमार के मरणोपरांत, मुख्यमंत्री ने जांबाज एसआई के बेटे निशांत कुमार को पुलिस में ही सिपाही की नौकरी देकर परिवार को सच्ची सांत्वना दी है, वहीं परिवार को हरियाणा पुलिस व बैंक के माध्यम से 1 करोड़ रुपये का आर्थिक सहयोग भी दिया है।

इसके लिए परिवार के सदस्यों व रिश्तेदारों और वाल्मीकि समाज के प्रतिष्ठित व्यक्तियों ने मंगलवार को पीडबल्यूडी के विश्राम गृह में पहुंचकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद किया और कहा कि आपने हमारी सोच से ज्यादा सहयोग किया है, सदा यह परिवार आपका आभारी रहेगा। मंगलवार को हांसी रोड स्थित गली नं. 11 से जांबाज एसआई के परिवार के लोग जिनमें उनकी पत्नी वीना व बेटी खुशबू और बेटा निशांत कुमार, पीडबल्यूडी विश्राम गृह में मुख्यमंत्री के प्रवास के दौरान पहुंचे, उनके साथ ओएसडी अमरेन्द्र सिंह, भाजपा के
जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र, सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य आजाद सिंह, रवि सौदा भाजपा नेता अमरजीत जिला कष्ट निवारण समिति के सदस्य तेजिन्द्र बिड़लान भी थे। जैसे ही यह सब मुख्यमंत्री के सामने मिलने के लिए गए तो बेटे निशांत जोकि पुलिस की वर्दी थे उन्होंने मुख्यमंत्री के सामने सम्मान के रूप शैल्यूट किया और भावुक हो गए।

जांबाज एसआई की भावुक हुई पत्नी वीना व बेटी खुशबू ने हाथ जोडक़र मुख्यमंत्री का आभार प्रकट किया और कहा कि मुख्यमंत्री जी उन्हें विश्वास भी नहीं था कि आपने एक गरीब परिवार को 1 करोड़ रुपये नकद और बेटे को सिपाही की नौकरी देकर उन्हें नया जीवनदान
दिया है। वह उनके सदा आभारी रहेंगे। मुख्यमंत्री ने परिवार को कहा कि चिंता मत करो हम परिवार के साथ हैं, हरियाणा पुलिस परिवार के साथ है, बच्चा अभी सुनारिया में सिपाही की ट्रेनिंग कर रहा है, ट्रेनिंग के बाद अपने पिता की तरह लगन व ईमानदारी से ड्यूटी करेगा और परिवार आगे बढ़ेगा। मौके पर उपस्थित पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र भौरिया ने बताया कि जांबाज एसआई स्व. नरेन्द्र कुमार की अगस्त माह में ड्यूटी के दौरान मृत्यु हो गई थी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल भी पीडि़त परिवार के घर जाकर सांत्वना देने पहुंचे थे। पीडि़त परिवार को जिला पुलिस करनाल के कर्मचारियों द्वारा सहयोग के रूप में एकत्रित 40 लाख रुपये एचडीएफसी बैंक द्वारा 30 लाख रुपये व हरियाणा पुलिस द्वारा 30 लाख रुपये का चैक दिया गया है और उनके बेटे को उनकी योग्यता के अनुसार हरियाणा पुलिस में सिपाही की नौकरी दी गई है और अब वह सुनारिया में ट्रेनिंग कर रहा है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हमें ऐसे वीर जवान पर नाज है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   8525094
 
     
Related Links :-
राजनीति में व्यस्तता के बावजूद लेखन कार्य भी जारी
नेशनल अकाली दल ने उग्रवादी संगठनों के पुतले जलाए
प्रधानमंत्री की बात को दोहराया, लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा आतंकियों ने बहुत बड़ी गलती है सैनिक जब चाहे कार्रवाई कर सकते है
शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी योजनाओं के माध्यम से बेटियों को सुखद वातावरण देने का प्रयास : कविता जैन
पुलवामा शहीदों के आश्रितों को एक करोड़ की सहायता दे पंजाब सरकार : विर्क
बचपन ह्रश्वले स्कूल जीरकपुर ने मनाया अपना 7 वां वार्षिक दिवस
वायुसेना ने दुश्मनों के दांत खट्टे करने के लिए पोखरण में दिखाया पराक्रम
कहीं भी छिपे हों, गुनहगारों को सजा जरूर मिलेगी : पीएम मोदी
शहीदों को हिंदुस्तान ने किया नमन
हर्षोल्लास के साथ गुरुग्राम लौटे कुंभ स्नान करने प्रयागराज गए श्रद्धालु