24/01/2019  :  10:22 HH:MM
चंडीगढ़ के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च में आबादी आधारित कैंसर पंजीयन शुरू
Total View  737

चंडीगढ़ के पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च में बुधवार को कैंसर से लडऩे के मजबूत इरादों के साथ विशेषज्ञों ने आबादी आधारित कैंसर पंजीयन की शुरूआत कर दी। इंस्टीट्यूट के भार्गव सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम के उदघाटन समारोह में कैंसर के बढ़ते हमले को लेकर विशेषज्ञों की चिंता साफ झलक रही थी।

विशेषज्ञों ने कहा कि कैंसर का आबादी आधारित पंजीयन इससे निपटने की रणनीति का प्रभावी हिस्सा है। उदघाटन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि हिमाचल प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार थे। परमार ने चिकित्सा और स्वास्थ्य की संभाल के क्षेत्र में चंडीगढ़  पीजीआईएमईआर की सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि यह इंस्टीट्यूट एक संबल की तरह है। परमार ने इस बात पर चिंता व्यक्त की कि हिमाचल जैसे पर्वतीय प्रदेश में लोगों को चढ़ाई के साथ आवागमन करना पड़ता है लेकिन फिर भी कैंसर  और मधुमेह जैसे रोग
इस प्रदेश को जकड़ रहे है। परमार ने कहा कि करीब 72 लाख आबादी वाले हिमाचल प्रदेश में पांच मेडिकल कॉलेज हैं और दो दिन पहले ही बिलासपुर में एम्स की आधारशिला रखी गई है। विशेषज्ञता सेवाओं के लिए इस इंस्टीट्यूट पर विश्वास है। यहां के विशेषज्ञ रोग मुक्ति दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। उत्तर भारत में कुछ ऐसे जिले हैं जहां हर दूसरा परिवार कैंसर पीडि़त है। हिमाचल प्रदेश में कैंसर उपचार की नई तकनीकी आई है लेकिन प्रशिक्षित तकनीशियन न होने से तकनीकी का लाभ नहीं मिल पा रहा। इससे पूर्व इंस्टीट्यूट के निदेशक प्रो जगतराम ने कहा कि देश में कैंसर के 38 लाख मरीज है। कैंसर  के इलाज में इस इंस्टीट्यूट की अहम भूमिका है। इंस्टीट्यूट में क्षेत्रीय कैंसर उपचार केन्द्र है। उन्होंने कैंसर नियंत्रण में पंजाब के सहयोग की सराहना की। उन्होंने कहा कि पंजाब के मोहाली,संगरूर,मानसा के अलावा मुंबई में आबादी आधारित कैंसर  पंजीयन किया जा रहा है। पंजाब से मुख्यमंत्री कैंसर राहत बोर्ड के जरिए मदद मिलती है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   9998095
 
     
Related Links :-
रोटरी हेल्थ कार्निवाल में रोटेरियंस ने हेल्थ के प्रति किया जागरुक
डॉक्टर्स दिवाली की शुभकामनाएं देने मरीजों के घर पहुंच
डॉ.बेदी ने मिनिमली इनवेसिव सर्जरी में नए डेवलपमेंट्स पर गेस्ट लेक्चर दिया
डायबटीज से पीडि़तों के लिए आर्ट एग्जीबिशन
ऑर्थो कैम्प में 60 सीनियर सिटिजन की जांच की गई
रक्त की कमी से होने वाले थैलेसीमिया रोग का जागरुकता शिविर आयोजित
50 सीनियर सिटीजंस ने ‘मीट योअर डॉक्टर्स’ प्रोग्राम में हिस्सा लिया
भारत में कैंसर दूसरा सबसे बड़ा हत्यारा
वल्र्ड मेंटल हेल्थ डे: युवाओं ने खास अंदाज में दिया जागरूकता संदेश
स्तन कैंसर से बचने के लिए जागरूक और सावधान रहना जरूरी