Breaking News
68वीं अखिल भारतीय पुलिस कुश्ती समूह प्रतियोगिता का विधिवत समापन   |  अब बंदरों के उत्पात से शहरवासियों को मिलेगी निजात,निगम ने किया हेल्पलाइन नंबर जारी,0180-2642500 पर करें कॉल  |  टेंडर ब्रांच क्लर्क संदीप शर्मा व क्लर्क कमलकांत को निगमायुक्त ने किया टर्मिनेट  |  1000 स्कूल होंगे बस्तामुक्त, अंग्रेजी को बढ़ावा देगी सरकार  |  हरियाणा का एक लाख 42 हजार करोड़ रुपए से अधिक का बजट पेश  |  फाइन आर्टस एसोएिसशन ने अपनी मांगों को लेकर डिप्टी सीएम से मुलाकात की  |  शीरा घोटाला और सुगर मिल मामलों में मुख्यमंत्री की क्लीन के विरोध में बलराज कुण्डू का समर्थन वापसी का ऐलान  |   दिल्ली हिंसा पर गुर्जर समाज की पंचायत, मदद का दिया भरोसा  |  
 
01/02/2019  :  09:47 HH:MM
दिग्विजय को राजनीति में स्थापित कर गया उपचुनाव
Total View  765

चंडीगढ़त्न जींद उपचुनाव में हारने के बाद जननायक जनता पार्टी प्रत्याशी दिग्विजय चौटाला खुद को राजनीति में स्थापित करने में कामयाब हो गए हैं। दिग्विजय के लिए इस चुनाव में अपनी जीत से ज्यादा इनेलो प्रत्याशी की हार व अपने चाचा को सबक सिखाना मायने रखता है।

जिसमें वह पूरी तरह से कामयाब हो गए हैं। वर्तमान में दिग्विजय ने यह चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ा था। क्योंकि जननायक जनता पार्टी को अभी चुनाव आयोग से मान्यता नहीं मिली है। जिसके चलते अधिकारित तौर पर जजपा का अभी जन्म नहीं हुआ है। इसके बावजूद दिग्विजय ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने के अलावा खुद को जजपा प्रत्याशी के रूप में ही प्रचारित किया। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं ने दिग्विजय का खुलकर समर्थन किया था। चुनाव परिणाम के अनुसार
दिग्विजय दूसरे नंबर पर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय नेता के रूप में स्थापित हो चुके एवं मुख्यमंत्री पद के एक दावेदार रणदीप सिंह सुरजेवाला को जहां हराया है वहीं अपने सबसे बड़े राजनीतिक विरोधी एवं चाचा अभय चौटाला के समक्ष यह साबित कर दिया है कि अब उनकी राजनीतिक राह आसान नहीं है। दिग्विजय को पूरे हलके से वोट मिले हैं। किसी भी पोलिंग बूथ पर उनकी स्थिति इनेलो प्रत्याशी जैसी नहीं रही है। शहरी क्षेत्र में जहां इनेलो व अन्य दलों की हालत पतली रही है वहीं दिग्विजय को जींद शहर से भी वोट मिले हैं। पूरे चुनाव अभियान और परिणाम ने यह साफ कर दिया है कि जजपा प्रत्याशी को जाटों के साथ-साथ गैर जाटों का भी समर्थन मिला है। राजनीतिक रूप से फंसे हुए जींद के उपचुनाव में दिग्विजय का नंबर दो पर आना भविष्य की राजनीति के लिए नया संकेत है।






Enter the following fields. All fields are mandatory:-
Name :  
  
Email :  
  
Comments  
  
Security Key :  
   1920501
 
     
Related Links :-
68वीं अखिल भारतीय पुलिस कुश्ती समूह प्रतियोगिता का विधिवत समापन
अब बंदरों के उत्पात से शहरवासियों को मिलेगी निजात,निगम ने किया हेल्पलाइन नंबर जारी,0180-2642500 पर करें कॉल
टेंडर ब्रांच क्लर्क संदीप शर्मा व क्लर्क कमलकांत को निगमायुक्त ने किया टर्मिनेट
1000 स्कूल होंगे बस्तामुक्त, अंग्रेजी को बढ़ावा देगी सरकार
हरियाणा का एक लाख 42 हजार करोड़ रुपए से अधिक का बजट पेश
फाइन आर्टस एसोएिसशन ने अपनी मांगों को लेकर डिप्टी सीएम से मुलाकात की
शीरा घोटाला और सुगर मिल मामलों में मुख्यमंत्री की क्लीन के विरोध में बलराज कुण्डू का समर्थन वापसी का ऐलान
दिल्ली हिंसा पर गुर्जर समाज की पंचायत, मदद का दिया भरोसा
सैलजा ने अवैध निर्माण, वन्य जीवों की मौत, पेड़ों की अवैध कटाई जैसे मुद्दे पर मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर चिंत्ता जताईं
बेरोजगारी खत्म करने के लिए बजट में उद्योगों को ज्यादा से ज्यादा सुविधा दी जाए : बजरंग गर्ग